close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

रांची शहर को धोनी का एक और तोहफा

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान 'कैप्टन कुल' महेंद्र सिंह धोनी जल्द ही अपने शहर रांची में क्रिकेट अकादमी खोलने जा रहे हैं. इससे पहले भी कई जगहों पर क्रिकेट अकादमी खोल चुके हैं.  

रांची शहर को धोनी का एक और तोहफा

रांची: महेंद्र सिंह धोनी इंडिया के साथ-साथ विश्वभर में क्रिकेट को बढ़ावा देने के लिए कई क्रिकेट स्टेडियम खोलने की योजना बना चुके हैं जिनमें से कई स्टेडियम खोले भी जा चुके हैं. 

कई शहरों में क्रिकेट अकादमी खोल चुके हैं धोनी
धोनी ने भारत के कई शहरों पटना, बोकारो, लखनऊ, वाराणसी और नागपुर में अपनी क्रिेकेट अकादमी पहले से ही चला रहे हैं.

कुछ समय पहले धोनी ने इंदौर में अकादमी खोला था और अब सिलिगुड़ी में अकादमी खोले जाने की खबर है. साथ ही दुबई के पैसिफिक स्पोटर्स क्लब और आरका स्पोटर्स क्लब के साथ मिलकर अपना पहला अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम भी खोल चुके हैं. 

स्कूल के साथ मिलकर खोलेंगे अकादमी
खबरें हैं कि रांची में खोले जाने वाले स्टेडियम को धोनी किसी स्कूल के साथ मिलकर खोलेंगे जहां के बच्चे इस अकादमी में क्रिकेट का परीक्षण लेंगे. इसी प्रकार का क्रिकेट स्टेडियम धोनी ने झारखंड के बोकारो में भी खोला था.

3 साल पहले बोकारो के DPS स्कूल के साथ मिलकर अकादमी खोली गई थी. विदेशों में अकादमी खोले जाने में डरबन, हांग-कांग, सिंगापुर, सिडनी व बैंकाक का नाम शामिल है.

माही के ड्रीम प्रोजेक्ट के लिए जबरदस्त तैयारी
धोनी को 'माही' नाम से भी जाना जाता है. टीम इंडिया के पूर्व कप्तान कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी जल्द ही अपने होमटाउन में क्रिकेट स्टेडियम खोलने की तैयारी कर रहे हैं.

बताया जा रहा है कि इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी गई है और सब कुछ योजना अनुसार रहा तो रांची वासियों को उनका नया क्रिकेट स्टेडियम मिल जाएगा. 

इसलिए फेमस हैं धोनी 
धोनी ने 2007-2016 तक ODI व 2008-2014 तक टेस्ट मैचों में कप्तानी की. 2019 विश्व कप तक धोनी ने कुल 341 ODI मैच खेलें. जिसमें कुल 10500 रन जिनमें 10 शतक और 71 अर्धशतक शामिल है. माही पुरे विश्व के नंबर वन विकेट कीपर माने जाते हैं और इन्हें बेस्ट फीनिशर के नाम से भी जाना जाता है.

धोनी के शांत व विषम परिस्थिति में भी विचलित न होने के व्यवहार की वजह से इन्हें 'कैप्टन कुल' का नाम दिया गया. 2011 में, 28 साल बाद धोनी ने अपनी कप्तानी में इंडिया के नाम विश्व कप किया. साथ ही T20 के करियर का सबसे अधिक रन बनाने का रिकॉर्ड भी धोनी के नाम हैं.