भारत और नेपाल के PM ने नेपाल में जॉइंट विकास कार्यक्रम का किया शिलान्यास

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली ने नेपाल में विकास प्रोजेक्ट लॉन्च किया. इस दौरान पीएम मोदी ने नेपाल को बधाई देते हुए कई बड़ी बातें कही.

भारत और नेपाल के PM ने नेपाल में जॉइंट विकास कार्यक्रम का किया शिलान्यास

नई दिल्ली: देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली ने नेपाल में विकास प्रोजेक्ट का जॉइंट शिलान्यास किया. इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेपाल के लोगों और पीएम ओली को इस कार्य के लिए बधाई दी. साथ ही उन्होंने नए साल की भी शुभकामना दी.

आपको इस दौरान पीएम मोदी की कुछ बड़ी बातों से रूबरू करवाते हैं.

प्रधानमंत्री मोदी की 7 खास बातें

1). इस मौके पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 'पिछले 5 महीनों में, यह दूसरी बार है जब हम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से द्विपक्षीय परियोजनाओं का उद्घाटन कर रहे हैं. यह इस बात का प्रमाण है कि उच्च गति से हमारे संबंध बेहतर हो रहे हैं. भारत ने अपनी आवश्यकताओं के अनुसार नेपाल के विकास में एक विश्वसनीय भागीदार की भूमिका लगातार निभाई है.'

2). साथ ही पीएम ने ये भी कहा कि 'भारत और नेपाल कई cross-border connectivity projects जैसे रोड, रेल और transmission lines पर काम कर रहे हैं. हमारे देशों के बीच सीमा के प्रमुख स्थानों पर Integrated Check Posts आपसी व्यापार और आवागमन को बहुत सुविधाजनक बना रही हैं.'

3). उन्होंने बोला कि 'कनेक्टिविटी न सिर्फ देश के बल्कि पूरे क्षेत्र के विकास के लिए कैटैलिस्ट का काम करती है. आस-पड़ोस में सारे मित्र देशों के साथ आवागमन को सरल और सुचारू बनाने, और हमारे बीच व्यापार, संस्कृति, शिक्षा, इत्यादि क्षेत्रों में संपर्क को और सुगम बनाने के लिए भारत प्रतिबद्ध है.'

4). प्रधानमंत्री ने बताया कि 'ICP को विकसित करने के पहले चरण में, हमने इसे बीरगंज और विकास नगर में बनाने का फैसला किया था। 2018 में बीरगंज का उद्घाटन किया गया, जबकि विकास नगर में इसका उद्घाटन एक प्रमुख क्षण है.'

5). '2015 का भूंकप एक दर्दनाक हादसा था. भूकंप जैसी प्राकृत आपदाएं मनुष्य की दृढ़ता और निश्चय की परीक्षा लेती हैं. हर भारतीय को गर्व है कि इस त्रासदी के दुःखद परिणामों का सामना हमारे नेपाली भाइयों और बहनों ने साहस के साथ किया.'

6). 'भारत-नेपाल सहयोग के अंतर्गत 50 हजार में से 45 हजार घरों का निर्माण हो चुका है. हमारी आशा है कि बाकी घरों का निर्माण भी शीघ्र पूरा होगा. इन घरों को नेपाली भाइयों और बहनों को जल्दी ही समर्पित किया जा सकेगा.'

7). 'हमारा सहयोग और विकास की पार्टनरशिप तेजी से आगे बढ़ रही है. हमने कई नए क्षेत्रों में सहयोग शुरू किया है. मेरी कामना है कि नए वर्ष आपके सहयोग और समर्थन में हम अपने संबंधों को और ऊंचाई पर ले जाएं. ये नया दशक भारत-नेपाल संबंधों का स्वर्णिम दशक बनें.'

इसे भी पढ़ें: इन 4 खास बातों से पीएम मोदी ने बनाया 'परीक्षा पे चर्चा' को और भी रोचक