खेल दिवसः पहली बार राष्ट्रपति भवन में आयोजन नहीं, मिलेगी बढ़ी पुरस्कार राशि

अब खेल रत्न की पुर​स्कार राशि 25 लाख, अर्जुन अवार्ड की 15 लाख, द्रोणाचार्य(लाइफटाइम) की 15 लाख, द्रोणाचार्य(रेगुलर) की पुरस्कार राशि 10 लाख और ध्यानचंद की 10 लाख है. देश में हर साल 29 अगस्त को राष्ट्रीय खेल दिवस मनाया जाता है. 

खेल दिवसः पहली बार राष्ट्रपति भवन में आयोजन नहीं, मिलेगी बढ़ी पुरस्कार राशि

नई दिल्लीः मेजर ध्यानचंद की जयंती के मौके पर शनिवार को देश में खेल दिवस मनाया जा रहा है. विभिन्न खेलों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को राष्ट्रपति भवन में एक पारंपरिक समारोह के दौरान सम्मानित किया जाता है. इस मौके पर केंद्रीय खेल मंत्री ने खिलाड़ियों को बड़ी सौगात दी है. 

केंद्रीय खेल मंत्री ने किया ऐलान
जानकारी के मुताबिक,  केंद्रीय खेल मंत्री ने आज बड़ा ऐलान किया है. केंद्रीय खेल मंत्री किरण रि​जिजू ने कहा कि हमने फैसला लिया है कि खेल पुरस्कार और एडवेंचर की पुरस्कार राशि को बढ़ाया जाए.

हमने खेल की पुरस्कार राशि को बढ़ा दिया है और एडवेंचर की पुरस्कार राशि को एक-दो दिन में बढ़ाया जाएगा. 

सभी पुरस्कारों की राशि बढ़ाई
अब खेल रत्न की पुर​स्कार राशि 25 लाख, अर्जुन अवार्ड की 15 लाख, द्रोणाचार्य(लाइफटाइम) की 15 लाख, द्रोणाचार्य(रेगुलर) की पुरस्कार राशि 10 लाख और ध्यानचंद पुरस्कार की राशि 10 लाख है. देश में हर साल 29 अगस्त को राष्ट्रीय खेल दिवस मनाया जाता है. यह दिन खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद की जयंती के अवसर पर मनाया जाता है. 

पहली बार राष्ट्रपति भवन में आयोजन नहीं
कोरोना की वजह से पहली बार यह आयोजन राष्ट्रपति भवन में न होकर ऑनलाइन आयोजित होगा. हालांकि ये पुरस्कार पारंपरिक तौर पर राष्ट्रपति द्वारा दिए जाते हैं. इस साल अलग-अलग कैटेगरी में कुल 74 लोगों को ये पुरस्कार दिए जाने थे. जिसमें से 64 कार्यक्रम में मौजूद रहेंगे. कोरोना संक्रमण के कारण कुछ खिलाड़ी ऑनलाइन शामिल नहीं हो सकेंगे. 

 

खिलाड़ी अपने शहर के साई सेंटर से जुड़ेंगे
आयोजित कार्यक्रम में भी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़ेंगे. पुरस्कार पाने वाले खिलाड़ी अपने अपने शहर के स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया के सेंटर से जुड़ेंगे. इसके अलावा खेल मंत्री किरण रिजिजू और कुछ अन्य अतिथि विज्ञान भवन से इस कार्यक्रम में जुड़ेंगे.

नया स्मार्ट कार्ड खुश कर देगा मेट्रो के मुसाफिरों को

विमान कंपनियां फ्लाइट में परोस सकती हैं खाना, लेकिन पूरी सुरक्षा के साथ