कोरोना का असर, इस विमानन कंपनी ने लिया कर्मियों की सैलरी काटने का फैसला

कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन से कई कंपनियां घाटे की ओर बढ़ रही हैं. हालांकि सरकार ने कंपनियों से अपील की थी कि इस लॉकडाउन के समय कंपनियां घर पर रह रहे कर्मचारियों की सैलरी में किसी तरह की कटौती न करे, लेकिन इसके बावजूद विमान कंपनी GoAir ने अपने सभी कर्मचारियों की मार्च से सैलरी काटने का फैसला किया है. 

कोरोना का असर, इस विमानन कंपनी ने लिया कर्मियों की सैलरी काटने का फैसला

नई दिल्‍ली: देश भर में कोरोना वायरस की वजह से हुए लॉकडाउन ने  अब आर्थिक मसलों पर अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है. कोरोना वायरस की वजह से लोग देश के दूसरे हिस्सों में नहीं जा रहे हैं और इसका असर अब कर्मियों की जेबों पर पड़ सकता है. 22 मार्च से एक-एक कर राज्यों ने लॉकडाउन करना शुरू किया, देश में विमान सेवा को 24 मार्च की रात से 21 दिनों के लिये बंद किया गया इसका असर अब कंपनियों की वित्तीय प्रणाली पर दिखना शुरू हो गया है. 

लॉकडाउन बन रहा समस्या
कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन से कई कंपनियां घाटे की ओर बढ़ रही हैं. हालांकि सरकार ने कंपनियों से अपील की थी कि इस लॉकडाउन के समय कंपनियां घर पर रह रहे कर्मचारियों की सैलरी में किसी तरह की कटौती न करे, लेकिन इसके बावजूद विमान कंपनी GoAir ने अपने सभी कर्मचारियों की मार्च से सैलरी काटने का फैसला किया है.

कोरोना का असर: GoAir ने कर्मचारियों के वेतन काटने का लिया फैसला

इसके लिये बकायदा सभी कर्मचारियों को मेल से जानकारी भी दी गई है.

जानिए, कोरोना पर चीन ने कितने झूठ बोले? बेनकाब करने वाली रिपोर्ट

GoAir के पास कैश फ्लो की कमी
दरअसल विमान कंपनियां फारवर्ड प्लानिंग के तहत काम करती हैं, लोग ज्यादातर एडवांस में अपनी बुकिंग कराकर चलते हैं. उसी के हिसाब से होटल और दूसरी जगहों की बुकिंग होती है. लेकिन सरकार की एडवाइजरी और इस कोरोना वायरस के कारण लोग कहीं भी नहीं आ-जा रहे हैं और जो बुकिंग थी वो भी कैंसिल करवा ली गई है.  

GoAir के प्रवक्ता का कहना है- हमने कर्मचारियों की सैलरी में कटौती करने का फैसला लिया है क्योंकि कंपनी के पास कैश फ्लो की काफी कमी है, जो भी बुकिंग थी वो कैंसिल हो चुकी है और आगे की कोई भी बुंकिग नहीं आ रही है.

लॉकडाउन से घबराएं नहीं, "घरों तक पहुंचाया जाएगा जरूरी सामान"

सैलरी कट करने वाली पहली कंपनी
ट्रांसपोर्ट से जुड़ी कंपनियों के साथ दूसरे कारोबार, जिनमें होटल, रेस्टोरेंट, टूरिज्म को भी काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है, लेकिन ये पहली कंपनी है जिसने लॉकडाउन और कोरोना वायरस के चलते सैलरी कट करने का फैसला लिया है.

ऐसे में आने वाले दिन बाकी कंपनियों के लिये भी काफी अहम होने वाले है और सरकार को भी कहीं ना कहीं इस मामले में दखल देने की जरूरत है जिससे कारोबार और कर्मचारियों को किसी तरह का नुकसान ना हो.