close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

यूपी के बलरामपुर में मूर्ति विसर्जन जुलूस पर पथराव, इलाके में सांप्रदायिक तनाव

उत्तर प्रदेश के बलरामपुर में दुर्गा पूजा के दौरान मूर्ति विसर्जन के लिए निकाले गए जुलूस पर मजहबी कट्टरपंथियों ने पथराव कर दिया. जिसके बाद पूरे इलाके में हंगामा मच गया. हालांकि पुलिस आरोपियों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई में जुटी हुई है. लेकिन अब तक पूरे क्षेत्र में सांप्रदायिक तनाव पसरा हुआ है. 

यूपी के बलरामपुर में मूर्ति विसर्जन जुलूस पर पथराव, इलाके में सांप्रदायिक तनाव
पथराव करने वाले लोगों पर कार्रवाई

बलरामपुर: उत्तर प्रदेश के बलरामपुर में मां दुर्गा की प्रतिमा विसर्जन के लिए जुलूस निकाला गया था. जिसमें डीजे पर गाने बजाए जा रहे थे. लेकिन इस पर कुछ लोगों को आपत्ति थी. इस बीच अचानक असामाजिक तत्वों ने जुलूस पर पथराव शुरु कर दिया. जिसके बाद झड़प शुरु हो गई. मजहबी कट्टपंथी घरों की छतों पर चढ़कर पत्थरबाजी करने लगे. 

यह घटना मंगलवार को पचपेड़वा थाना क्षेत्र के हरखड़ी गांव में हुई. इस मामले में दुर्गा पूजा जुलूस में शामिल 16 लोग जख्मी हो गए हैं. घायलों में सूरज पांडेय, गोलू गुप्ता, राजेन्द्र, बैजू यादव, अखिलेश्वर पांडेय, रिंकू, ओंकार, सुशीला तथा चौकीदार राम नारायण नाम के लोगों को ज्यादा चोटें आई हैं. 

जुलूस में शामिल लोगों की शिकायत पर दूसरे पक्ष के लगभग 50 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है. यह मामला इतना तूल पकड़ चुका है कि इस घटना का वीडियो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चर्चा में आ गया है. कनाडा के पाकिस्तानी मूल के लेखक तारिक फतेह ने इस घटना का वीडियो शेयर किया है. 

वीडियो में आप साफ तौर पर देख सकते हैं कि किस तरह से मजहबी कट्टरपंथी जुलूस में शामिल गाड़ियों पर घातक पत्थरबाजी कर रहे हैं.  इस इलाके में अभी भी सांप्रदायिक तनाव फैला हुआ है. घटना का एक कारण यह भी बताया जा रहा है कि मूर्ति विसर्जन जुलूस के दौरान अबीर गुलाल उड़ाया जा रहा था. जो कि दूसरे संप्रदाय विशेष के व्यक्तियों पर जाकर गिरा. इस मामूली सी बात पर मजहबी कट्टरपंथियों ने बवाल कर दिया और छतों पर चढ़कर जुलूस में शामिल लोगों पर पत्थर बरसाने लगे. यही नहीं जुलूस में शामिल वाहनों को भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया गया है. 

इस घटना में घायल लोगों को इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है. घटना के बाद पुलिस ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के एडीएम व एएसपी की मौजूदगी में मां दुर्गा की प्रतिमाओं का विसर्जन कराया. इस मामले के जिम्मेदार आठ आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है. 

पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा ने बताया कि, समय रहते हालात पर काबू पा लिया गया था। विवाद में शामिल कुल 8 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। 24 पर नामजद एफआईआर दर्ज की गई है। साथ ही चार टीमें बनाई गई हैं, जो कि मौके की जांच व बवाल में शामिल लोगों की शिनाख्त कर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगी।