'शांति पर्व' पर कौन सा विजय 'मंत्र' दे सकते हैं प्रधानमंत्री? जानिए, 10 मुख्य बातें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुद्ध पूर्णिमा के अवसर वीडियो कांफ्रेंसिंग से समारोह को संबोधित करेंगे. कोरोना योद्धाओं के सम्मान में आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम में पीएम मोदी किन-किन बड़े मुद्दों पर संबोधित कर सकते हैं? जानिए इस खास रिपोर्ट में...

'शांति पर्व' पर कौन सा विजय 'मंत्र' दे सकते हैं प्रधानमंत्री? जानिए, 10 मुख्य बातें

नई दिल्ली: आज बुद्ध पूर्णिमा का पावन अवसर है, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मौके पर कोरोना वारियर्स का सम्मान करने का फैसला लिया है. दुनिया भर के बौद्ध संघों के साथ प्रधानमंत्री वर्चुअल प्रार्थना सभा के जरिए जुड़ेंगे. इस दौरान पीएम मोदी का संबोधन भी होगा. सबसे पहले आपको ये बताते हैं कि अपने संबोधन में पीएम मोदी क्या-क्या बोल सकते हैं.

बुद्ध पूर्णिमा पर क्या संदेश दे सकते हैं पीएम मोदी?

1. भारत के फ्रंटलाइन कोरोना वॉरियर्स की चुनौती
2. महामारी से पीड़ित लोगों के प्रति समाज का बर्ताव
3. कोरोना के चलते लगातार हो रहे नुकसान का मुद्दा
4. लॉकडाउन के दौरान खुद को संतुलित रखने के तरीके
5. कोरोना को रोकने के तरीकों पर प्रभावी अमल कैसे
6. कोरोना काल में जारी डिप्रेशन पर कैसे विजय पाएं
7. कोरोना काल में जान और जहान बचाने की चुनौती
8. स्वास्थयकर्मियों और मेडिकल टीम के लिए सम्मान
9. बुद्ध के करुणा संदेश से मानवता का मार्गदर्शन
10. महात्मा बुद्ध के सत्य और शांति संदेश से प्रेरणा

उम्मीद आतंकिस्तान को सख्त संदेश देने की भी है. पीएम मोदी अपने संबोधन में पाकिस्तान को ये बात समझा सकते हैं कि शांति की धरती कश्मीर पर अब आतंक बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. 

शांति पर्व पर आतंक को संदेश देंगे प्रधानमंत्री?

  • बुद्ध की धरती कश्मीर में आतंकवाद की 'खेती'
  • शांति के संदेश देने वाले कश्मीर में आतंक कबतक
  • कश्मीर के भटके युवाओं के पीछे 'आतंकिस्तान'
  • भारत शांति का ही नहीं शौर्य का भी पुजारी
  • पाकिस्तान में पलने वाले आतंक पर 'निर्णायक प्रहार'

बुद्ध पूर्णिमा पर आज का कार्यक्रम?

बुद्ध पूर्णिमा के मौके पर वर्चुअल प्रार्थना समारोह का आयोजन हो रहा है. लॉकडाउन 3.0 में प्रधानमंत्री मोदी का आज पहला संदेश देंगे. कोरोना वॉरियर्स और पीड़ितों के सम्मान में कार्यक्रम का आयोजन किया गया है. दुनिया के 5 से ज्यादा बौद्ध केंद्रों पर प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया है, इंटरनेशल बुद्धिस्ट कन्फेडरेशन की ओर से आयोजन किया गया है.

आज कहां-कहां प्रार्थना सभा?

अब आपको बताते हैं कि बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर कहां-कहां प्रर्थना सभा है. पहला नेपाल का लुम्बिनी, दूसरा बोधगया के महाबोधि मंदिर, तीसरा उत्तर प्रदेश के सारनाथ, चौथा उत्तर प्रदेश के कुशीनगर और पांचवा श्रीलंका अनुराधापुरा स्तूप पर प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया है.

इसे भी पढ़ें: बुद्ध पूर्णिमा पर पीएम मोदी का दुनिया को संदेश

माना जा रहा है कि प्रधानंमत्री आज कोरोना के खिलाफ लड़ रहे फ्रंटलाइन वारियर्स के साहस, संयम और शौर्य की सराहना करेंगे. इसे एक संयोग ही कहेंगे कि देश दुनिया में कोरोना का कहर जारी है और इसी बीच दुनिया को सम्यक संदेश देने वाले भगवान बुद्ध की जयंती मनाई जा रही है.

इसे भी पढ़ें: देशभर में वायरस ने फैलाई दहशत! जानिए, कोरोना काल में क्या है भारत का हाल?

इसे भी पढ़ें: जल्द शुरू हो सकता है पब्लिक ट्रांसपोर्ट! नितिन गडकरी ने दिए संकेत