साक्षी-अजितेश की कहानी पहुंचेगी सात समुंदर पार

जातीय वर्जना को तोड़कर और तमाम हंगामे के बावजूद शादी करने वाले उत्तर प्रदेश के ब्राह्मण विधायक की बेटी साक्षी मिश्रा और दलित युवक अजितेश की कहानी अब जर्मनी की पत्रिका में छपेगी.   

साक्षी-अजितेश की कहानी पहुंचेगी सात समुंदर पार

लखनऊ: उत्तर-प्रदेश के रहने वाले प्रमी जोड़े साक्षी और अजितेश की कहानी अब देश के बाहर जर्मनी में भी पढ़ा जायेगी.  जर्मनी की मशहूर मैगजीन स्टेर्न दोनों की प्रेम कहानी को प्रकाशित करने जा रहा है.  बुधवार को स्टेर्न मैगजीन ने इस प्रेमी जोड़े का इंटरव्यू किया है.  जल्द ही साक्षी और अजितेश की कहानी इस प्रतिष्ठत मैगजीन में छपेगी. 

फेसबुक के जरिए किया संपर्क
ज़ी मीडिया से बात करते हुए अजितेश ने बताया कि स्टेर्न मैगजीन की तरफ से कुछ दिन पहले उन्हें फेसबुक के जरीये संपर्क किया गया था. उन्होंने हमारी लव स्टोरी में बेहद दिलचस्पी दिखाई और हम दोनों का इंरव्यू करना चाहते थे. हमने सहमति दी लिहाजा तीन लोगों की एक टीम हमारे घर आई बुधवार को हमारा इंटरव्यू किया. 

फिल्म इंडस्ट्री से भी प्रस्ताव
अजितेश ने यह भी बताया कि फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े कुछ लोगों ने भी हमसे संपर्क किया है. वो लोग हमारी कहानी पर फिल्म बनाना चाहते है. हालांकि अभी तक बात-चीत किसी अंजाम तक नही पहुंची है. लेकिन अगर शुरुआती चर्चा सफल होती है तो इस प्रेमी जोड़े की कहानी रुपहले पर्दे पर भी दिखाई दे सकती है. 

साल 2019 का है मामला 
साक्षी अजितेश का नाम मीडिया में तब उछला था जब साल 2019 में इन दोनों ने शादी की थी. यूपी के बरेली से बीजेपी विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी मिश्रा 3 जुलाई 2019 को अपने घर से अचानक गायब हो गई थीं. इसके बाद साक्षी ने अपने प्रेमी अजितेश से लव मैरेज कर लिया. 

10 जुलाई 2019 को दोनों ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो जारी कर दिया और इस वीडियो में साक्षी ने अपने ही परिवार से अपने जान को खतरा बताते हुए मदद की गुहार लगाई थी.  

इस वीडियो के वायरल होने के बाद यह मामला पूरे देश में काफी अचानक चर्चा में आ गया था. इसके बाद यह मामला कोर्ट में गया.  फिलहाल कोर्ट के आदेश पर इस प्रेमी जोड़े को सुरक्षा मुहैया कराई गई है.  साक्षी और अजितेश ने सोशल मीडिया पर भी खूब सुर्खियां बटोरी थी.