• पूर्वी लद्दाख में महीने भर से भारत-चीन के बीच जारी सीमा पर तनाव के बीच दोनों पक्षों में बातचीत
  • भारत और चीन के बीच दोनों पक्षों की तरफ से लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की बातचीत की गई
  • दोनों पक्षों के बीच यह बातचीत पूर्वी लद्दाख में चीन की साइड में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल पर माल्डो में हुई
  • लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल LAC पर माल्डो में बॉर्डर पर्सनल मीटिंग की जाती है
  • इंडियन आर्मी के एक प्रवक्ता ने बातचीत का जिक्र किए बिना जानकारी दी
  • 'भारत-चीन सीमा पर मौजूदा हालात को देखते हुए दोनों देशों के अधिकारी तयशुदा सैन्य और कूटनीतिक माध्यमों से जुड़ना जारी रखेंगे'
  • लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की बातचीत से पहले स्थानीय कमांडरों के स्तर पर दोनों सेनाओं के बीच 12 राउंड बातचीत हो चुकी है
  • इसके अलावा शनिवार की बातचीत से पहले दोनों देशों के बीच 3 मेजर जनरल स्तर की भी बातचीत हुई है
  • सीमा पर जारी गतिरोध को खत्म करने के लिए दोनों देशों के बीच यह पहली बड़ी कोशिश: आधिकारिक सूत्र
  • भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व लेह स्थित 14वीं कोर के जनरल कमांडिंग ऑफिसर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह ने की

Weather Updates: जाने कैसा रहेगा पूरा हफ्ता

मौसम विभाग की रिपोर्ट की मानें तो एक बार फिर मौसम का मिजाज बदलने वाला है. पश्चिमी हिमालय में एक नया पश्चिम विक्षोभ सक्रिय हो रहा है जिसके चलते देश के कुछ हिस्सों में बारिश की संभावना जताई जा रही है.  

 Weather Updates: जाने कैसा रहेगा पूरा हफ्ता

नई दिल्ली: मौसम विभाग की मानें तो पश्चिमी हिमालय में एक नया पश्चिम विक्षोभ सक्रिय हो रहा है. इसका असर जम्मू -कश्मीर (Jammu- Kashmir), लद्दाख (Ladakh), हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh), उत्तराखंड (Uttarakhand) और आसपास के हिस्सों में इसका असर देखने को मिलेगा. जिसके चलते इन इलाकों में तेज बारिश होने की संभावना है. 

रिपोर्ट के मुताबिक इस पश्चिम विक्षोभ के चलते दिल्ली(Delhi), पंजाब (Punjab),हरियाणा (Haryana) और चंड़ीगढ़ (Chandigarh) में 31 मार्च और 1 अप्रैल के बीच तेज हवाओं के साथ बारिश दर्ज की जा सकती है. हवा की स्पीड 40 किलोमीटर प्रति घंटा तक रह सकती है.

देशवासियों से PM मोदी ने मांगी माफी, जानिए वजह.

इन राज्यों में भी जताई जा रही है बारिश की संभावना 

मौसम विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक 29 मार्च को मध्य महाराष्ट्रा, ओडिशा, मध्य प्रदेश, विदर्भ, छत्तसीगढ़ और अरुणांचल प्रदेश में तेज हवाओं के साथ बारिश होने की संभावना है. कुछ जगहों पर बिजली गिरने की भी संभावना है. 30 मार्च को भी इन राज्यों में बारश दर्ज की सकती है.