आखिर कब तक लुटता रहेगा बसपा सुप्रीमो का केक

15 जनवरी को मायावती 64 साल की हो गईं. इस मौके पर लखनऊ में उनका जन्मदिन भव्य तरीके से मनाया. कार्यकर्ताओ ने 64 किलो का केक मंगवाया था. यह काफी रंगबिरंगा और देखने में खूबसूरत था. इस बार उनके जन्म दिन को जनकल्याणकारी दिवस के तौर पर मनाया गया है. 

आखिर कब तक लुटता रहेगा बसपा सुप्रीमो का केक

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश की पूर्व सीएम, बसपा की मुखिया और दलित नेता के तौर पर राजनीति में साख बनाने वाली मायावती बुधवार को 64 साल की हो गईं. उनका जन्मदिवस बेहद खास होता है. बल्कि बसपा के कार्यकर्ताओं के लिए तो बहुत ही खास होता है. इस दिन को बसपा कार्यकर्ता खुशी-खुशी मनाते हैं. लेकिन बस थोड़े से अनुशासन की कमी इस आयोजन की छवि खराब कर देता है. दरअसल इस मौके पर कार्यकर्ता केक काटते हैं, लेकिन यह केक बंट नहीं पाता है बल्कि कई बार लूट लिया जाता है. इसके चक्कर में कुर्सी-मेज, मंच सब धराशाई हो जाते हैं.  

बसपा मुखिया ने मनाया 64वां जन्मदिन
15 जनवरी को मायावती 64 साल की हो गईं. इस मौके पर लखनऊ में उनका जन्मदिन भव्य तरीके से मनाया. कार्यकर्ताओ ने 64 किलो का केक मंगवाया था. यह काफी रंगबिरंगा और देखने में खूबसूरत था. इस बार उनके जन्म दिन को जनकल्याणकारी दिवस के तौर पर मनाया गया है. इस मौके पर उन्होंने लखनऊ पार्टी कार्यालय पर ब्लू बुक 'मेरे संघर्षमय जीवन एवं बसपा मूवमेंट का सफरनामा भाग-15 का विमोचन किया.

इसके बाद कार्यकर्ताओं ने केक काटा और लोगों में वितरित किया. जन्मदिन के मौके पर भी बसपा मुखिया ने भाजपा और कांग्रेस पर निशाना साधा. इसके साथ ही उन्होंने सीएए पर भी सवाल उठाया व कहा कि बसपा इसका विरोध करती है. 

इटावा में पहले खुद खाया, फिर खिलाया गया
प्रदेश के अलग-अलग जिलों में मायावती का जन्मदिन मनाया गया. इस मौके पर इटावा से जो तस्वीरें आईं वह काफी चौंकाने वाली हैं. दरअसल यहां पर कार्यकर्ता उनका जन्मदिन मनाने के लिए जुटे थे. केक काटने की रस्म चल रही थी, लेकिन केक काट रहे नेताओं ने पहले खुद ही आपस में केक चख लिया, उसके बाद उन्हें ध्यान आया कि अपनी मुखिया को भी केक भेंट करना है. तो सबके खाने के बाद केक मायावती की तस्वीर पर लगा दिया गया. इसके बाद कुछ देर तो स्थिति सामान्य रही, लेकिन जैसे ही केक बंटने की शुरुआत हुई उससे पहले ही मिनट भर के अंदर केक लूट लिया गया. 

पिछले साल भी लूट लिया गया था केक
पिछले साल 63वें जन्मदिन के मौके पर भी बसपा सुप्रीमो का केक लूट लिया गया था. उत्तर प्रदेश के अमरोहा जिले से इसकी तस्वीरें और वीडियो आई थीं. मायावती ने भले ही अपना 63वां जन्मदिन सामान्य तरीके से मनाया हो, लेकिन उनके कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह 63 किलो का केक मंगवाया था. उत्तर प्रदेश के अमरोहा में भी बसपा कार्यकर्ताओं ने मायावती के जन्मदिन पर कार्यक्रम आयोजित किया था, जिसमें 63 किलो का केक ऑर्डर किया गया, लेकिन समर्थकों ने उसे बर्बाद कर दिया.

समर्थक केक कटने के बाद मिलने का इंतजार किए बिना ही उसे पर सीधे टूट पड़े थे और उन्होंने केक लूटना शुरू कर दिया. इस दौरान केक के पास मौजूद कुछ लोगों ने केक लूटने वाले समर्थकों को दूर हटाने की कोशिश की. बसपा समर्थकों की यह हरकत कैमरे में कैद हो गई थी. यह एक सिलसिला चलता आ रहा है, जब भी मायावती का जन्मदिन मनाया जाता है, कार्यकर्ताओं में अनुशासन की कमी दिखती है. कार्यकर्ता केक के लिए लड़ते-भिड़ते नजर आते हैं. 

भीम आर्मी चीफ को जमानत, अदालत ने कहा, आप प्रदर्शन नहीं करेंगे