रेलवे को नुकसान पहुंचाने वालों को गोली मार दोः सुरेश अंगड़ी

अंगड़ी ने कहा, रेलवे और विकास के लिए हमारे 13 लाख कर्मचारी काम कर रहे हैं. मैं संबंधित जिला प्रशासन और रेलवे अधिकारियों को कहना चाहता हूं कि अगर कोई रेलवे की संपत्ति को नुकसान पहुंचाता है तो तो उसे देखते ही गोली मार दी जाए.

रेलवे को नुकसान पहुंचाने वालों को गोली मार दोः सुरेश अंगड़ी

नई दिल्लीः केंद्रीय रेलवे राज्य मंत्री सुरेश अंगड़ी ने कहा कि सार्वजनिक संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने वालों को देखते ही गोली मार दो. नागरिकता कानून के विरोध में असम, अरुणाचल प्रदेश, पश्चिम बंगाल, बिहार समेत दिल्ली में सार्वजनिक संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया गया है. कई जगहों पर पत्थरबाजी की घटना हुई जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई की.नागरिकता कानून के खिलाफ देशभर में चल रहे प्रदर्शनों में कई जगहों पर हिंसा भी देखने को मिल रही है और सार्वजनिक संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया जा रहा है. बंगाल में ट्रेन को आग लगा दी गई तो असम में भी कई स्टेशनों पर तोड़-फोड़ की गई. 

परवेज मुशर्रफ को मिली फांसी की सजा, फिर दोहराया जाएगा पाकिस्तान का इतिहास

विपक्ष पर बढ़ावा देने का आरोप
अंगड़ी ने कहा, रेलवे और विकास के लिए हमारे 13 लाख कर्मचारी काम कर रहे हैं. विपक्ष के समर्थन से कुछ असामाजिक तत्व देश में समस्या पैदा कर रहे हैं. नागरिकता कानून किसी भी नागरिक को नुकसान नहीं पहुंचाएगा. हम अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश के अल्पसंख्यकों को यहां रहने का अधिकार दे रहे हैं. यहां के कुछ समुदाय बिनामतलब देश की अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचा रहे हैं और इसमें कांग्रेस जैसी विपक्षी पार्टियों का समर्थन है.

मैं संबंधित जिला प्रशासन और रेलवे अधिकारियों को कहना चाहता हूं कि अगर कोई रेलवे की संपत्ति को नुकसान पहुंचाता है तो तो उसे देखते ही गोली मार दी जाए.

 

करदाता का पैसा हो रहा बर्बाद
उन्होंने कहा, यह करदाताओं का पैसा है और लोग देश के लिए पसीना बहाते हैं. अगर कोई इस तरह से पत्थरबाजी करता है तो सरकार को उसके खिलाफ कड़े कदम उठाने चाहिए. नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ असम में जारी हिंसा के बीच कई जिलों में कर्फ्यू लगाया गया और इंटरनेट सेवाएं भी बंद की गईं. शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए वहां सेना भी तैनात की गई है. असम में 22 दिसंबर तक के लिए स्कूलों को बंद कर दिया गया है.

जारी है विरोध
पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों में संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ लगातार पांचवें दिन मंगलवार को भी प्रदर्शन जारी रहा. उत्तर 24 परगना के बसीरहाट में प्रदर्शनकारियों ने संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ नारेबाजी की. पुलिस ने राज्यभर में सुरक्षा कड़ी कर दी है और हिंसा के लिए अभी तक करीब 354 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया गया है. अधिकारियों ने बताया कि उत्तर बंगाल जाने वाली कई ट्रेनों को या तो रद्द कर दिया गया है या उनके समय में परिवर्तन किया गया है.

जामिया हिंसा पर पुलिस का बयान कहा हमने नहीं चलाई गोली, कई जवान भी हुए हैं घायल