बंगाल की खाड़ी में हलचल, इस राज्य में भारी बारिश का अलर्ट जारी

केंद्र ने कहा कि 15 अक्टूबर से ओडिशा और आसपास के हिस्सों में बारिश हो सकती है. उसके मुताबिक, 16-17 अक्टूबर के दौरान ओडिशा के कुछ जिलों में बारिश होने की संभावना है.   

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Oct 14, 2021, 05:26 PM IST
  • लोगों से सुरक्षित रहने की अपील
  • जानिए मौसम विभाग ने क्या चेताया
बंगाल की खाड़ी में हलचल, इस राज्य में भारी बारिश का अलर्ट जारी

भुवनेश्वरः बंगाल की खाड़ी के पूर्व-मध्य हिस्से और आसपास के क्षेत्र में चक्रवाती हवाओं के प्रभाव से कम दबाव का क्षेत्र बन गया है, जिससे ओडिशा में अगले 24 घंटे के दौरान हल्की से मध्यम स्तर की बारिश हो सकती है.
भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने गुरुवार को बताया कि कम दबाव के क्षेत्र की वजह से अगले तीन दिनों में ज्यादातर जगहों पर हल्की बारिश होगी तथा कुछ स्थानों पर गरज के साथ छींटे पड़ सकते हैं.

तेज गति से चल सकती है हवा
 40-50 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है. उसने बताया कि इस दौरान अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में भारी बारिश का अनुमान है.भुवनेश्वर के मौसम केंद्र ने ट्विटर पर बताया कि कल की चक्रवाती हवाओं के प्रभाव से बंगाल की खाड़ी के पूर्व मध्य हिस्से और आसपास के क्षेत्रों में कम दबाव का क्षेत्र बन गया है. उसने कहा कि इसके पश्चिम और उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ने की संभावना है तथा यह अगले 24 घंटे में दक्षिण ओडिशा एवं उत्तर आंध्र प्रदेश के तटों पर पहुंच जाएगा.

इस दिन बारिश का अलर्ट
केंद्र ने कहा कि 15 अक्टूबर से ओडिशा और आसपास के हिस्सों में बारिश हो सकती है. उसके मुताबिक, 16-17 अक्टूबर के दौरान ओडिशा के कुछ जिलों में बारिश होने की संभावना है. मौसम कार्यालय ने बृहस्पतिवार को 13 जिलों के लिए येलो चेतावनी जारी की. 

उसने कहा कि बालासोर, भद्रक, जाजपुर, केंद्रपाड़ा, कटक, जगतसिंहपुर, पुरी, खुर्दा, नयागढ़, गंजम, गजपति, मयूरभंज, ढेंकनाल में एक या दो स्थानों पर गरज और बिजली कड़कने के साथ बारिश हो सकती है.इस बीच, ओडिशा के विशेष राहत आयुक्त (एसआरसी) पी के जेना ने सभी जिला कलेक्टरों को पत्र लिखकर कहा कि वे इस स्थिति के लिए तैयार रहें और जरूरत के मुताबिक प्रबंध करें.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़