• पूरी दुनिया में कोरोना से 1201964 लोग प्रभावित, अब तक 64727 लोगों की मौत हुई,246638 लोग रोगमुक्त हुए
  • भारत में कोरोना मरीजों की कुल संख्या 3530, इसमें से 89 लोगों की मौत हुई, 213 इलाज के बाद ठीक हुए
  • महाराष्ट्र में कोरोना के सबसे ज्यादा 490 मरीज, 24 लोगों की मौत हुई, 42 लोग ठीक हुए
  • तमिलनाडु में कोरोना से 411 लोग प्रभावित, 2 की मौत, 6 लोग ठीक हुए
  • केरल में अब तक 295 लोगों को हुआ कोरोना, 2 की मौत हो चुकी है, 41 इलाज के बाद ठीक हुए
  • दिल्ली में कोरोना के 445 मरीज, 6 की मौत, 15 लोग ठीक हुए, मध्य प्रदेश में कोरोना से 155 लोग संक्रमित, 9 लोगों की मौत
  • यूपी में कोरोना के 174 मरीज, 19 लोग ठीक हुए, 2 लोगों की मौत
  • राजस्थान में कोरोना के 200 मरीज, 21 लोग इलाज के बाद ठीक हुए, अभी तक एक भी मौत नहीं
  • तेलंगाना में कोरोना के 158 मरीज, 7 लोगों की मौत, मात्र 1 ही इलाज के बाद ठीक हुआ
  • कर्नाटक में कोरोना के 128 मरीज और आंध्र प्रदेश में 161 लोगों में कोरोना वायरस का असर

वारिस पठान के विवादित बयान पर संजय निरुपम भड़के

AIMIM नेता वारिस पठान ने ओवैसी के मंच से विवादित बयान दिया है. वारिस ने चुनौती देते हुए कहा है कि अभी मुसलमान 15 करोड़ हैं, लेकिन ये 15 करोड़, 100 करोड़ पर भारी हैं.  

वारिस पठान के विवादित बयान पर संजय निरुपम भड़के

मुंबई: ओवैसी की पार्टी के एक और नेता ने ये साबित कर दिया कि ओवैसी की पार्टी AIMIM सिर्फ मजहबी जंग कराकर ही अपनी दुकान चल रही है. वारिस पठान ने चुनौती देते हुए कहा है कि अभी मुसलमान 15 करोड़ हैं, लेकिन ये 15 करोड़, 100 करोड़ पर भारी हैं. इस बयान पर कांग्रेस नेता संजय निरूपम भड़क गये और वारिस पठान की जमकर आलोचना कर दी. उन्होंने कहा कि ऐसे लोग नागरिकता कानून के खिलाफ चल रहे आंदोलन को कमजोर कर रहे हैं.

ये बयान दिया गया या दिलवाया गया: संजय निरूपम

वारिस पठान के विवादित बयान पर कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने टिप्पणी की है. उन्होंने कहा कि  '15 करोड़ बनाम 100 करोड़'  वाला बयान CAA विरोधी आंदोलन को कमजोर कर सकता है. शोध का विषय ये है कि बयान दिया गया या दिलवाया गया? उन्होंने कहा कि CAA विरोधी आंदोलन हिंदू-मुस्लिम विवाद बन जाए, ये प्रयास दोनों तरफ से हो रहा है. ये देश के लिए घातक है. 

गुलबर्गा में ओवैसी के वारिस ने दिया था विवादित बयान

आपको बता दें कि बता दें कि AIMIM नेता वारिस पठान ने कर्नाटक के गुलबर्गा में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था कि हम 15 करोड़ हैं और 100 करोड़ लोगों पर भारी हैं. पूर्व विधायक वारिस पठान ने जहर उलगते हुए कहा था, 'हमने ईंट का जवाब पत्थर से देना सीख लिया है. मगर हमको इकट्ठा होकर चलना पड़ेगा. आजादी लेनी पड़ेगी और जो चीज मांगने से नहीं मिलती है, उसको छीन लिया जाता है.'

क्लिक करें- ओवैसी के 'वारिस' का दंगा भड़काने वाला बयान, '15 करोड़ मुसलमान 100 करोड़ पर भारी'

ये पहला मौका नहीं है जब AIMIM की तरफ से किसी नेता ने ऐसी जहरीली भाषा का इस्तेमाल करते हुए भड़काऊ भाषण दिया हो. वारिस पठान से पहले असदुद्दीन ओवैसी के छोटे भाई अकबरूद्दीन ओवैसी भी 15 मिनट में देश को सबक सिखाने की चेतावनी दे चुके हैं.

NRC और CAA के खिलाफ AIMIM शुरू से विरोध जताती रही है. लेकिन शाहीन बाग में जारी महिलाओं के धरने का हवाला देते हुए. जिस तरह की राजनीति ओवैसी के नेता कर रहे हैं ये समझ से परे है. 

ये भी पढ़ें- राम मंदिर निर्माण से पहले 'मजहबी पॉलिटिक्स' के ठेकेदारों को लगने लगी 'मिर्ची'