भारत में पिछले दस साल में आये हैं इतने चक्रवाती तूफ़ान

भारत में तूफ़ान बन कर आई प्राकृितिक आपदाओं का संकट कोई नया समाचार नहीं है, भारत के दो राज्यों में आज शाम आ रहे निवार तूफ़ान के पीछे जा कर देखें तो देश ने पिछले दस सालों में बहुत से तूफानों का सामना किया है..

भारत में पिछले दस साल में आये हैं इतने चक्रवाती तूफ़ान
नई दिल्ली.   बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवाती तूफान साइक्लोन निवार ने तेजी पकड़ ली है. साइक्लोन निवार भारत के दक्षिण भारतीय राज्य तमिलनाडु में आज टकराने वाला है. संकट को ध्यान में रख कर तमिलनाडु और आंध्रप्रदेश में रेस्क्यू टीमें तैनात कर दी गई हैं. पीएम मोदी ने मंगलवार 24 नॉवमबर को दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों से वार्ता कर वहां के लोगों को सुरक्षित इलाकों में पहुंचाने को कहा है.

शाम तक पहुंचेगा दोनों राज्यों में 

निवार साइक्लोन आज बुधवार 25 नवंबर की शाम को तमिलनाडु और पुडुचेरी के तट से टकराएगा. आज दिन में इन राज्यों में तेज हवाएं देखी जा सकती हैं जिनकी रफ्तार 100 से 150 किलोमीटर प्रति घंटे हो सकती है.  मौसम विभाग ने आशंका जताई है कि निवार खतरनाक साइक्लोन में तब्दील हो सकता है.

तूफान का सामना करने की तैयारियां पूरी हैं 

निवार साइक्लोन से निपटने के लिए पुडुचेरी (तमिलनाडु) और आंध्र प्रदेश के तटीय स्थानों में बारह सौ  रेस्क्यू ट्रूपर्स तैनात किए गए हैं. इनके अतिरिक्त आठ सौ ट्रूपर्स को स्टैंडबाई रखा गया है. रेलवे द्वारा एक दर्जन ट्रेनें रद्द करनी पड़ी हैं. साइक्लोन जोन में पहुंचसे पहले ही कई ट्रेने खत्म करने का भी निर्णय ले लिया गया है.
 

2010 से 2020 तक इन तूफानों ने बनाई सुर्खियां 

यहां देखिये भारत में तबाही मचाने वाले तूफानों की सूची और ये भी देखिये कि कब-कब भारत में किस तूफान ने बरपाया है कहर:
 
(तूफ़ान) - (मारे गए लोगों की संख्या) - (वर्ष)
 
प्रदेश -आंध्रपदेश 
 
लैला -- ९८६  -- 2010
 
नीलम -- 992 -- 2012
 
हेलन -- 990 -- 2013 
 
लहर -- 980 -- 2013
 
हुदहुद -- 940 -- 2014
 
प्रदेश - महाराष्ट्र
 
जल -- 988 -- 2010
 
प्रदेश - उड़ीसा
 
फैलिन -- 940 -- 2013
 
हुदहुद -- 960 -- २०१४
 
अंफान - 60  - 2020
 
प्रदेश - तमिलनाडु
 
जल -- 988 -- 2010
 
थेन -- 972 -- 2011
 
नीलम -- 992 -- 2013
 
माडी -- 986 -- 2013
 
प्रदेश - पश्चिम बंगाल
 
अंफान - 72 - 2020 
 
इनके अतिरिक्त 2015 में पश्चिम बंगाल में और 2016 में तमिलनाडु में चक्रवाती तूफ़ान देखे गए. सबसे अधिक तूफ़ान वर्ष 2018 और 2019 में आये थे. दोनों साल सात सात चक्रवाती तूफ़ान भारत में देखे गए जिनमें 2018 में मारे गए लोगों की संख्या 343 थी और 2019 में लोग मारे गए थे.  यहां देखिये इन चक्रवाती तूफानों के दौरान वायुमंडलीय दबाव और तेज हवाृओ की रफ्तार का ब्यौरा:
 
प्रदेश - तमिलनाडु 
 

(तूफान)        (वर्ष)     (न्यूनतम वायुमंडलीय दबाव)  (हवाृओ की रफ्तार)

थेन            2011           972 140
 
नीलम          2012          992                              85
 
मादि            2013         986                             120
 
रोनू             2016         983                              85
 
क्यान्त 2016 997                               85
 
नादा 2016 1000                             75
 
वरद 2016 982                              130
 
ओखी          2017 975                             155
 
गज 2018 99                              128
 
निवार 2020 996 
 
प्रदेश - पश्चिम बंगाल 
 
कोमेन 2015 986                       75
 
रोनू 2016 983                        85
 
मोरा 2017 970                       150
 
फानी            2019             932                        215
 
बुलबुल 2019 980                         145
 
अंफान        2020 
 
प्रदेश -उड़ीसा 
 
फैलिन      2013 940 215
 
हुदहुद 2014 950 185
 
तितली 2018 978          110
 
फनी           2019           932           250
 
अम्फान       2020           925          260
 
प्रदेश- महाराष्ट्र 
 
निसर्ग       2020       984
 
ये भी पढें. केरल में लाया गया उल्टा अध्यादेश

देश और दुनिया की हर एक खबर अलग नजरिए के साथ और लाइव टीवी होगा आपकी मुट्ठी में. डाउनलोड करिए ज़ी हिंदुस्तान ऐपजो आपको हर हलचल से खबरदार रखेगा... नीचे के लिंक्स पर क्लिक करके डाउनलोड करें-