विटामिन देकर कर्मचारियों की सुस्ती को दूर करा रहा है 'बेस्ट'

मुंबई महानगरपालिका के अधीन आने वाले 'बेस्ट कॉरपोरेशन' एक घाटे का उपक्रम कई बार जाहिर किया गया है. लेकिन इस घाटे के विभाग में तेजी लाने के लिए कई आर्थिक सहायता दी गई हैं ,तो कर्मचारियों के काम करने के तौर तरीको में भी कई बदलाव करके इसे गति देने की कोशि‌श कर रहा है.  

विटामिन देकर कर्मचारियों की सुस्ती को दूर करा रहा है 'बेस्ट'

मुंबई: मुंबई महानगरपालिका के 'बेस्ट कॉरपोरेशन' के तहत हुए जांच में 41 हजार कर्मचारियों में से 3500 कर्मचारियों का पहले दौर में मेडिकल चेकिंग से पता चला है कि तकरीबन 88 प्रतिशत कर्मचारी विटामिन डी की कमी से ग्रसित हैं. बेस्ट अब इन कर्मचारियों के साथ ही इनके परिवार के लोगों की भी जांच कर विटामिन डी की कमी को दूर कर एक स्वस्थ माहौल बनाने की तैयारी कर रहा है. तकरीबन 2 महीने तक बेस्ट प्रशासन अभियान चला कर इस बेस्ट कॉरपोरेशन के 27 डिपो में अभियान चलाएगा, जिससे इनके आर्थिक सेहत के साथ वास्तविक सेहत में भी सुधार हो सकें.

ड्रोन रखने वाले जल्द कराएं रजिस्ट्रेशन, हो सकती है कार्रवाई, लिंक पर क्लिक कर जानें खबर.

विटामिन डी की कमी और काम पर असर 
दरअसल बेस्ट के चीफ मेडिकल ऑफिसर के पास कर्मचारियों की बार-बार बीमारी को लेकर छुट्टी लेने की अर्जी आने लेगी थी. इस बात को गंभीरता से लेते हुए कर्मचारियों के हेल्थ चेकअप करने के लिए अभियान शुरू किया गया. जिन भी कर्मचारियों में विटामिन डी की कमी पाई गई उनमें - काम से अरुचि, काम के दौरान सुस्ती, काम पर ध्यान नहीं देने से बार-बार गलती होना, बस के ड्राइवर और कंडक्टर सफर के दौरान बेहोशी की शिकायत, चिड़चिड़ापन से परेशान, सहकर्मी से किसी भी बात पर बहस और हाथापाई, तरह के लक्षण दिखे जा रहे थे. इसके अलावा सामान्य बीमारी भी इन्हें घेरे रहता था. जिससे निजात पाने के लिए पहले चरण में दादर और परेल डिपो के कर्मचारियों की चेकिंग करके इलाज शुरू किया गया.

बजाज इलेक्ट्रिक स्कूटर चेतक की आज से बुकिंग शुरू, लिंक पर क्लिक कर जानें खबर.

बेड़े में बढोतरी और बीमारियों पर लगाम का कोशिश
बेस्ट सेवा बेड़े में 3200 बसों के बेड़े में तकरीबन 140 छोटे बसों को भी शामिल किया है. इस बेड़े में महिलाओं के लिए विशेष तेजस्विनी सेवा को भी लाया गया है. स्मॉल बस सर्विस प्वाइन्ट टू प्वाइन्ट है जिसमें कन्डक्टर सफर में साथ ना चलकर स्टार्ट और अंतिम प्वान्ट पर ही रहते हैं. जिससे कम कर्मचारियों में, इसका परिचालन सफल तरीके से किया जा सका है. बेस्ट विटामिन डी की कमी से पहले कैंसर और तंबाकू से होने वाले रोग से भी कर्मचारियों को बचाने की अपनी मुहिम छेड़ चुकी है. तकरीबन 15 कर्मचारियों के चेकिंग के दौरान 1700 कर्मचारियों में तंबाकू खाने से कैंसर के लक्षण देखे जाने की संभावना थी. समय पर इसके इलाज शुरू होने से इनकी जिन्दगी तो बच गई अब बेहतर तरीके से काम को अंजाम भी दे रहे हैं.