रूस में स्पूतनिक-वी टीके की पैकिंग पर WHO को थी चिंताएं, अब दूर हो गईं!

'फार्मास्टैंडर्ड-यूएफएवीटा' कंपनी ने ये दावा किया है कि रूस में स्पूतनिक-वी टीके की शीशियां भरने वाली इकाई से जुड़ी डब्ल्यूएचओ की चिंताएं दूर की गईं.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Jun 23, 2021, 10:28 PM IST
  • दूर की गईं WHO की चिंताएं
  • जानिए क्या है पूरा माजरा?
रूस में स्पूतनिक-वी टीके की पैकिंग पर WHO को थी चिंताएं, अब दूर हो गईं!

नई दिल्ली: रूस में स्पूतनिक-वी टीके की शीशियां भरने वाली इकाई की संचालनकर्ता कंपनी 'फार्मास्टैंडर्ड-यूएफएवीटा' ने बुधवार को कहा कि रूस स्थित इकाई को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कुछ चिंताएं जतायी थीं और इसे लेकर इकाई का निरीक्षण किया था.

48 घंटे के अंदर दूर की गई चिंता

कंपनी ने एक बयान में दावा किया डब्ल्यूएचओ के निरीक्षण दल द्वारा उठाए गए मुद्दों को 48 घंटे के अंदर ही दूर किया गया. इकाई का निरीक्षण 31 मई से चार जून के दौरान किया गया था.

भारत में कोविड-19 रोधी स्पूतनिक-वी टीके की 25 करोड़ खुराकें उपलब्ध कराने को लेकर दवा निर्माता कंपनी डॉ रेड्डीज लेबोरेट्रीज ने रूसी प्रत्यक्ष निवेश कोष के साथ करार किया है. भारतीय दवा नियामक ने हाल ही में इस टीके के उपयोग को मंजूरी दी है.

WHO ने अंतरिम रिपोर्ट में क्या कहा?

डब्ल्यूएचओ (WHO) ने अपनी अंतरिम रिपोर्ट में कहा, 'जैम-कोविड-वैक के उत्पादन एवं गुणवत्ता नियंत्रण गतिविधियों के दौरान सूक्ष्मजीव विज्ञान एवं पर्यावरण निगरानी के आंकड़ों और परीक्षण परिणामों के संबंध में चिताएं सामने आई थीं. जैम-कोविड-वैक को भरने की प्रक्रिया के दौरान एक उपयुक्त पर्यावरण निगरानी कार्यक्रम का पालन करने के संबंध में चिंताओं का पता लगाया गया था.'

रूसी दवा कंपनी ने एक बयान में कहा कि डब्ल्यूएचओ ने उत्पाद एवं तैयार टीके की सुरक्षा एवं प्रभाव के संबंध में कोई सवाल खड़ा नहीं किया है, क्योंकि स्पूतनिक-वी के उत्पादन के दौरान गमालया संस्थान एवं रूसी स्वास्थ्य नियामक के दोहरे गुणवत्ता नियंत्रण कार्यक्रम का पालन किया जाता है.

इसे भी पढ़ें- Corona in India: देश में 3 करोड़ के पार पहुंचा कोरोना का आंकड़ा, 24 घंटों में 1,358 लोगों की मौत

कंपनी ने कहा कि डब्ल्यूएचओ की अंतरिम रिपोर्ट में टीके के उत्पादन, गुणवत्ता, नैदानिक अध्ययन, संभावित दुष्प्रभाव और दोहरे गुणवत्ता नियंत्रण को लेकर कोई चिंता जाहिर नहीं की गई है. कंपनी ने कहा कि वह डब्ल्यूएचओ को एक बार फिर निरीक्षण के लिए आमंत्रित करेगी.

इसे भी पढ़ें- दिल्ली में सबसे बड़ी बैठक: जम्मू कश्मीर, परिसीमन और पॉलिटिक्स से जुड़ी सारी जानकारी

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़