• कोरोना वायरस पर नवीनतम जानकारी: भारत में संक्रमण के सक्रिय मामले- 6,28,747 और अबतक कुल केस- 21,53,010: स्त्रोत PIB
  • कोरोना वायरस से ठीक / अस्पताल से छुट्टी / देशांतर मामले: 14,80,884 जबकि मरने वाले मरीजों की संख्या 43,379 पहुंची: स्त्रोत PIB
  • कोविड-19 की रिकवरी दर 68.32% से बेहतर होकर 68.78% पहुंची; पिछले 24 घंटे में 53,878 मरीज ठीक हुए
  • सरकार ने 500 करोड़ का आवंटन आत्म निर्भर अभियान के तहत मधुमक्खी पालन बढ़ाने के लिए किया
  • शहद का उत्पादन 242% बढ़ा और निर्यात 265% बढ़ा
  • 115 जिलों में एमएसएमई पदचिह्न बढ़ाने के लिए पहल
  • ₹50 करोड़ तक का सेक्टर निवेश और MSME की नई परिभाषा में 250 करोड़ तक का कारोबार
  • ₹50 करोड़ तक का सेक्टर निवेश और MSME की नई परिभाषा में 250 करोड़ तक का कारोबार
  • यह डिजिटल और आउटडोर इंस्टॉलेशन से सुसज्जित है, जो स्वछता पर जानकारी और शिक्षा प्रदान करता है
  • अगले पांच वर्षों में पीएलआई योजना के तहत ₹11.5 लाख करोड़ रुपये के मोबाइल फोन और इसके पुर्जे तैयार किए जाएंगे

रेलवे ने चीनी उत्पादों पर की आंख टेढ़ी, रद्द कर दिया कैमरे का ऑर्डर

 रेलवे ने कोरोना संक्रमित मरीजों की पहचान के लिए थर्मल कैमरा खरीदने का टेंडर निकाला था. लेकिन वेंडर से मिले फीडबैक के बाद उस टेंडर को कैंसिल कर दिया

रेलवे ने चीनी उत्पादों पर की आंख टेढ़ी, रद्द कर दिया कैमरे का ऑर्डर

नई दिल्लीः चीनी कंपनियों और उत्पादों का भारत में बहिष्कार जारी है.  रेलवे ने चीन को एक और करारी चोट पहुंचाई है. एक चीनी कंपनी को दिया गया थर्मल कैमरा का ऑर्डर रद्द कर दिया गया है. इसके पहले BSNL, महाराष्ट्र सरकार, सड़क परिवहन मंत्रालय और खाद्य मंत्रालय ने भी चीनी कंपनियों के लिए अपने दरवाजे बंद कर दिए हैं. 

वेंडर के फीडबैक पर किया रद्द
जानकारी के मुताबिक, रेलवे ने कोरोना संक्रमित मरीजों की पहचान के लिए थर्मल कैमरा खरीदने का टेंडर निकाला था. लेकिन वेंडर से मिले फीडबैक के बाद उस टेंडर को कैंसिल कर दिया.

वेंडर का कहना था कि डिवाइस की खरीद को लेकर जो चीजें मांगी गई हैं, उससे चीनी कंपनियों को फायदा होगा. 

रेल टेल ने जारी किया था टेंडर

भारतीय रेल की इकाई रेल टेल ने पिछले महीने 800 आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस आधारित निगरानी कैमरे के लिए टेंडर जारी किया था. ऐसे कैमरे शरीर का तापमान मापने के साथ यह भी पता लगा सकते हैं कि व्यक्ति ने मास्क पहना है या नहीं. 

रेलटेल के प्रवक्ता ने पुष्टि की कि कंपनी ने पैनल में शामिल कारोबारी इकाइयों के लिए टेंडर निकाला था. कई भारतीय कंपनियों के पत्र के बाद टेंडर को रद्द कर दिया गया. यह उपकरण चीन की कंपनी हिकविजन से मंगाया गया था.

अब खाद्य मंत्रालय ने भी बंद कर दिए चीनी उत्पादों के लिए दरवाजे

अब चीन से आयात भी रोकेगी मोदी सरकार