close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

फिर से घाटी में फटा ग्रेनेड, 19 घायल 6 की हालत गंभीर

घाटी में छिपे हुए आतंकी एक के बाद एक ग्रेनेड अटैक कर रहे हैं. कभी CRPF पर, कभी आम नागरिकों को तो कभी सुरक्षाबलों पर हमला कर रहे हैं. सरकार की पूरी कोशिश के बाद भी ग्रेनेड हमलों को रोका नहीं जा सका हैं. 

फिर से घाटी में फटा ग्रेनेड, 19 घायल 6 की हालत गंभीर

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 तो हटा दी गई है. लेकिन आतंकवादी आज भी घाटी में सक्रिय है. 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाया गया था लेकिन उसके बाद भारत सरकार की घाटी में शांति बनाये रखने के तमाम कोशिशों को आंतकी भंग करने में जुटे हुए हैं. हमला की सूचना मिलते ही CRPF  की 179वीं बटालियन मौके पर पहुंची है और इलाके में छिपे हुए आतंकवादियों को तलाश करना शुरू कर दिया है.

सूत्रों के हवाले से खबर मिल है कि जम्मू और कश्मीर सोपोर में बस स्टैंड के पास ग्रेनेड हमले में 19 लोग घायल हैं. गंभीर रूप से घायलों में से 6 को श्रीनगर ले जाया गया है.

 

28 अक्टूबर सोमवार को लगभग 4.15 बजे आतंकियों ने सोपोर के होटल प्लाजा के पास आम नागरिकों से भरे इलाके पर ग्रेनेड हमला किया. 

इस हमले में 15 लोगों की घायल होने की सूचना सामने आयी है जिनमें से तीन लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है. गंभीर रूप से घायल लोगों को श्रीनगर के अस्पताल में रेफर कर दिया गया है. बता दें कि दिवाली से एक दिन पहले भी यानि 26 अक्टूबर को घाटी में छिपे आतंकवादियों ने श्रीनगर के करन नगर में स्थित काकासराए में तैनात CRPF के जवानों पर ग्रेनेड हमला किया था. इससे पहले भी कई हमले किए जा चुके हैं जिससे घाटी की सुरक्षा खतरे में नजर आ रही है.

कल 29 अक्टूबर को यूरोप से आए 27 यूरोपियन सांसदों का जम्मू-कश्मीर के दौरे पर जाएंगे. उनके इस दौरे से पहले यह हमला माहौल बिगाड़ने की साजिश है.