Year Ender 2019: भारतीय वायुसेना की ताकत का परिचायक रहा ये साल!

2019 का साल वायुसेना के लिए क्यों याद रखा जाएगा? इसे समझने के लिए आपको आज से करीब 10 महीने पहले फरवरी महीने की यादों से रूबरू कराते हैं. जब मिराज 2000 ने बालाकोट में तबाही मचाई थी और पाकिस्तान बेनकाब हो गया था.

Year Ender 2019: भारतीय वायुसेना की ताकत का परिचायक रहा ये साल!

नई दिल्ली: हिंदुस्तान के उस सबसे बड़े बदलाव का गवाह ये पूरा साल 2019 रहा है, जो जो आजादी के 72 साल बाद संभव हुआ था. पहली बार हमारी सेना ने पाकिस्तान में एयर स्ट्राइक से आतंकियों को तबाह कर दिया था. क्योंकि साल 2019 के शुरुआत में ही पाकिस्तान ने वो पाप कर दिया था. जिसकी सजा उसे जरूर मिलनी थी. और इसके लिए 26 फरवरी 2019 की तारीख मुकर्रर हुई.

26 फरवरी 2019

ये वो तारीख थी जिस दिन भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान की सीमा में घुसकर अपने शौर्य का प्रदर्शन किया था. भारतीय सेना के पराक्रम को देखकर न सिर्फ आतंकियों के बल्कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और पाकिस्तानी सेना प्रमुख कमर जावदे बाजवा के भी होश उड़ गए थे.

पुलवामा आतंकी हमले के बाद नरेंद्र मोदी सरकार ने पाकिस्तान को सबक सिखाने का फैसला लिया. और इसे अंजाम तक भारतीय वायुसेना ने पहुंचाया था. भारतीय वायुसेना के विमानों ने पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर जैश ए मोहम्मद के आतंकी कैंपों को तबाह कर दिया था. इस हमले में जैश के करीब 300 आतंकी मारे गए थे.

बालाकोट में वायुसेना का 'सुपरहिट' शौर्य

  • बालाकोट एयरस्ट्राइक के लिए ग्वालियर में तैनात 12 मिराज तैयार किये गये
  • मिराज-2000 विमानों ने 3:43 AM से 4:04 AM तक बमबारी की
  • 26 फरवरी को वायुसेना के विमानों ने आतंकी कैंपों पर 6 बम गिराये गए
  • भारतीय वायुसेना ने आतंकी ठिकानों पर स्पाइस-2000 बम गिराए

पाकिस्तान से भारत का बदला लेने वाले हथियार का नाम मिराज था. साल 2019 में मिराज एयरफोर्स का छुपा रुस्तम साबित हुआ. भारत ने मिराज से पाकिस्तान के परखच्चे उड़ा दिए.

दमदार है मिराज-2000

बालाकोट में इस्तेमाल हुए 'मिराज-2000' मल्टीरोल, सिंगल इंजन फाइटर प्लेन है. मिराज 2000 एक साथ कई निशाने पर हमला कर सकता है. हवा से जमीन और हवा से हवा में भी मार करने में माहिर है. मिराज-2000 की अधिकतम रफ्तार 2,000 किमी/घंटा है. मिराज-2000 ने 1970 में पहली बार उड़ान भरी थी. जिसका निर्माण फ्रांस में का किया जाता है. भारत समेत 9 देश इस लड़ाकू विमान का इस्तेमाल करते हैं. भारत के पास 51 मिराज-2000 विमानों का बेड़ा है. मिराज के इस एक्शन के बाद दुनिया ने माना कि 2019 भारतीय वायुसेना के लिए गोल्डन ईयर रहा.

अभिनंदन ने पाकिस्तान में घुसकर दिखाई थी जाबांजी

मिराज के एक्शन के बाद पाकिस्तान ने हिंदुस्तान के पराक्रम बालाकोट एयरस्ट्राइक के अगले दिन भी देखा. जब वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने पाकिस्तान में घुसकर जाबांजी दिखाई थी. वायुवीर अभिनंदन ने मिग-21 बायसन विमान से भारतीय सीमा में घुसे पाकिस्तानी F-16 विमान को न सिर्फ खदेड़ा. बल्कि उसे मार गिराया था. 

हालांकि इसके बाद पाकिस्तान ने अभिनंदन को पकड़ लिया था. लेकिन फिर वो एक दिन में ही घुटने के बल आकर अभिनंदन को छोड़ने पर मजबूर हुआ था.

Year Ender 2019: थल सेना का वो कमाल, जिसे याद करके थर्रा उठेगा PAK

भारतीय वायुसेना की ताकत दिन-ब-दिन बढ़ती ही जा रही है, जिससे पाक की हालत गीदड़ों जैसी हो गई है. साल 2019 में हमारे पास राफेल आ गया. कुल 36 रफाल हमें मिलने हैं. फ्रांस ने 3 राफेल भारत को सौंप दिया है. 2020 में कुछ और राफेल हमें मिल जाएंगे.

Year Ender 2019: साल की वो घटनाएं जिन्होंने बदल डाली अंतर्राष्ट्रीय तस्वीर