Punjab Congress: फिर मुश्किल में कैप्टन? पार्टी ने आज बुलाई विधायक दल की बैठक

Punjab Congress: पंजाब में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. लेकिन, पार्टी में अभी भी उठापटक का दौर जारी है. हरीश रावत की तमाम कोशिश के बाद कैप्टन अमरिंदर और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच सुलह नहीं हो पा रही है.  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Sep 18, 2021, 10:14 AM IST
  • रावत के ट्वीट से पंजाब कांग्रेस में मची खलबली
  • रविवार शाम पांच बजे बुलाई गई है बैठक
Punjab Congress: फिर मुश्किल में कैप्टन? पार्टी ने आज बुलाई विधायक दल की बैठक

चंडीगढ़: कांग्रेस की पंजाब इकाई (Punjab Congress) में जारी तनातनी के बीच अखिल भारतीय कांग्रेस समिति (AICC) ने शनिवार को राज्य के कांग्रेस विधायक दल की बैठक बुलाई है. एआईसीसी के महासचिव और पंजाब मामलों के प्रभारी हरीश रावत (Harish Rawat) ने शुक्रवार रात को इस बारे में घोषणा की. इसके बाद से लग रहा है कि राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की मुश्किलें एक बार फिर बढ़ सकती हैं. 

हरीश रावत ने किया ट्वीट

जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अजय माकन और हरीश चौधरी को आब्जर्वर नियुक्त किया. ये दोनों नेता आज बैठक के लिए दोपहर बाद चंडीगढ़ पहुंच रहे हैं. हरीश रावत के ट्वीट से पंजाब कांग्रेस में खलबली मच गई. रावत ने ट्वीट किया, ‘‘कांग्रेस के अनेक विधायकों ने एआईसीसी से पंजाब कांग्रेस विधायक दल की बैठक तत्काल बुलाने का अनुरोध किया. इसी क्रम में पंजाब प्रदेश कांग्रेस समिति के कार्यालय में 18 सितंबर को शाम पांच बजे विधायक दल की बैठक बुलाई गई है. पंजाब कांग्रेस के सभी विधायकों से बैठक में शामिल होने का अनुरोध किया जाता है’’

 

इस ट्वीट में उन्होंने कांग्रेस नेता राहुल गांधी, मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू को भी टैग किया. 

यह भी पढ़िएः AAP ने कहा- पंजाब की राजनीति के राखी सावंत हैं नवजोत सिंह सिद्धू

 

सिद्धू ने भी दी जानकारी
सिद्धू ने शुक्रवार रात को ट्विटर पर लिखा, ‘‘एआईसीसी के निर्देश पर कांग्रेस विधायक दल की बैठक पंजाब प्रदेश कांग्रेस समिति के कार्यालय में 18 सितंबर 2021 को शाम पांच बजे बुलाई गई है.’’दरअसल, पिछले महीने, राज्य के चार मंत्रियों और अनेक विधायकों ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ असंतोष के स्वर उठाए थे और कहा था कि उन्हें अब इस बात का भरोसा नहीं है कि अमरिंदर सिंह में अधूरे वादों को पूरा करने की क्षमता है. 

यह भी पढ़िएः Uri Terror Attack: सोते हुए जवानों पर 3 मिनट में दागे थे 17 ग्रेनेड, फिर आर्मी ने ऐसे हाई किया जोश

बता दें कि पंजाब में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. लेकिन, पार्टी में अभी भी उठापटक का दौर जारी है. हरीश रावत की तमाम कोशिश के बाद कैप्टन अमरिंदर और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच सुलह नहीं हो पा रही है. बताया जा रहा है कि आलाकमान के निर्देश पर हरीश रावत एक बार फिर विवाद सुलझाने की कोशिश कर रहे हैं. 

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़