• भारत में कोरोना के अब तक 918 मामले सामने आए, अब तक 19 लोगों की मौत हो चुकी है, 79 लोगों का सफल इलाज हुआ
  • कोरोना के सबसे ज्यादा मामले केरल और महाराष्ट्र में सामने आ रहे हैं, केरल में 167 और महाराष्ट्र में 186 लोग कोरोना प्रभावित
  • पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के 6,61,367 मामले सामने आ चुके हैं
  • कोरोना वायरस के कारण विश्व में अब तक 30,671 लोगों की मौत हो चुकी है, जबिक 1,41,464 लोग बचाए जा चुके हैं
  • कर्नाटक में कोरोना से प्रभावित लोगों की संख्या 76 पहुंच गई है. पिछले 22 घंटे में 12 नए मामले सामने आए हैं
  • उत्तर प्रदेश में अब तक कोरोना के कुल 61 मामले, शनिवार को 11 मामले सामने आए जिसमें सबसे ज्यादा 9 मामले नोएडा में दिखे
  • महाराष्ट्र में कोराना वायरस के 9 नए मामले, मुंबई में 8 और नागपुर में 1 नया मरीज, कुल मामले 167 हुए
  • कोरोना वायरस से अबतक महाराष्ट्र में 5, गुजरात में 3, कर्नाटक में 2, मध्य प्रदेश में 2 लोगों की मौत हो चुकी है
  • तमिलनाडु, बिहार, पंजाब, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, कश्मीर और हिमाचल में एक-एक मौतें हो चुकी हैं.

कोरोना के खिलाफ युद्ध में नवरात्रि पर देशवासियों से PM मोदी के 9 आग्रह

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशभर में लॉकडाउन की घोषणा कर दी है. साथ ही उन्होंने आने वाले 21 दिनों तक देशवासियों से घर में ही रहने की अपील की है. आपको नवरात्रि पर पीएम मोदी के 9 आग्रह से रूबरू करवाते हैं.

कोरोना के खिलाफ युद्ध में नवरात्रि पर देशवासियों से PM मोदी के 9 आग्रह

नई दिल्ली: कोरोना के खिलाफ जंग की खातिर मंगलवार रात 12 बजे से पूरे देश में लॉकडाउन होगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे देशवासियों से घर से बाहर ना निकलने की अपील की है. उन्होंने ये भी साफ किया है कि इस लॉकडाउन को 21 दिनों तक लागू किया जाएगा. आपको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 9 आग्रह से रूबरू करवाते हैं.

1). PM मोदी का पहला आग्रह

PM मोदी ने कहा, "पिछले 2 दिनों से देश के अनेक भागों में लॉकडाउन कर दिया गया है. राज्य सरकार के इन प्रयासों को बहुत गंभीरता से लेना चाहिए. आज रात 12 बजे से पूरे देश में, संपूर्ण Lockdown होने जा रहा है. इस लॉकडाउन की एक आर्थिक कीमत देश को उठानी पड़ेगी. लेकिन एक-एक भारतीय के जीवन को बचाना इस समय मेरी, भारत सरकार की, देश की हर राज्य सरकार की, हर स्थानीय निकाय की, सबसे बड़ी प्राथमिकता है."

2). PM मोदी का दूसरा आग्रह

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि "आने वाले 21 दिन हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं. हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो, कोरोना वायरस की संक्रमण की सायकिल तोड़ने के लिए कम से कम 21 दिन का समय बहुत अहम है. घर में रहें, घर में रहें और एक ही काम करें कि अपने घर में रहें. आपको ये याद रखना है कि कई बार कोरोना से संक्रमित व्यक्ति शुरुआत में बिल्कुल स्वस्थ लगता है, वो संक्रमित है इसका पता ही नहीं चलता. इसलिए ऐहतियात बरतिए, अपने घरों में रहिए."

3). PM मोदी का तीसरा आग्रह

उन्होंने WHO की एक रिपोर्ट का जिक्र करते हुए कहा कि "कोरोना वायरस से पहले एक लाख लोग संक्रमित होने में 67 दिन लगे और फिर इसे 2 लाख लोगों तक पहुंचने में सिर्फ 11 दिन लगे. ये और भी भयावह है कि 2 लाख संक्रमित लोगों से 3 लाख लोगों तक ये बीमारी पहुंचने में सिर्फ 4 दिन लगे."

4). PM मोदी का चौथा आग्रह

PM ने बोला कि "चीन, अमेरिका, फ्रांस,जर्मनी, स्पेन, इटली-ईरान जैसे देशों में जब कोरोना वायरस ने फैलना शुरू किया, तो हालात बेकाबू हो गए. याद रखिए इटली हो या अमेरिका, उनकी स्वास्थ्य सेवाएं दुनिया में बेहतरीन मानी जाती हैं, बावजूद इसके वहां इसे फैलने से नहीं रोका जा सका. कोरोना से निपटने के लिए उम्मीद की किरण, उन देशों से मिले अनुभव हैं जो कोरोना को कुछ हद तक नियंत्रित कर पाए. हफ्तों तक इन देशों के नागरिक घरों से बाहर नहीं निकले, इसलिए ये देश इस महामारी से बाहर निकलने की ओर बढ़ रहे हैं."

5). PM मोदी का पांचवां आग्रह

पीएम मोदी ने कहा कि "भारत आज उस स्टेज पर है जहां हमारे आज के एक्शन तय करेंगे कि इस बड़ी आपदा के प्रभाव को हम कितना कम कर सकते हैं. ये समय हमारे संकल्प को बार-बार मजबूत करने का है. ये धैर्य और अनुशासन की घड़ी है. जब तक देश में lockdown की स्थिति है, हमें अपना संकल्प निभाना है, अपना वचन निभाना है. मेरी आपसे प्रर्थना है कि घरों में रखकर आप उनके लिए मंगलकामना कीजिए जो खुद को खतरे में डालकर दूसरों को बचा रहे हैं."

6). PM मोदी का छठा आग्रह

प्रधानमंत्री ने कहा कि "कोरोना वैश्विक महामारी से बनी स्थितियों के बीच, केंद्र और देशभर की राज्य सरकारें तेजी से काम कर रही है. रोजमर्रा की जिंदगी में लोगों को असुविधा न हो, इसके लिए निरंतर कोशिश कर रही हैं. इससे कोरोना से जुड़ी टेस्टिंग फेसिलिटीज, पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्वीपमेंट्स, Isolation Beds, ICU beds, ventilators और अन्य जरूरी साधनों की संख्या तेजी से बढ़ाई जाएगी."

7). PM मोदी का सातवां आग्रह

पीएम मोदी ने कहा कि मेरी आपसे प्रार्थना है कि "इस बीमारी के लक्षणों के दौरान, बिना डॉक्टरों की सलाह के, कोई भी दवा न लें. किसी भी तरह का खिलवाड़, आपके जीवन को और खतरे में डाल सकता है. मुझे विश्वास है कि हर भारतीय संकट की इस घड़ी में सरकार के निर्देशों का पालन करेगा."

8). PM मोदी का आठवां आग्रह

उन्होंने बोला कि "21 दिन का लॉकडाउन लंबा समय है, लेकिन आपके जीवन की रक्षा के लिए, आपके परिवार की रक्षा के लिए, उतना ही महत्वपूर्ण है. मुझे विश्वास है कि हर देशवासी इस संकट का न सिर्फ सफलता से मुकाबला करेगा, बल्कि इस मुश्किल घड़ी से विजयी होकर निकलेगा."

9). PM मोदी का नौवां आग्रह

PM ने कहा कि "आप अपना ध्यान रखिए, अपनो का ध्यान रखिए. आत्मविश्वास के साथ कानून, नियमों का पालन करते हुए, पूरी तरह संयम बरतते हुए विजय का संकल्प करते हुए हम सब इन बंधनों को स्वीकार करें."

इसे भी पढ़ें: पीएम मोदी का बड़ा ऐलानः आज रात से 21 दिनों का लॉकडाउन

कोरोना के खिलाफ जंग में सब एक जुट हैं और एकजुटता ज़रूरी है. लेकिन दूर-दूर रहकर. क्योंकि लापरवाही की कोई गुंजाइश नहीं है. हिदायत बार-बार लगातार दी जा रही है. क्योंकि ये आपकी और आपके परिवार की सुरक्षा का सवाल है. 

इसे भी पढ़ें: इतिहास में पहली बारः किसी महामारी ने स्थगित करा दिया ओलंपिक खेल

इसे भी पढ़ें: कोरोना पर देश में लॉकडाउन, जानिए कौन-कौन है विलेन?