• देश में कोविड-19 से सक्रिय मरीजों की संख्या 89,987 पहुंची, जबकि संक्रमण के कुल मामले 1,65,799: स्त्रोत-PIB
  • कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या- 71,106 जबकि अबतक 4,706 मरीजों की मौत: स्त्रोत-PIB
  • वित्त मंत्री ने वित्तीय स्थिरता और विकास परिषद की अध्यक्षता की और घरेलू स्थिति की समीक्षा की
  • वित्त मंत्री ने ‘आधार’ पर आधारित ई-केवाईसी के जरिए ‘तत्काल पैन आवंटन’ की सुविधा का शुभारंभ किया
  • वाणिज्य मंत्री एक्सपोर्टर्स से अधिक प्रतिस्पर्धी होने और दुनिया को गुणवत्तापूर्ण उत्पाद प्रदान करने का आह्वान किया
  • उपभोक्ता कार्य मंत्री एफसीआई के खाद्यान्न वितरण और खरीद की समीक्षा की
  • कैबिनेट सचिव ने कोविड से सबसे अधिक प्रभावित 13 शहरों की स्थिति की समीक्षा की
  • भारत जुलाई के अंत तक, प्रति दिन 5 लाख स्वदेशी किट का उत्पादन करेगा: अधिकार प्राप्त समूह-1
  • केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने नई दिल्ली में वेबिनार के माध्यम से 45,000 उच्च शिक्षण संस्थाओं के प्रमुखों से बातचीत की
  • रेलवे ने 3,736 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन किया, 50+ लाख प्रवासी श्रमिकों को घर पहुंचाया गया

तीन महीने राजस्थान में सैलानियों का सैलाब, 4 करोड़ तक पर्यटकों के आने की संभावना

नए साल के आवगमन के साथ ही राजस्थान प्रदेश में सैलानियों का आगमन शुरू हो गया है. अगले तीन महीने तक सैलानियों की संख्या में भारी इजाफा होगा क्योंकि जनवरी से मार्च के दौरान राजस्थान में 13 मेगा ईवेंट का आयोजन किया जा रहा है.

तीन महीने राजस्थान में सैलानियों का सैलाब, 4 करोड़ तक पर्यटकों के आने की संभावना

जयपुर: अगले तीन महीने पर्यटक से राजस्थान पूरी तरह से भरपूर होगा क्योंकि जनवरी से मार्च के दौरान राजस्थान पर्यटन 13 मेगा ईवेंट आयोजित करने जा रहा है. इन ईवेंट्स के माध्यम से प्रदेश में एक कैलेंडर वर्ष में 4 करोड़ पर्यटकों के आने के आंकडे को छूने का प्रयास किया जाएगा.

गहलोत सरकार ने शुरू किया 'निरोगी राजस्थान अभियान', लिंक पर क्लिक कर जानें खबर.

जनवरी से मार्च तक राजस्थान के प्रदेश भर में कार्यक्रमों का किया जा रहा है आयोजन
अगले तीन महीने में राजस्थान पर्यटन जयपुर से मुंबई और फिर स्पेन से जर्मनी तक की यात्रा तय करेगा,,, इस दौरान 21 बड़े पर्यटन ईवेंट्स आयोजित होंगे, जोकि राजस्थान पर्यटन को 'पायोनियर' बनने के लक्ष्य तक ले जा सकते हैं,,,, 
इन तीन महीनों में जयपुर में विश्व प्रसिद्ध पतंग उत्सव मनाया जाएगा. जिसमें देश-विदेश के पतंगबाज प्रतियोगिता में भाग लेंगे. वहीं मरु उत्सव और होली व धुलंडी जैसे समारोह का भी बड़े पैमाने पर आयोजन किया जा रहा है जो पर्यटकों के बीच काफी लोकप्रिय है. जयपुर में 10 सालों से मनाए जाने वाले लिटरेचर फेस्ट ने देश-दुनिया में अपनी पहचान बना चुकी है जो जिसका आयोजन 21 से 23 फरवरी को किया जा रहा है. इसके अलावा पहली बार प्रदेश में वेडिंग जंक्शन और राजस्थान दिवस भी भव्य तरीके से मनाया जा रहा है. इस दौरान देशभर में आयोजित होने वाले आधा दर्जन मार्ट्स में भी राजस्थान मंडप लगाया जाएगा और दर्जनभर से ज्यादा रोड शो भी होंगे.

पूरी दुनिया में सिर्फ बीकानेर में मनाया जाने वाला 'कैमल फेस्टिवल' शुरू, लिंक पर क्लिक कर जानें खबर.

राजस्थान सरकार का सैलानियों को लेकर विशेष योजना

विदेश की बात करें तो स्पेन के मेड्रिड में फितूर का और जर्मनी के बर्लिन में इंटरनेशनल ट्रेवल बाजार का आयोजन राजस्थान प्रदेश के द्वारा किया जाएगा. यही नहीं शाही गाड़ी पैलेस ऑन व्हील्स का भी अप्रैल तक संचालन शुरू किया जाएगा. दरअसल मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने चालू पर्यटन सत्र में प्रदेश में 4 करोड़ पर्यटकों को लाने का लक्ष्य रखा है. इसके बाद से ही मुख्य सचिव डीबी गुप्ता, प्रमुख सचिव श्रेया गुहा, निदेशक डॉ भंवरलाल व अन्य अधिकारी भी लगातार इस लक्ष्य के लिए बैठक, दौरे और मॉनिटरिंग कर रहे हैं. सर्दियों की शुरुआत के साथ ही जिस तरह से प्रदेश में सैलानियों का सैलाब उमड़ा है उससे तो लगता है कि राजस्थान पर्यटन अपने उद्देश्य में सफल हो रहा है. और ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि देश में एक बार फिर राजस्थान पर्यटन शीर्ष स्थान हासिल कर सकता है. हालांकि देश और प्रदेश के साथ ही यूरोप में भी आर्थिक मंदी का दौर चल रहा है इसके बावजूद पर्यटन में किसी तरह की कोई कमी नजर नहीं आ रही है. यूं कह सकते हैं कि नागरिक संशोधन बिल सहित अन्य मामलों में जिस तरह से देश में विवाद की स्थिति है उससे कई यूरोपीय देशों के पर्यटकों का आगमन प्रभावित हुआ है.