close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सरदार पटेल को अपना नहीं मानती है कांग्रेस! प्रियंका ने फिर दिया सबूत

सरदार बल्लभ भाई पटेल को लेकर देश की सियासत में उबाल आ गया है. कांग्रेस पार्टी ने एक बार फिर ये साबित कर दिया है कि वह पटेल को अपना नहीं मानती है. इसका सबसे बड़ा सबूत प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने ट्वीट में पेश किया है.

सरदार पटेल को अपना नहीं मानती है कांग्रेस! प्रियंका ने फिर दिया सबूत

नई दिल्ली: पांच सौ सत्तानबे फीट ऊंची और सबसे भव्य लौह पुरुष की प्रतिमा से भी कहीं ऊंचा और विशाल सरदार वल्लभ भाई पटेल का कद है. लेकिन कांग्रेस को उनका कद रास नहीं आता है. पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट कर भारतीय जनता पार्टी पर तंज कसना शुरू कर दिया.

और शुरू हो गई सियासत

नर्मदा नदी के तट पर शान से सिर उठाए खड़े सरदार पटेल को एक भारत, श्रेष्ठ भारत का आधार माना जाता है. देश की अखंडता के लिए जो काम सरदार पटेल ने किया उससे पटेल का नाम इतिहास के पन्नों में लौह पुरुष के तौर पर दर्ज हो गया. देश की एकता के सूत्रधार सरदार पटेल की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई. जो कांग्रेस को रास नहीं आई. सरदार पटेल का सम्मान कई राजनेताओं को रास नहीं आया. उनकी जयंती के मौके पर भी राजनेता कटाक्ष करने से बाज नहीं आए. कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा ने अपने ट्वीट के जरिए बीजेपी पर तंज कसा और लिखा कि, 'सरदार पटेल कांग्रेस के निष्ठावान नेता थे. वो कांग्रेस की विचारधारा के प्रति समर्पित थे. वो जवाहरलाल नेहरू के करीबी थे और आरएसएस के सख्त खिलाफ थे. आज बीजेपी द्वारा उन्हें अपनाने की कोशिश करते हुए और उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए देखकर बहुत खुशी होती है.'

प्रियंका वाड्रा यहीं नहीं रुकीं. उन्होंने अपने ट्वीट के अगले शब्दों को और कड़ा किया. प्रियंका ने लिखा कि 'पटेल को श्रद्धांजलि देने के बीजेपी के एक्शन से स्पष्ट है कि भाजपा के पास अपना कोई स्वतंत्रता सेनानी महापुरुष नहीं है. तकरीबन सभी कांग्रेस से जुड़े हुए थे.'

कांग्रेस के तंज पर शाह का प्रहार

इन सबके बीच प्रियंका गांधी को करारा जवाब भी भाजपा की तरफ से आया. देश के गृहमंत्री अमित शाह ने दिल्ली में रन फॉर यूनिटी को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया और कांग्रेस पर तीखा हमला भी किया. उन्होंने कहा कि आजादी के बाद सरदार साहब को सही सम्मान भाजपा ने ही दिया जबकि पहले की सरकारें उन्हें लगभग भुला चुकी थीं.

सैकड़ों रियासतों का भारत गणराज्य में विलय कराने वाले सरदार पटेल भारत के मौजूदा स्वरूप के शिल्पकार थे. उनके ऐतिहासिक काम के चलते ही पटेल का कद उस दौर के किसी भी नेता से कहीं ज्यादा बड़ा नजर आता है. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी श्रद्धांजलि

पटेल की जयंती पर भारत के निर्माता सरदार पटेल की भव्य प्रतिमा का सम्मान करने और नर्मदा जिले के केवड़िया में खड़ी प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित करने खुद देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पहुंचे. पटेल की जयंती पर देशभर के पुलिस बल केवड़िया में जुटे थे. सरदार को सच्ची श्रद्धांजलि देने के लिए परेड़ का आयोजन किया गया था. देश की एकता के सूत्रधार सरदार पटेल की जयंती पर मोदी ने कहा कि कश्मीर से धारा 370 का खात्मा कर इस बार पटेल को सच्ची श्रद्धांजलि दी गई है.

लौह पुरुष के सम्मान में कांग्रेस महासचिव के ट्विटर हैंडल पर एक भी शब्द नहीं लिखा गया. लेकिन भाजपा पर तंज कसने के लिए उनके पास ढेर सारे शब्द इकट्ठा है गए. कांग्रेस पार्टी हमेशा से ही हर मसले का राजनीतिकरण कर देती है, ऐसे में इस मौक पर प्रियंका का ये तंज हैरानजनक नहीं था.