शशि थरूर ने कांग्रेस आलाकमान पर साधा निशाना, कहा- नेतृत्व बदलना जरूरी

तिरुवनंतपुरम से तीन बार के लोकसभा सदस्य शशि थरूर ने कहा कि, सोनिया गांधी के खिलाफ किसी ने एक शब्द भी नहीं कहा, लेकिन वह खुद कह रही हैं कि वह पद छोड़ना चाहती हैं. इसलिए एक नए नेतृत्व को जल्दी से पद संभाल लेना चाहिए. थरूर ने मीडिया से कहा, अगर राहुल गांधी पदभार संभालना चाहते हैं, तो यह जल्दी से होना चाहिए.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Sep 18, 2021, 04:03 PM IST
  • सांसद शशि थरूर 23 कांग्रेस नेताओं के समूह का हिस्सा थे
  • पत्र लिखकर पार्टी में व्यापक बदलाव के लिए की थी बात
शशि थरूर ने कांग्रेस आलाकमान पर साधा निशाना, कहा- नेतृत्व बदलना जरूरी

तिरुवनंतपुरम: पंजाब में चल रहे सियासी संकट के बीच एक बड़ी और चौंकाने वाली खबर आई है. एक बार फिर कांग्रेस आलाकमान पर उंगली उठने लगी है. एक बार फिर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर ने कांग्रेस पार्टी के आलाकमान पर निशाना साधा है. थरूर ने शनिवार को कहा कि कांग्रेस पार्टी का नेतृत्व नया होना चाहिए.

जल्द बदले नेतृत्व
तिरुवनंतपुरम से तीन बार के लोकसभा सदस्य शशि थरूर ने कहा कि, सोनिया गांधी के खिलाफ किसी ने एक शब्द भी नहीं कहा, लेकिन वह खुद कह रही हैं कि वह पद छोड़ना चाहती हैं. इसलिए एक नए नेतृत्व को जल्दी से पद संभाल लेना चाहिए. थरूर ने मीडिया से कहा, अगर राहुल गांधी पदभार संभालना चाहते हैं, तो यह जल्दी से होना चाहिए.

23 कांग्रेस नेताओं के समूह में थे थरूर 
उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस को वापस आना है तो चीजें जल्दी ठीक हो जानी चाहिए और चुनाव का सामना करने के लिए तैयार हो जाना चाहिए और उसके लिए यह अभी होना चाहिए. संयोग से अब तक कांग्रेस पार्टी के विभिन्न संगठन राहुल गांधी को नए अध्यक्ष के रूप में पदभार संभालने की मांग कर रहे हैं. थरूर 23 कांग्रेस नेताओं के समूह का हिस्सा थे, जिन्होंने पिछले साल सोनिया को पत्र लिखकर पार्टी में व्यापक बदलाव के लिए कहा था.

पंजाब में राजनीतिक संकट
कांग्रेस सांसद शशि थरूर का ये बयान तब सामने आया है, जब कांग्रेस पंजाब के राजनीतिक संकट से जूझ रही है. शनिवार को ही पंजाब से खबर आई कि कैप्टन अमरिंदर की कुर्सी खतरे में है. सूत्रों के अनुसार खबरें ऐसी चल रही हैं कि कैप्टन को इस्तीफा देने के निर्देश दिए गए हैं. 

अपमानित महसूस कर रहे कैप्टन'
मुख्यमंत्री के एक करीबी विश्वासपात्र ने मीडिया से कहा, 'अमरिंदर सिंह ने सुबह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से बात की और उनसे कहा कि उन्हें अपमानित किया जा रहा है और वह पार्टी से इस्तीफा दे देंगे.' पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेताओं के मुताबिक, आलाकमान ने अमरिंदर सिंह को साफ तौर पर पद छोड़ने को कहा है.

होनी है विधायक दल की बैठक
मिनट दर मिनट बदलते राजनीतिक घटनाक्रम की शुरुआत शुक्रवार की रात करीब 11 बजकर 42 मिनट पर हुई, जब पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत ने शनिवार को तत्काल सीएलपी की बैठक करने के फैसले के बारे में ट्वीट किया. करीब 10 मिनट बाद प्रदेश पार्टी अध्यक्ष नवजोत सिद्धू ने सभी विधायकों को सीएलपी की बैठक में उपस्थित रहने का निर्देश दिया.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़