• भारत में कोरोना के कुल सक्रिय मामले अभी तक 3981 हैं, इसमें से 326 लोग इलाज के बाद ठीक हुए, 114 लोगों की मौत
  • कोरोना संकट से जूझने के लिए सांसदों की तनख्वाह में से एक साल के लिए 30 फीसदी की कटौती की जाएगी, सरकार ने अध्यादेश को मंजूरी दी
  • जरुरतमंदों तक खाद्य सामग्री पहुंचाने के लिए फूड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया ने लॉकडाउन के दौरान रिकॉर्ड 16.94 लाख टन अनाज की ढुलाई की
  • कोरोना मरीजों के लिए 2500 रेल कोचों में 40 हजार आइसोलेशन वार्ड बनाए गए
  • देश के इन राज्यों में कोरोना के ज्यादा मरीज- महाराष्ट्र में 748, तमिलनाडु में 571, दिल्ली में 523, केरल में 314
  • उत्तर प्रदेश में 305, राजस्थान में 274, आंध्र प्रदेश में 226, मध्य प्रदेश में 165 कोरोना के मरीज हैं
  • दुनिया में कोरोना के कुल मरीजों की संख्या 1346003 है. इसमें से 74654 लोगों की मौत हो चुकी है और 278445 लोग ठीक हो चुके हैं

राणा अय्यूब ने जो किया, वह गलती है या तनाव बढ़ाने की साजिश

मुंबई के रहने वाले एक युवक ने दिल्ली हिंसा के एक पुराने वीडियो को कथित रुप से पोर्ट करने के लिए पत्रकार राणा अय्यूब के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई है.  एक अफसर ने बताया कि पत्रकार राणा आयूब के खिलाफ पुलिस शिकायत आवेदन दायर किया है.  

राणा अय्यूब ने जो किया, वह गलती है या तनाव बढ़ाने की साजिश

नई दिल्लीः सोशल मीडिया पर जब भी कोई ऐसी पोस्ट अपलोड करें,  जिसका असर सीधे समाज पर पड़े  तो ऐसे कंटेंट को बहुत सोच-समझकर अपलोड करना चाहिए. ऐसा न होने पर इसका गलत असर हो सकता है और किसी महत्वपूर्ण पद पर बैठे व्यक्ति की विश्वसनीयता भी कम होती है. फिलहाल दिल्ली में हिंसा को लेकर सोशल मीडिया पर कई झूठी वीडियो -फोटो वायरल  हो रही है. इसी तरह के एक मामले में मुंबई के एक व्यक्ति ने पत्रकार राणा आयूब के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है. हालांकि राणा अय्यूब पर सवाल उठ रहे हैं कि उन्होंने जो किया है वह अंजाने में किया है या फिर उनकी मंशा तनाव बढ़ाने की ही थी. 

मुंबई के रहने वाले एक युवक ने दिल्ली हिंसा के एक पुराने वीडियो को कथित रुप से पोर्ट करने के लिए पत्रकार राणा अय्यूब के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई है.  एक अफसर ने बताया कि पत्रकार राणा आयूब के खिलाफ पुलिस शिकायत आवेदन दायर किया है.  

किसने दी है शिकायत
राणा अय्यूब के खिलाफ यह शिकायत देने वाले शख्स हैं रमेश सोलंकी. सोलंकी का दावा है कि वीडियो दो साल पुराना है. अपनी शिकायत में, जिसे उन्होंने मंगलवार को ऑनलाइन दायर किया था, सोलंकी ने राणा के ट्वीट और ट्विटर हैंडल की एक तस्वीर भी अपलोड की है. उनका कहना है कि इस तरह का वीडियो अपलोड करना केवल हिंसा को बढ़ावा देना है. 

सत्यापन के बाद होगी कार्रवाई
मुंबई साइबर अपराध के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि यदि आवश्यक हो तो वे किसी भी कार्रवाई करने का निर्णय लेने से पहले तथ्यों को सत्यापित करेंगे. उन्होंने कहा, अगर जरूरत पड़ी तो हम शिकायत को आगे की जांच के लिए संबंधित पुलिस स्टेशन को रेफर कर देंगे. 25 फरवरी को ट्विटर हैंडल @RanaAyub पर पोस्ट की गई 45-सेकंड की एक वीडियो क्लिप में कुछ लोगों को एक केसरिया ध्वज और राष्ट्रीय तिरंगा लगाने की कोशिश करते हुए दिखाया गया है. इसी के साथ लिखा गया है कि अपनी प्रामाणिकता की पुष्टि करने के बाद इस वीडियो को पुनः पोस्ट करें. 

पहले महिला पत्रकार ने वीडियो को पोस्ट के बाद हटा दिया था 
25 फरवरी को ट्विटर हैंडल @RanaAyub पर पोस्ट की गई 45-सेकंड की एक वीडियो क्लिप में कुछ लोगों एक धार्मिक स्थल में तोड़फोड़ करते नजर आ रहे हैं. वीडियो पोस्ट करने के बाद राणा अय्यूब ने पहले इसे ट्विटर से हटा लिया था और फिर इसे सही वीडियो बताते हुए फिर से ट्विटर पर डाला.   

बता दें कि रविवार से नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के तहत पूर्वोत्तर दिल्ली के कई हिस्सों में भड़की हिंसा में अब तक 20 लोगों की मौत हो गई है और सौ से अधिक घायल हो गए हैं.