भारत में हर 7 लोगों में से 1 हैं मानसिक रोग से पीड़ित

लोगों में डिप्रेशन और एंग्जाइटी की बढ़ती समस्या को देखते हुए भारतीय चिकित्सकों ने एक अध्ययन किया. इस स्टडी से यह बात सामने आई है जो लोगों को परेशान कर सकता है. रिपोर्ट में यह पता चला है कि भारत में रहने वाले लोगों में हर सात व्यक्ति में से एक व्यक्ति मानसिक रोग से पीड़ित है.

भारत में हर 7 लोगों में से 1 हैं मानसिक रोग से पीड़ित
नई दिल्ली: 2017 की विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट के अनुसार देश की जनसंख्या का 7.5% हिस्सा मानसिक रोग की समस्या से पीड़ित था. वहीं 2005 से 2015 के बीच दुनिया में डिप्रेशन के मामले 18 प्रतिशत बढ़े थे. जिसमें दुनियाभर में डिप्रेशन से करीब सवा तीन करोड़ लोग पीड़ित थे औक इनमें से लगभग आधे दक्षिण-पूर्वी एशिया के रहने वाले लोग थे. 
 
बच्चों व किशोरों हैं सबसे ज्यादा मानसिक रोग से पीड़ित
अध्ययन की बात की जाए तो बच्चे व किशोरावस्था वर्ग मनोरोग के सबसे अधिक पीड़ित हैं. इनमें बौद्धिक अक्षमता और सनकपन 4.5 फीसदी, आचरण संबंधी समस्या 0.8 फीसदी, ध्यान नहीं देने की बीमारी 0.42 फीसदी और ऑटिज्म (आत्मकेंद्रित) की बीमारी 0.35 फीसदी बताई गई है.
 
डिप्रेशन की वजह से खुदखुशी करने के मामलों में बढ़ोतरी
भारत में खुदकुशी एक गंभीर समस्या है. अवसाद की वजह से लोग खूद पर काबू नहीं कर पाते हैं और अपनी जान तक की परवाह नहीं करते हैं. यह बीमारी पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में ज्यादा पाई गई है. 1990 से 2017 के बीच मानसिक रोग का प्रसार करीब दोगुना हो गया है यह रिसर्च हाल ही में लांसेट सैकियाट्री जर्नल में प्रकाशित की गई है.
 
 
भारत के टॉप 5 राज्य जहां सबसे ज्यादा है डिप्रेशन की समस्या
 
सबसे ज्यादा डिप्रेशन                                        
1. तमिलनाडु
2. आंध्रप्रदेश
3. तेलंगाना
4. केरल
5. गोवा
 
डिप्रेशन की समस्या में सबसे कम जूझ रहे राज्य
 
सबसे कम एंग्जाइटी 
1. मध्यप्रदेश
2. छत्तीसगढ़
3. उत्तरप्रदेश
4. बिहार
5. मेघालय