रोहिंग्या भारत आ सकते हैं, तो हम बेलगाम क्यों नहीं जा सकते: संजय राउत

शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि जब इतनी दूर से रोहिंग्या मुसलमान भारत आ सकते हैं तो हम बेलगाम क्यों नहीं जा सकते.

रोहिंग्या भारत आ सकते हैं, तो हम बेलगाम क्यों नहीं जा सकते: संजय राउत

मुंबई: शिवसेना नेता संजय राउत ने बेलगाम जाने से कथित तौर पर रोक लगाने के लिए भाजपा के नेतृत्व वाली कर्नाटक सरकार की आलोचना की. उन्होंने कहा कि जब इतनी दूर से रोहिंग्या मुसलमान और पाकिस्तानी भारत आ सकते हैं तो हम बेलगाम क्यों नहीं जा सकते. 

महाराष्ट्र के मंत्री को बेलगाम में बोलने से रोका गया

संजय राउत ने कर्नाटक की भाजपा सरकार पर आरोप लगाया कि शुक्रवार को महाराष्ट्र के मंत्री राजेंद्र पाटिल येदरावकर को कर्नाटक के बेलगावी जिले में एक कार्यक्रम में बोलने से रोक दिया गया था. राउत ने कहा कि बेलगाम में एक सांस्कृतिक और साहित्यिक आयोजन होना है. मैं लोगों से बात करने के लिए वहां जाऊंगा. यदि कोई प्रतिबंध लगाया गया है, तो मुझ पर उसका कोई असर नहीं पड़ेगा.

शिवसेना के बयान बहादुर माने जाते हैं राउत

संजय राउत को शिवसेना का बयान बहादुर माना जाता है. उन्होंने कई बार ऐसे बयान दिये जिससे खुद शिवसेना मुश्किल में पड़ गयी. लोगों का माना है कि भाजपा और शिवसेना के बीच मतभेद और दूरियां बढ़ाने में संजय राउत की भूमिका रही.

सावरकर पर कोई समझौता नहीं: राउत

सामना के मूल मराठी संस्करण के सम्पादक संजय राउत पार्टी के भीतर रह कर भी पार्टी के साथ नहीं नज़र आ रहे. सावरकर को लेकर शिवसेना पहले भी कभी समझौता नहीं करती थी और आज संजय राउत भी वही कह रहे हैं. संजय राउत के हालिया बयान ने महाराष्ट्र के सियासी गलियारों में सनसनी पैदा कर दी है.

संजय राउत के बयानों से पल्ला झाड़ लेती है शिवसेना

संजय राउत के इन बागी तेवरों पर लगाम लगा पाने में नाकाम शिवसेना के बड़े नेता सरकार बचाने की कोशिशों में लग गए हैं और इसके लिए सीएम उद्धव के मंत्री बेटे आदित्य ठाकरे ने कहा कि शिवसेना का संजय राउत के इस निजी विचार से कोई लेनादेना नहीं है.  उद्धव ठाकरे के लिए संजय राउत नित नई समस्या पैदा कर रहे हैं और अब इस बयान के बाद भी वे चुप बैठ जाएंगे, ये भी होने से रहा. सावरकर पर समझौता न करने के सिद्धांत पर अड़े संजय राउत को अब खुद उद्धव ठाकरे भी पार्टी से बाहर नहीं कर सकते क्योंकि बात सावरकर की है, संजय राउत की नहीं.

ये भी पढ़ें- संजय राउत का बड़ा बयान - सावरकर के विरोधियों के लिए जेल की मांग