कौन हैं झारखंड के आदर्श गौरव? जिन्हें मिला है बाफ्टा में अभिनय के लिए नॉमिनेशन

आदर्श ने बलराम हलवाई के किरदार में आने के लिए कई दिनों तक चाय की दुकान पर काम किया. इस काम के लिए उन्हें रोजाना 100 रुपये मिलते थे. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Mar 11, 2021, 08:09 AM IST
  • 'माई नेम इज खान' में कर चुके हैं अभिनय
  • 'द व्हाइट टाइगर' में निभाई बलराम हलवाई की भूमिका
कौन हैं झारखंड के आदर्श गौरव? जिन्हें मिला है बाफ्टा में अभिनय के लिए नॉमिनेशन

नई दिल्ली: झारखंड के रहने वाले अभिनेता आदर्श गौरव को साल 2021 के ब्रिटिश एकेडमी ऑफ फिल्म एंड टेलीविजन आर्ट्स यानी बाफ्टा 2021 के सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के पुरस्कार के लिए नामित हुए हैं.

हाल ही में अरविंद अडिगा के नॉवेल 'द व्हाइट टाइगर' पर इसी शीर्षक से बनी प्रियंका चोपड़ा अभिनीत फिल्म में आदर्श गौरव ने बलराम हलवाई की भूमिका अदा की थी. इसके लिए उन्हें नामांकित किया गया है. 

रामिन बहरानी द्वारा निर्देशित फिल्म में आदर्श गौरव के अभिनय की बहुत सराहना हुई. उनके साथ राजकुमार राव और प्रियंका चोपड़ा ने अभिनय किया है.

प्रियंका चोपड़ा इस फिल्म की एक्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर भी थीं. आदर्श गौरव के साथ रिज अहमद (साउंड ऑफ मेटल), चैडविक बोसमैन (मा रैनेस ब्लैक बॉटम), एंटनी हॉपकिन्स (द फादर), मैड्स मिकेलसन (एनअदर राउंड), ताहर रहीम( द माउंटेरियन) को नॉमिनेशन मिला है. 

ऐसे शुरू हुआ एक्टिंग का सफर 
जब आदर्श आठवीं में थे तब उनके पिता का ट्रांसफर मुंबई हो गया. ऐसे में पूरा परिवार मुंबई शिफ्ट हो गया. आदर्श गायक भी हैं ये उनके परिवार की मुंबई शिफ्ट होने की एक बड़ी वजह भी थी.

मुंबई आने के बाद आदर्श को एक्टिंग करने का एक मौका मिला. वो भूमिका एक उत्साही किशोर की थी उन्होंने वो भूमिका निभाई और उसके बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा. 

उन्होंने साल 2010 में आई शाहरुख खान की फिल्म माइ नेम इज खान और 2017 में आई श्रीदेवी की आखिरी फिल्म मॉम में अभिनय किया. वो अब तक 50 से ज्यादा टीवी और डिजिटल विज्ञापनों में काम कर चुके हैं.

वो  लैला, डाइ ट्रायिंग और हॉस्टल डेज जैसी लोकप्रिय वेबसीरीज में भी नजर आए थे. 

यह भी पढ़िए: Mahakumbh 2021: सीएम बनते ही एक्शन में तीरथ सिंह रावत, शाही स्नान से पहले लिये धड़ाधड़ फैसले

आदर्श को कैसे मिली व्हाइट टाइगर  
आदर्श जब व्हाइट टाइगर के लिए ऑडिशन देने पहुंचे तब उनके हाथ में दो से ज्यादा फिल्में थीं. उन्हें तब ये नहीं मालूम था कि उन्हें इस फिल्म में मुख्य भूमिका के लिए चुना जाएगा क्योंकि यह रोल उनके मिजाज का नहीं था.

व्हाइट टाइगर के ऑडिशन के एक महीने बाद फिल्म के निर्देशक रमीम बहरानी ने उन्हें फोन करके बताया कि उन्हें फिल्म में बलराम हलवाई की भूमिका के लिए चुना गया है. निर्देशक रमीम बहरानी को भी बाफ्टा अवार्ड में एडॉप्टेड स्क्रीनप्ले केटेगरी के लिए चुना गया है. 

रोल करने के लिए चाय की दुकान में किया काम
जब आदर्श को बलराम हलवाई का रोल मिला तो उनके पास इसकी तैयारी के लिए तीन महीने का वक्त था. उन्होंने इस मौके का फायदा उठाते हुए अपने दोस्त को झारखंड स्थित अपने गांव चलकारी बस्ती ले चलने को कहा.

आदर्श ने इस अनुभव को आंख खोलने वाला बताते हुए कहा, जब वहां उन्होंने लोगों से बात की तो उन्हें गांव के लोगों के शहर के बारे में नजरिए और आशाओं के बारे में पता चला. 

गांव में दो सप्ताह गुजारने के बाद वो दिल्ली आ गए. फिल्म में बलराम का रोल दिल्ली की एक चाय की दुकान में काम करने था तो उस भूमिका को गहराई से समझने के लिए दिल्ली के साकेत में चाय की दुकान पर काम ढूंढना शुरू कर दिया और उन्हें काम भी मिल गया.

चाय की दुकान पर काम करने के लिए वो बलराम की वेशभूषा में आ गए और अपने बाल और दाढ़ी को बेतरतीब तरीके से रखने लगे.

चाय की दुकान पर बर्तन धुलने के मिलते थे 100 रुपये 
बलराम के कैरेक्टर में आने के लिए वो कई सप्ताह तक नहीं नहाए. चाय की दुकान पर लोगों को चाय देने और प्लेट साफ करने के लिए उन्हें रोजाना 100 रुपये मिलते थे. वो अनुभव उनके लिए बहुत खराब रहा.

एक दिन जब वो गटर के पास बैठकर प्लेट साफ कर रहे थे तो उन्हें लगा कि ये काम मैं क्यों कर रहा हूं? यही बात उनके करैक्टर बलराम के अंदर चाहिए थी कि वो ये काम क्यों कर रहा हूं? क्या मैं इससे बेहतर जीवन नहीं जी सकता?

इसके बाद आदर्श फिल्म में अपनी भूमिका के साथ पूरी तरह न्याय कर सके. कैरेक्टर में पूरी तरह उतरने की वजह से हर जगह उनके अभिनय की तारीफ हो रही है और वो अब वो बाफ्टा पुरस्कार हासिल करने के करीब पहुंच गए हैं.

यह भी पढ़िए: बड़ी खबर: हरियाणा में गिरा खट्टर सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप. 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़