26 जनवरी को क्या करने वाले थे ये पांच आतंकी, घाटी से हुए गिरफ्तार

आतंकियों के एक बड़े मॉड्यूल का भंडाफोड़ करते हुए पुलिस ने गुरुवार शाम हजरतबल के पास पांच आतंकियों को अरेस्ट किया है. पकड़े गए आतंकियों की पहचान एजाज अहमद शेख, उमर हमीद शेख, इम्तियाज अहमद, साहिल फारुख और नसीर अहमद मीर के रूप में हुई है. इन सभी का सरगना जैश-ए-मोहम्मद है.  

26 जनवरी को क्या करने वाले थे ये पांच आतंकी, घाटी से हुए गिरफ्तार

श्रीनगरः जम्मू-कश्मीर पुलिस ने एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम देकर गुरुवार को पांच आतंकियों को गिरफ्तार किया है. बताया जा रहा है कि गिरफ्तार पांचों आतंकी 26 जनवरी को जम्मू-कश्मीर में बड़ी आतंकी घटना को अंजाम देने की साजिश कर रहे थे. पुलिस ने इनके पास से बड़ी मात्रा में विस्फोटक भी बरामद किया है.

आतंकी श्रीनगर के हजरतबल इलाके से अरेस्ट किए गए हैं. पकड़े गए आतंकियों की पहचान एजाज अहमद शेख, उमर हमीद शेख, इम्तियाज अहमद, साहिल फारुख और नसीर अहमद मीर के रूप में हुई है. इन सभी का सरगना जैश-ए-मोहम्मद है.  

आशंका, आईईडी हमले की थी साजिश
मिली जानकारी के मुताबिक, आतंकियों के एक बड़े मॉड्यूल का भंडाफोड़ करते हुए पुलिस ने गुरुवार शाम हजरतबल के पास इन आतंकियों को अरेस्ट किया है. पुलिस सूत्रों ने बताया कि पकड़े गए आतंकी श्रीनगर में 26 जनवरी के आसपास फिदायीन या आईईडी हमले की साजिश रच रहे थे. इन आतंकियों के पास से पुलिस ने भारी मात्रा में विस्फोटक और अन्य सामान बरामद किए हैं.

पुलिस कर रही है कड़ी पूछताछ
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि सभी पकड़े गए लोग घाटी में जैश-ए-मोहम्मद के लिए काम कर रहे थे. पकड़े गए आतंकियों के घाटी में हुए दो ग्रेनेड अटैक की घटनाओं में भी शामिल होने की बात सामने आई है. एजेंसियों के अधिकारी इन सभी से कड़ी पूछताछ कर रहे हैं. माना जा रहा है कि इन आतंकियों के पास से घाटी में हो रही आतंकी साजिशों के बारे में कुछ अहम जानकारियां मिल सकती हैं.

आतंकियों के साथ पकड़ा जा चुका है डीएसपी
हाल ही में कश्मीर के कुलगाम जिले से भी दो आतंकियों को सेना ने अरेस्ट किया था. आतंकियों के साथ कुलगाम में जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीएसपी देविंदर सिंह को भी अधिकारियों ने अरेस्ट किया था. देविंदर सिंह को आतंकियों की मदद करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था और बाद में उसे सेवा से निलंबित कर दिया गया था. प्रदेश सरकार अब उसे बर्खास्‍त करने की भी तैयारी कर रही है.

हिज्बुल का जिला कमांडर हरून मुठभेड़ में ढेर, संघ नेता की हत्या में था शामिल

बुधवार को मारा गया आतंकी हरून
राज्य के डीजीपी दिलबाग सिंह ने बुधवार को बताया था कि घाटी में एक ऑपरेशन के दौरान हरून अब्बास को मार गिराया गया है. उनके अनुसार हरून नवंबर में परिहार बंधुओं की हत्या में शामिल था, साथ ही आरएसएस नेता चंद्रकांत शर्मा व उनके पीएसओ की हत्या में भी इसी का हाथ था.

हिजबुल मुजाहिद्दीन के इस डिस्ट्रिक्ट कमांडर की भारतीय सेना को काफी दिनों से तलाश थी. सेना की राष्ट्रीय राइफल्स को सुबह हरुन के डोडा में छिपे होने की सूचना मिली थी. खुफिया इनपुट्स के आधार पर ही सेना ने गोंदाना में बड़ा तलाशी अभियान चलाया था. इसके बाद वह मारा गया.  

पाकिस्तान में छिपे भारत के 6 दुश्मनों की हिट तैयार! जल्द होगा सर्वनाश