दाल का तड़का भी मिलावटखोरी का शिकार

आम तौर पर खाने में मिलावट की खबरें आती रहती हैं. लेकिन अब एक ऐसी खबर आई है, जिसे जानकर आप चौंक जाएंगे. आपकी दाल को स्वादिष्ट बनाने वाला जो तड़का लगाया जाता है. उसे भी मिलावटखोरों ने दूषित कर दिया है. 

दाल का तड़का भी मिलावटखोरी का शिकार
दिल्ली में नकली जीरे का कारोबार

दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी से एक सनसनीखेज खबर आई है. यहां झाड़ू के फूल से नकली जीरा तैयार किया जा रहा था. 

सेहत बिगाड़ने वाला तड़का
अगर आप अपनी रसोई में जीरे का तड़का लगाते है तो ये खबर देखकर आपको बेहद तकलीफ होगी. क्योंकि नकली जीरे का तड़का आपकी सेहत खराब कर सकता है. दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे गैंग का पर्दाफाश किया है. जो चंद पैसों के मुनाफे के लिए हमारी ओर आपकी सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहा था.  इस गैंग के लोग दिल्ली के बवाना इलाके में नकली जीरा बनाते थे. 

दूर दूर तक करते थे सप्लाई
नकली जीरा बनाने वाले लोग इसे ऐसे मुनाफाखोरों को सप्लाई करते थे, जो असली जीरा में नकली जीरा में मिला देते थे  ताकि असली ओर नकली में अंतर कर पाना मुश्किल हो. पुलिस के मुताबिक 100 किलो की अगर बोरी में 80 किलो असली जीरा और 20 किलो नकली जीरा होता था. ये गैंग नकली जीरा की सप्लाई राजस्थान, उत्तर प्रदेश और गुजरात के मंडियों में करता था. 

बहुत सस्ती कीमत पर बेचते थे नकली जीरा
मिलावटखोर नकली जीरा को 20 रुपये किलो बेचते थे. जबकि असली जीरा का बाजार भाव 400 रुपये प्रति किलो है। पुलिस ने इनके पास से 19400 किलो नकली जीरा बरामद किया है. 

झाड़ू के फूल से बना देते थे नकली जीरा
बवाना में पुलिस ने मिलावटखोरों के पास से बड़ी मात्रा में नकली जीरा बनाने का में रॉ मेटेरियल भी बरामद किया है. नकली जीरा बनाने के लिए ये गैंग फूल झाड़ू वाली घास, जिसे जंगली घास भी कहते है, पिसा हुआ बारीक पत्थर और  गुड़ का शीरा, इस्तेमाल करते थे. ये लोग सबसे पहले पत्थर का चूरा बना लेते थे उसमे जंगली घास मिलाई जाती थी. फिर उसमें गुड़ का शीरा मिलाते थे. जिसके बाद इस पेस्ट को सुखा लिया जाता था. इस तरह ये लोग कई क्विंटल नकली जीरा  बनाकर उसे बाजार में बेच चुके हैं. 

गैंग का मास्टमाइंड अब तक फरार
पुलिस ने इस गैंग के पांच लोगों को गिरफ्तार किया है. ये सभी उत्तर प्रदेश के शाजहाँपुर के जलालाबाद के रहने वाले है. ये सभी परसेंटेज के हिसाब से पार्टनरशिप पर काम करते थे. इनका मास्टर माइंड और गैंग का सरगना लालू अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है.  ये गैंग पिछले ढाई महीने से दिल्ली में किराए के गोदाम लेकर नकली जीरा बनाने का धंधा कर रहा था.