पीएम मोदी के भाषण की वह बातें जो आपके लिए जानना जरूरी है

तिरंगा फहराने के बाद उन्होंने राष्ट्र को संबोधित किया. अपने संबोधन में उन्होंने देश को हर तरीके से आत्मनिर्भर बनाने पर बहुत अधिक जोर दिया, साथ ही उन तमाम उपलब्धियों को भी गिनाया जो बीते कुछ सालों में सरकार ने की हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके साथ ही लाल किले से जो कहा, उसकी खास बातें. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Aug 15, 2020, 11:04 AM IST
    • पीएम मोदी ने कहा अभी पिछले महीने ही करीब-करीब 3 लाख करोड़ रुपये का ट्रांजेक्शन अकेले BHIM UPI से हुआ है
    • आज भारत में महिलाएं अंडरग्राउंड कोयला खदानों में काम कर रही हैं तो लड़ाकू विमानों से आसमान की बुलंदियों को भी छू रही हैं
    • आज भारत में कोराना की एक नहीं, दो नहीं, तीन-तीन वैक्सीन्स इस समय टेस्टिंग के चरण में हैं.
पीएम मोदी के भाषण की वह बातें जो आपके लिए जानना जरूरी है

नई दिल्लीः  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को लाल किले पर 74वें स्वतंत्रता दिवस पर तिरंगा फहराया. इस मौके पर जब उन्होंने सामने देखा तो देश के भावी कर्णधारों को नदारद पाया. यह पहला स्वतंत्रता दिवस है, जिसमें बच्चे शामिल नहीं हो सके. कोरोना काल के इस समय में उन्होंने लाल किले पर स्कूली बच्चों के न होने पर उन्होंने दुख व्यक्त किया. 

तिरंगा फहराने के बाद उन्होंने राष्ट्र को संबोधित किया. अपने संबोधन में उन्होंने देश को हर तरीके से आत्मनिर्भर बनाने पर बहुत अधिक जोर दिया, साथ ही उन तमाम उपलब्धियों को भी गिनाया जो बीते कुछ सालों में सरकार ने की हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके साथ ही लाल किले से जो कहा, उसकी खास बातें. 

नई शिक्षा नीति बनाएगी आत्मनिर्भर
आत्मनिर्भर भारत के निर्माण में, आधुनिक भारत के निर्माण में, नए भारत के निर्माण में, समृद्ध और खुशहाल भारत के निर्माण में, देश की शिक्षा का बहुत बड़ा महत्व है. इसी सोच के साथ देश को एक नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति मिली है. 

आर्थिक तौर पर अंतिम आदमी हुआ मजबूत
अभी पिछले महीने ही करीब-करीब 3 लाख करोड़ रुपये का ट्रांजेक्शन अकेले BHIM UPI से हुआ है. 
7 करोड़ गरीब परिवारों को मुफ्त गैस सिलेंडर दिए गए. 

राशनकार्ड हो या न हो, 80 करोड़ से ज्यादा लोगों को मुफ्त अन्न की व्यवस्था की गई, बैंक खातों में करीब-करीब 90 हजार करोड़ रुपये सीधे ट्रांसफर किए गए

ऑप्टिकल फाइबर से जुड़े गांव
साल 2014 से पहले देश की सिर्फ 5 दर्जन पंचायतें ऑप्टिल फाइबर से जुड़ी थीं.
बीते पांच साल में देश में डेढ़ लाख ग्राम पंचायतों को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ा गया है. 

आने वाले एक हजार दिन में इस लक्ष्य को पूरा किया जाएगा.

आने वाले 1000 दिन में देश के हर गांव को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ा जाएगा.

महिलाओं की स्थिति हुई है सशक्त
देश में नई राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा रणनीति का मसौदा तैयार कर लिया गया है. 
आज भारत में महिलाएं अंडरग्राउंड कोयला खदानों में काम कर रही हैं तो लड़ाकू विमानों से आसमान की बुलंदियों को भी छू रही हैं. 

देश के जो 40 करोड़ जनधन खाते खुले हैं, उसमें से लगभग 22 करोड़ खाते महिलाओं के ही हैं.
कोरोना के समय में अप्रैल-मई-जून, इन तीन महीनों में महिलाओं के खातों में करीब-करीब 30 हजार करोड़ रुपए सीधे ट्रांसफर किए गए हैं. 

नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन की शुरुआत
जब कोरोना शुरू हुआ था तब हमारे देश में कोरोना टेस्टिंग के लिए सिर्फ एक Lab थी. आज देश में 1,400 से ज्यादा Labs हैं
देश में एक और बहुत बड़ा अभियान शुरू होने जा रहा है. ये है नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन.

नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन, भारत के हेल्थ सेक्टर में नई क्रांति लेकर आएगा. 
आपके हर टेस्ट, हर बीमारी, आपको किस डॉक्टर ने कौन सी दवा दी, कब दी, आपकी रिपोर्ट्स क्या थीं, ये सारी जानकारी इसी एक Health ID में समाहित होगी. 

हम कोरोना से भी लड़ रहे हैं
आज भारत में कोराना की एक नहीं, दो नहीं, तीन-तीन वैक्सीन्स इस समय टेस्टिंग के चरण में हैं. जैसे ही वैज्ञानिकों से हरी झंडी मिलेगी, देश की तैयारी उन वैक्सीन्स की बड़े पैमाने पर Production की भी तैयारी है.

हमारे देश में अलग-अलग जगहों पर विकास की तस्वीर अलग-अलग दिखती है.

स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी: राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन की शुरुआत

लालकिले से पीएम मोदी ने जो कहा, जानिए उनके भाषण की खास बातें

 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़