• कोरोना वायरस पर नवीनतम जानकारी: भारत में संक्रमण के सक्रिय मामले- 2,92,258 और अबतक कुल केस- 8,49,553: स्त्रोत PIB
  • कोरोना वायरस से ठीक / अस्पताल से छुट्टी / देशांतर मामले: 5,34,621 जबकि मरने वाले मरीजों की संख्या 22,674 पहुंची: स्त्रोत PIB
  • कोविड-19 की रिकवरी दर 62.78% से बेहतर होकर 62.92% पहुंची; पिछले 24 घंटे में 19,235 मरीज ठीक हुए
  • कोविड-19 से स्वस्थ होने की दर लगभग 63% हुई। ठीक हुए मामलों की संख्या, सक्रिय मामलों की संख्या से 2.31 लाख अधिक हुई
  • कर्नाटक ने बेंगलुरु में आरटी पीसीआर टेस्ट के साथ-साथ कोविड-19 एंटीजन टेस्ट भी शुरू किया
  • एमएचआरडी: हर वर्ष शिक्षकों को राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान किया जाता है. पंजीकरण कराकर #NAT2020 में भाग लें
  • 11 अप्रैल 2020 से 9 जुलाई 2020 तक विभिन्न राज्यों के 2.83 लाख हेक्टेयर से अधिक क्षेत्र में टिड्डी नियंत्रण अभियान चलाया गया
  • सावधानी और सतर्कता से कोरोना से बचाव मुमकिन है. आइए खुद की और दूसरों की रक्षा के लिए शिष्टाचार के नए तौर-तरीके अपनाएं
  • कोविड-19 से संबंधित मदद, सलाह और उपायों के लिए 24x7 टोल-फ्री राष्ट्रीय हेल्पलाइन नंबर 1075 पर कॉल करें
  • कोविड मरीजों के साथ दुर्व्यवहार न करें, एक सुरक्षित शारीरिक दूरी बनाए रखें

शाहीन बाग का तंबू उखाड़ा, तो प्रदर्शनकारियों ने भीड़ इकट्ठा कर शुरू कर दिया बवाल

101 दिन बाद दिल्ली का शाहीन बाग कोरोना के संक्रमण को देखते हुए खाली कराया गया. पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 9 लोगों को हिरासत में लिया गया. लेकिन, शाहीनबाग के धरने वाली जगह खाली कराने के बाद लोगों ने इकट्ठा होकर टेंट हटाने का विरोध किया. एक बार फिर प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतर आए. कोरोना के खतरे के बीच भी सड़कों पर भीड़ उतरी.

शाहीन बाग का तंबू उखाड़ा, तो प्रदर्शनकारियों ने भीड़ इकट्ठा कर शुरू कर दिया बवाल

नई दिल्ली: कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए दिल्ली के शाहीन बाग से प्रदर्शनकारियों के टेंट हटा दिए गए हैं. पुलिस की ओर से टेंट हटाए जाने के बाद. कई प्रदर्शनकारी फिर से प्रदर्शन के लिए निकल आए. पिछले 100 दिनों से ज्यादा समय से चल रहा, शाहीन बाग का धरना थम गया था. लेकिन प्रदर्शनकारियों ने टेंट हटाने का विरोध किया और एक बार फिर सड़कों पर भारी भीड़ जमा हो गई. जिससे तनाव के हालात बनते दिखाई दे रहे हैं.

शाहीन बाग में प्रदर्शन स्थल खाली 

1. फिर भारी भीड़ लेकर सड़कों पर उतरे शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी
2. पुलिस ने 101 दिन से जारी प्रदर्शन को रूकवाया
3. प्रदर्शनकारियों को हटाया, सड़क पर लगे टेंट भी हटाये गये
4. कोरोना वायरस के खतरे के बावजूद धरने पर थे
5. 6 महिलाओं और 3 पुरुष समेत 9 लोग हिरासत में
6. आवश्यक वस्तुओं, इमरजेंसी वाहनों के आवागमन में दिक्कत हो रही थी
7. शाहीन बाग में अर्धसैनिक बलों की 12 कंपनियां तैनात की गईं
8. दिल्ली पुलिस के करीब 1 हजार जवान तैनात
9. प्रदर्शन खत्म करने की अपील को अनसुना किया गया
10. प्रदर्शन में नागरिकता कानून के खिलाफ विरोध किया गया

आपको बता दें, कोरोना की वजह से दिल्ली में कर्फ्यू लगा है. प्रदर्शनकारियों को हटाने को लेकर शाहीन बाग में लोगों ने बवाल करना शुरू कर दिया है. लोग बारी-बारी से सड़कों पर निकलकर पुलिस की इस कार्रवाई का विरोध कर रहे हैं. दिल्ली के शाहीन बाग में पिछले 101 दिन से चल रहे CAA और NRC के खिलाफ धरना प्रदर्शन को हटा दिया गया है. आज सुबह-सुबह शाहीन बाग में भारी पुलिस बल की तैनाती के बीच प्रदर्शनकारियों के टेंट उखाड़े गए. इसके साथ ही नोएडा-कालिंदी कुंज सड़क को भी खाली करा लिया गया. दिल्ली पुलिस ने कोरोना वायरस और धारा-144 की वजह से एक घंटे में शाहीन बाग में कार्रवाई की. 

6 महिलाओं को 3 पुरुषों को हिरासत में लिया

इस दौरान पुलिस ने 6 महिलाओं और 3 पुरुषों को हिरासत में लिया गया. पुलिस ने कोरोना वायरस की वजह से लोगों से धरना खत्म करने की अपील की गई, लेकिन प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की मांग को ठुकरा दी. ऐसे में दिल्ली पुलिस ने एक्शन करते हुए शाहीन बाग से प्रदर्शनकारियों को हटा दिया है और टेंट हटवा दिए. पुलिस की कार्रवाई से लोग नाराज हो गए और लोग घर से बाहर निकल गए. दरअसल, प्रदर्शनकारी शांतिपूर्ण तरीके से धरना देना चाहते थे.

प्रदर्शन स्थल पर लगाए गए टेंट हटाए गए

आज दिल्ली पुलिस ने शाहीन बाग में धरना प्रदर्शन स्थल पर लगे टेंट को हटा दिया. वैसे तो शाहीन बाग में धरना स्थल पर कुछ ही लोग धरना दे रहे थे लेकिन दिल्ली में कोरोना के चलते कर्फ्यू और धारा 144 लगने की वजह से एक जगह लोगों को इकट्ठा नहीं होने दिया जा रहा है इसलिए शाहीन बाग में धरना स्थल को खाली करा दिया गया. लेकिन प्रदर्शनकारियों की करतूत से तनाव का माहौल पैदा होता दिखाई दे रहा है.

इसे भी पढ़ें: नियम तोड़ने वालों को सबक सिखा रही है योगी की UP पुलिस, अब 17वें जिले में लॉकडाउन

इसे भी पढ़ें: कोरोना से जुड़ी 10 बड़ी ब्रेकिंग, जानिए किन-किन 5 राज्यों में लगा कर्फ्यू