कांग्रेस-आप पर जमकर बरसे शाह, कहा-जनता इनका हिसाब करे

दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मियां तेज हो चली हैं. पूर्वी दिल्ली में केंद्रीय गृहमंत्री एक कार्यक्रम में पहुंचे और यहां जमकर कांग्रेस और आप सरकार का घेराव किया. शाह ने जहां केजरीवाल सरकार को दूसरे के काम पर ठप्पा लगाने वाला कहा, वहीं कांग्रेस को टुकड़े-टुकड़े गैंग का साथ देने वाला बताया.जनता से अपील की कि वह ऐसे लोगों को सजा दें.

कांग्रेस-आप पर जमकर बरसे शाह, कहा-जनता इनका हिसाब करे

नई दिल्लीः दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले सभी पार्टियों ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है. गुरुवार ईस्ट दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में गृहमंत्री अमित शाह केजरीवाल सरकार और कांग्रेस पर जमकर बरसे. शाह ने विपक्षी दलों पर भड़काने और नकारात्मक राजनीति करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि दिल्ली की जनता के विकास के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में योजनाबद्ध तरीके से काम हो रहा है. चुनावी मौसम में कांग्रेस को घेरने के लिए शाह ने सिख दंगों का मुद्दा उठाया तो मौजूदा दिल्ली सरकार पर उपद्रवियों का साथ देने का भी आरोप लगाया.

कांग्रेस सरकार पर शाह का हमला, सिख दंगों की दिलाई याद
केंद्रीय गृहमंत्री ने कांग्रेस सरकार पर जोरदार हमला बोलते हुए सिख दंगों के दोषियों का मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा, 'सिख दंगों के बाद इतने वर्षों तक कांग्रेस की सरकार में पीड़ितों को कभी न्याय नहीं मिला. मोदी सरकार ने आते ही तुरंत एसआईटी बनाई, आज दंगे करने वाले जेल के अंदर हैं. पूरा देश इस निर्मम हत्याकांड को नहीं भूल सकता, हजारों सिख भाइयों का कत्ल कर दिया गया.

कांग्रेस की सरकार इस बात के लिए मशहूर थी कि 5 साल एक सरकार कोई योजना बनाती थी, दूसरे 5 साल में दूसरी सरकार उसके लिए बजट मंजूर करती थी, तीसरे 5 साल में उसका भूमि पूजन करती थी और अगले 5 साल में कांग्रेस सरकार उसे भूल जाती थी. काम तो होता ही नहीं था.

केजरीवाल दूसरों के काम पर लगा रहे अपना मुहर
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा, 'दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल नई-नई चीजें करते रहते हैं. उन्होंने एक नई शुरुआत की है, सोचना भी क्यों? बजट भी क्यों देना? भूमि पूजन भी क्यों करना? उद्घाटन भी क्यों करना? किसी का करा कराया है बस उसपर अपने नाम का ठप्पा लगा देना. मैं आज आपको सबसे बड़ा रोड़ा क्या है बताना चाहता हूं. मोदी जी, हरदीप जी तेज गति से काम करना चाहते हैं, मगर ये केजरीवाल सरकार जो है जो एक बहुत बड़ा रोड़ा है. केजरीवाल सरकार हर विकास के काम में अड़ंगा लगाती है.

अरुंधति रॉय अपना नाम क्या रखना चाहेंगी रंगा या बिल्ला?

टुकड़े-टुकड़े गैंग का साथ देनेवालों को जनता सजा दे
गृहमंत्री अपने चिर-परिचित अंदाज में कांग्रेस पर तीखे हमले करते नजर आए. उन्होंने कहा, नागरिकता संशोधन कानून पर विपक्ष ने दिल्ली की जनता को गुमराह कर, दिल्ली की शांति को भंग किया है. कांग्रेस के नेतृत्व में टुकड़े- टुकड़े गैंग, जो दिल्ली की अशांति के लिए जिम्मेदार है. दिल्ली की जनता को उन लोगों को दंड देना चाहिए. कांग्रेस का घिसा-पिटा अंदाज मोदी जी ने गुजरात से बदलना शुरु किया. एक ऐसी कार्य संस्कृति देश के सामने रखी कि जो सरकार किसी काम का भूमि पूजन करेगी, वही सरकार उसका उद्घाटन भी करेगी और 5 साल के अंदर ही जनता को उस काम का वास्तविक स्वरूप देखने को मिलेगा.

सिर्फ झांसा दे रही है केजरीवाल सरकार
कच्ची बस्तियों को पक्का करने को लेकर दिल्ली में जमकर सियासी बवाल हो रहा है. अमित शाह ने केजरीवाल सरकार पर हमला बोलते हुए कहा, 'दिल्ली की 1731 अनधिकृत कॉलोनियों और इनके अंदर रहने वाले 40 लाख लोग, जिनकी तीन -चार पीढ़ियों से किसी सरकार ने चिंता नहीं की थी. मोदी सरकार ने तय किया कि सबको अधिकृत करके मालिकाना हक 500 रुपये और 2 हजार रुपये में दे दिया जाए. करीब 60 महीने होने को आए हैं केजरीवाल को मुख्यमंत्री बने,

आज से पहले ये सारे वादे पूरे क्यों नहीं किए. अभी भी ये वादे पूरे नहीं होने वाले हैं, सिर्फ विज्ञापन देकर लोगों को झांसा दे रहे हैं. इन्होंने जीवन में सिर्फ विरोध करने और धरना देने का काम किया है.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा आगे भी हम इसी तरह चुनौतियों को चुनौती देते रहेंगे