फर्जी शिक्षकों के बड़े रैकेट का भंडाफोड़, यूपी के शिक्षा विभाग में हड़कंप

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में बेसिक शिक्षा विभाग की एक जांच में 42 फर्जी शिक्षकों का पता चला है. जिसमें से 27 पर केस दर्ज किया गया है. शिक्षा विभाग में इतने बड़े घोटाले की बात सामने आने के बाद हड़कंप मच गया है. 

फर्जी शिक्षकों के बड़े रैकेट का भंडाफोड़, यूपी के शिक्षा विभाग में हड़कंप

शाहजहांपुर : यहां हुई जांच में बेसिक शिक्षा विभाग में फर्जी प्रमाण पत्रों के आधार पर नौकरी कर रहे 42 शिक्षकों के नाम सामने आए हैं. जिसमें से 27 फर्जी शिक्षकों पर एफआईआर दर्ज कराई गई है.

कार्रवाई से हड़कंप
उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में फर्जी शिक्षकों के रैकेट का भंड़ाफोड़ होने के बाद अफरा तफरी है . बेसिक शिक्षा विभाग ने फर्जी प्रमाण पत्रों के आधार पर नौकरी कर रहे 42 शिक्षकों का खुलासा किया है.  बीएसए की इस कार्रवाई से बेसिक शिक्षा विभाग में हड़कंप मचा हुआ है.

शिक्षा विभाग ने चलाया  है अभियान
बेसिक शिक्षा विभाग ने शिक्षा व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए फर्जी शिक्षकों के खिलाफ अभियान चला रखा है. शिक्षकों के प्रमाण पत्रों की जांच की जा रही है. इसी दौरान बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने शाहजहांपुर में शिक्षकों का वैरिफिकेशन किया,इस दौरान उन्हें कुछ विसंगतियां मिली थी. उसके बाद 42 शिक्षकों को नोटिस जारी किया था. जब संतुष्ट जवाब नहीं मिला, तो बेसिक शिक्षा विभाग ने 27 फर्जी शिक्षकों पर एफआईआर दर्ज करवा दी.  

अलग अलग स्थानों पर दर्ज हुई एफआईआर
बताया जा रहा है कि जिला बेसिक शिक्षा विभाग ने जिले के आठ ब्लॉक में 27 शिक्षकों के खिलाफ अलग-अलग स्थानों में एफआईआर दर्ज करवाई है. 27 शिक्षकों पर FIR की कार्रवाई पिछले 2 दिनों के अंदर की गई है. जानकारी के मुताबिक, अभी 15 और शिक्षकों के खिलाफ FIR की कार्रवाई चल रही है.आपको बता दें कि ये शिक्षक वर्ष 2011 से फर्जी टीईटी सर्टिफिकेट के आधार पर नौकरी कर रहे थे.

शाहजहांपुर से शिव कुमार की रिपोर्ट

ये भी पढ़ें- कमजोर पासवर्ड है साइबर क्राइम की सबसे बड़ी वजह

ये भी पढ़ें- कुंभ मेले के शानदार आयोजन पर कर्मचारियों को सम्मानित करेगी योगी सरकार

ये भी पढ़ें- सरसों तेल उत्पादन में आत्मनिर्भर बनेगा देश, 'मस्टर्ड मिशन' की शुरुआत