बिहार में राजद के कार्यकर्ताओं ने की आगजनी, कई जगह हिंसक प्रदर्शन

नागरिकता संशोधन कानून पर देश के साथ साथ बिहार में भी कई जगह विरोध प्रदर्शन किया गया. इसकी अगुआई विपक्षी दल राजद ने की. इसमें खूब आगजनी की गयी. कई राजद कार्यकर्ताओं ने गरीब सब्जी वालों की भी दुकानें जबरदस्ती बंद कराई.  

 बिहार में राजद के कार्यकर्ताओं ने की आगजनी, कई जगह हिंसक प्रदर्शन

पटना: नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में शनिवार को भी उत्तर प्रदेश और बिहार में हिंसक प्रदर्शन हुए. राजद के बिहार बंद को महागठबंधन की अन्य पार्टियों ने भी समर्थन दिया. राजधानी पटना समेत पूरे बिहार की सड़कों पर बंद का असर दिखा. राजद कार्यकर्ताओं ने पटना और हाजीपुर में आगजनी की और पब्लिक सम्पत्ति को मुकसान पहुंचाया.

तेजस्वी यादव भी सड़कों पर उतरे

तेजस्वी यादव बंद के समर्थन में सड़क पर उतरे. राजद कार्यालय से हजारों समर्थकों के साथ निकले. उत्तर बिहार को पटना से जोड़ने वाले गांधी सेतु को भी बंद समर्थकों ने जाम कर दिया।.भागलपुर में बंद समर्थकों ने कई ऑटो के शीशे तोड़ दिए और ऑटो ड्राइवर और रिक्शा चालकों के साथ मारपीट की.वैशाली के भगवानपुर में राजद कार्यकर्ताओं ने बिहार बंद को लेकर मवेशियों के साथ हाईवे एनएच 77 को जाम कर दिया.

उपद्रवियों ने पुलिस पर किया पथराव

औरंगाबाद में बंद की आड़ में उपद्रवियों ने पुलिस पर पथराव किया, जिसके चलते करीब एक घंटे तक अफरा-तफरी मची रही. पत्थरबाजी में एक एएसआई घायल हो गए. पुलिस ने 6 उपद्रवियों को हिरासत में लिया है. 

बंद समर्थक और इसके विरोधियों के बीच झड़प

पटना के फुलवारी शरीफ में बंद समर्थक और विरोधियों के बीच झड़प हुई. प्रदर्शनकारियों की फायरिंग और चाकूबाजी में 8 लोग घायल हो गए। पुलिसकर्मियों ने बल प्रयोग कर खदेड़ा तो भीड़ ने पथराव शुरू कर दिया. पुलिस ने उन्हें काबू करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे. पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच करीब एक घंटे तक टकराव चलता रहा.

क्लिक करें- नागरिकता कानून पर दंगाई बेलगाम, कई जगह किया हिंसक प्रदर्शन