काफी देर तक रहा चौथी लाश पर सस्पेंस

हैदराबाद में संदिग्ध बलात्कारियों का पुलिस ने एनकाउंटर तो कर दिया. लेकिन घटनास्थल पर पहुंची मीडिया को शुरुआत में से तीन ही लाशें दिखाई दीं. लेकिन बाद में थोड़ी दूर पर चौथी लाश भी बरामद हुई.    

काफी देर तक रहा चौथी लाश पर सस्पेंस

हैदराबाद: महिला वेटनरी डॉक्टर के हत्यारे अपने अंजाम तक पहुंच गए. पुलिस ने पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी है, आखिर कैसे और किन परिस्थितियों में उन्हें आरोपियों को गोली मारनी पड़ी. 

काफी देर तक चलता रहा हंगामा

एनकाउंटर स्थल पर पहुंची मीडिया को संदिग्ध रेपिस्टों की लाशें तो मिलीं. लेकिन शुरुआत में वहां पहुंची मीडिया को तीन ही लाशें दिखाई दी थीं. जबकि पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया था. 

इसमें से पहले का नाम मोहम्मद आरिफ, दूसरे का नाम जोल्लु शिवा, तीसरा जोल्लु नवीन और चौथे का नाम था चेन्नाकेशुवुलु. लेकिन बाद में चौथी लाश भी थोड़ी देर बाद बरामद हो गई. 

पूरे देश में सुर्खियों में है खबर

आज सुबह जैसे ही ये खबर मिली कि पुलिस ने उन सभी आरोपियों का एनकाउंटर कर दिया है जो वेटनरी डॉक्टर की हत्या के आरोपी हैं, तुरंत देश भर में कहीं से पुलिस की तारीफ तो कहीं से आलोचना खी खबरें आईं.

मायावती ने इस घटना का समर्थन किया तो उन्हीं की पार्टी के सांसद दानिश अली ने एनकाउंटर को गलत ठहरा दिया. भाजपा सांसद मेनका गांधी ने इसे भयावह और निंदनीय करार दिया. 

मेनका गांधी ने कहा, ‘जो भी हुआ है देश के लिए बहुत भयानक हुआ. आप चाहते हो, सिर्फ इसलिए लोगों को नहीं मार सकते। आप कानून को अपने हाथों में नहीं ले सकते हैं. जया बच्चन ने कहा, ‘‘देर आए, दुरुस्त आए। देर आए, बहुत देर आए.’

अरविंद केजरीवाल ने बताया चिंताजनक

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस एनकाउंटर पर चिंता जाहिर की है. उन्होंने कहा कि न्यायिक व्यवस्था पर लोगों का भरोसा खत्म हो गया है. सभी सरकारों को अपराध के ऐसे मामले में जल्द एक्शन (कार्रवाई) लेना चाहिए और दोषियों को सजा देनी चाहिए. लोगों का न्याय व्यवस्था से भरोसा उठ रहा है. हमें इस पर संज्ञान लेना होगा.

आज सुबह हुआ था एनकाउंटर

तेलंगाना दुष्कर्म के चारों आरोपियों का पुलिस ने एनकाउंटर कर दिया है. डीसीपी प्रकाश रेड्डी ने कहा कि पूछताछ और घटना को रीक्रिएट करने के दौरान आरोपी खुद को छुड़ा कर भागने लगे और उन्होंने पुलिसकर्मियों पर फायरिंग भी की. पुलिस की जवाबी कार्रवाई में चारों आरोपी मारे गये. ये घटना सुबह हुई.

आरोपियों ने बर्बर वारदात को दिया था अंजाम 

बता दें कि 27-28 नवंबर की रात को हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ हैवानियत की वारदात को अंजाम दिया गया था. महिला डॉक्टर की स्कूटी पंक्चर पंक्चर हो गई थी. जब वह स्कूटी पार्क कर रही थी, तभी चारों दरिंदों ने हैवानियत की वारदात को अंजाम दिया था. इसके बाद चारों आरोपियों ने डॉक्टर के साथ दरिंदगी की और गला दबाकर हत्या कर दी थी. इसके बाद रेप पीड़िता के शव को जला दिया गया था.