उमर खालिद की बढ़ी मुश्किलें, दिल्ली हिंसा मामले में लंबी पूछताछ, मोबाइल भी जब्त

स्पेशल सेल ने उमर खालिद का मोबाइल फोन अपने कब्जे में ले लिया है. स्पेशल सेल दिल्ली हिंसा मामले की जांच कर रही है. इस सिलसिले में शुक्रवार को उमर खालिद से पूछताछ की गई. लगभग तीन घंटे तक चली पूछताछ में स्पेशल सेल मामले में कई सवाल पूछे हैं. 

उमर खालिद की बढ़ी मुश्किलें, दिल्ली हिंसा मामले में लंबी पूछताछ, मोबाइल भी जब्त

नई दिल्लीः दिल्ली में हुई हिंसा के मामले में जेएनयू के एक और पूर्व छात्र पर शिकंजा कसता जा रहा है. अब उमर खालिद की मुश्किलें बढ़ रही हैं. सामने आया है कि हिंसा मामले में उमर खालिद से दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने करीब तीन घंटे तक पूछताछ की. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने उमर खालिद से डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे से पहले दिए गए भाषण को लेकर भी सवाल पूछे हैं.

तीन घंटे चली पूछताछ
जानकारी के मुताबिक, स्पेशल सेल ने उमर खालिद का मोबाइल फोन अपने कब्जे में ले लिया है. स्पेशल सेल दिल्ली हिंसा मामले की जांच कर रही है. इस सिलसिले में शुक्रवार को उमर खालिद से पूछताछ की गई.

लगभग तीन घंटे तक चली पूछताछ में स्पेशल सेल मामले में कई सवाल पूछे हैं. 

सुनियोजित हिंसा के आरोप
आरोपों के मुताबिक उमर खालिद और उसके सहयोगियों ने औरतों-बच्चों को सड़कों पर उतारकर हिंसा भड़काने की साजिश रची थी. दंगों में भाग लेने के लिए दूसरे इलाकों से लोगों को जुटाकर दिल्ली लाया गया.

आरोप है कि 23 फरवरी को साजिश की तैयारी पूरी होने के बाद यमुनापार के मौजपुर, कर्दमपुरी, जफराबाद, चंदबाग, शिव विहार और इसके आस-पास के इलाकों में दंगे कराए गए.

पूछा गया, और कौन है साजिश में शामिल
सूत्रों के मुताबिक स्पेशल सेल ने पूछताछ में उमर खालिद से कई तीखे सवाल पूछे. इसमें सीएए विरोधी आंदोलन में उसकी क्या भूमिका थी. इस आंदोलन को लाखों रुपये फंड कहां से मिला. देश को अस्थिर करने की इस साजिश में और कौन कौन लोग शामिल थे. उसने ट्रंप की यात्रा के दौरान सड़कों पर उतरने का आहवान क्यों किया? 

सुप्रीम कोर्ट की बड़ी टिप्पणी, अतीत पर नहीं भविष्य पर ध्यान दें जम्मू कश्मीर के लोग

राजद्रोह के आरोपी शरजील इमाम के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने दाखिल की चार्जशीट