close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बौखलाए आतंकियों ने बनाया है दिल्ली और जम्मू कश्मीर को दहलाने का प्लान

कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने से आतंकियों के हिंसक मंसूबों को करारा झटका लगा है. घाटी में शिकंजा कसे जाने के बाद से बौखलाए आतंकवादियों ने भारत में एक बड़े हमले की तैयारी शुरू कर दी है जिसका टारगेट सरकारी दफ्तरों के होने की आशंका जताई जा रही है. 

बौखलाए आतंकियों ने बनाया है दिल्ली और जम्मू कश्मीर को दहलाने का प्लान
दिल्ली पर आतंकी हमले का साया

नई दिल्ली: गुप्तचर संस्थाओं से जानकारी मिली कि कुछ आतंकी संगठन भारत में बड़े आतंकी हमले की फिराक में हैं. बताया जा रहा है कि कश्मीर में कड़े नियमों और प्रतिबंधों के बीच सरगनाओं का आतंकी कनेक्शन टूट गया है जिससे घाटी में उनकी एक भी नहीं चल रही है. इससे उखड़े आतंकियों ने जम्मू कश्मीर और दिल्ली के बड़े सरकारी दफ्तरों को नुकसान पहुंचाने की योजना बनाई है. इस योजना की जानकारी मिलते ही आला अधिकारियों ने सभी कमांडिंग प्रशासनिक दफ्तरों और  सेना को अलर्ट कर दिया है. 

खुफिया एजेंसियों से मिला हमले का इनपुट
सरकारी आदेश के बाद से सभी सुरक्षाबल को तैयार और चौकन्ना रहने का आदेश जारी कर दिया गया है. दरअसल, खुफिया एजेंसियों से मिली जानकारी में बताया गया कि 31 अक्टूबर को जम्मू कश्मीर राज्य को दो अलग केंद्रशासित प्रदेशों में तब्दील करने के जारी नोटिफिकेशन से पहले आतंकियों ने दिल दहलाने जैसी घटनाओं को अंजाम देने का रोडमैप तैयार किया है. हालांकि, इस मामले में खुफिया विभाग को और कोई पुख्ता जानकारी नहीं मिल सकी लेकिन इतने इनपुट के साथ ही भारतीय उच्चाधिकारियों ने सुरक्षाबलों को कम से कम 48 घंटों तक अलर्ट रहने का दिशा-निर्देश दिया है. 

कैंप तबाह होने से बौखलाए हैं आतंकी 
बता दें कि कश्मीर में आए दिन आतंकी हमलों में नागरिक और सेना के जवान या तो घायल हो रहे हैं या मारे जा रहे हैं. घाटी में छिटपुट हिंसक घटनाओं में नागरिकों के मारे जाने से परेशान सेना ने पीओके में घुसकर आतंकी कैंपों को तबाह कर दिया था. इस कारवाई से आग-बबूला हुए आतंकियों ने सेना के दफ्तरों को निशाना बनाने का ही फरमान जारी कर दिया. मंगलवार को यूरोपीयन देशों के प्रतिनिधि कश्मीर दौरे पर थे. उसी वक्त पुलवामा में परीक्षा देने गए बच्चों के परीक्षा केंद्र पर हमला कर दिया गया था जिसकी जानकारी मिलते ही सेना ने सभी फंसे बच्चों को बाहर निकाला. मिली जानकारी के मुताबिक ये हमला CRPF की गश्त करने वाली टीम पर किया गया था जो परीक्षा केंद्र के नजदीक था. 

तेज कर दी गई है सैन्य गतिविधियां
घाटी में अक्टूबर महीने में आतंकी हमले बहुत तेजी से बढ़े हैं. इसमें कई आतंकियों को नर्क का रास्ता भी दिखाया गया लेकिन कई नागरिक और सेना के जवान भी अपनी जान गंवा बैठे हैं. इस हमले की जानकारी के बाद से ही सुरक्षाबल की तैनाती और गतिविधियां तेज कर दी गई हैं. राजधानी में चेकपोस्ट और आवागमन के रास्तों पर कड़े जांच का आदेश पहले ही जारी कर दिया गया है. सुरक्षाबलों ने आम लोगों को भी सावधानी बरतने को इत्तेला किया है. 

आतंकवादी दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में होने वाले मैच के दौरान टीम इंडिया पर हमले की भी योजना बना रहे हैं. इससे जुड़ी पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें