भारत पर राहुल गांधी का आपत्तिजनक बयान, राजनीतिक विवाद तेज

वायनाड में जनसभा में राहुल गांधी ने भारत के सन्दर्भ में एक ऐसा बयान दे दिया जिस पर राजनीतिक विवाद तेज हो सकता है. राहुल गांधी ने ये आपत्तिजनक बयान भारत की वैश्विक छवि के बारे में दिया है.

 भारत पर राहुल गांधी का आपत्तिजनक बयान, राजनीतिक विवाद तेज

वायनाड: उन्नाव रेप मामले पर पीएम मोदी की आलोचना करते- करते राहुल गांधी ने भारत के बारे में विवादित टिप्पणी कर दी. उन्होंने कहा कि अब भारत दुनिया भर में बलात्कार की वैश्विक राजधानी के रूप में जाना जाता है. पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष के इस बयान पर राजनीतिक रूप से विवाद बढ़ सकता है. दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने उनके इस बयान की आलोचना भी की. बता दें कि राहुल गांधी कई बार ऐसे बयान दे चुके हैं जिससे उनकी पार्टी को नुकसान झेलना पड़ता है.लेकिन इस बार राहुल गांधी ने भारत को दुनिया भर में बलात्कार की राजधानी ही बता दिया? सबसे बड़ा सवाल ये है कि कुछ बलात्कार की घटनाओं के लिए पूरे देश पर कलंक लगाना कितना सही है.  

वायनाड में राहुल गांधी ने कही ये बात

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी इस समय अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड में हैं. वहीं एक जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने ये बात कही. राहुल गांधी ने उन्नाव के मामले पर भाजपा और पीएम मोदी को घेरने की कोशिश में ये कह दिया कि दुनिया भर में भारत अब रेप की वैश्विक राजधानी बनता जा रहा है. इस पर नरेंद्र मोदी की ओर से कुछ नहीं बोला जाता. वो अन्य मुद्दों पर बहुत बोलते हैं लेकिन इस पर शांत हो जाते हैं. भाजपा पर अपराधियों को संरक्षण देने का आरोप लगाते हुए राहुल ने दावा किया कि यूपी में खुद भाजपा विधायक ही बलात्कार के आरोपी हैं मगर प्रधानमंत्री ने इस मामले में एक भी शब्द नहीं कहा है.

मनोज तिवारी ने दी प्रतिक्रिया

दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि राहुल गांधी को विचार करना चाहिये कि जब वो भारत की प्रतिष्ठा बढ़ा नहीं सकते तो कम से कम उसे गिराने की कोशिश भी न करें. प्रधानमंत्री के लिये वो पहले भी अमर्यादित टिप्पणी कर चुके हैं जिसके लिये उन्हें कोर्ट से माफी भी मांगनी पड़ी थी. मनोज तिवारी ने कहा कि राहुल गांधी के बयानों से लगता है कि वो मानसिक रूप से परेशान हैं. 

दुभाषिये की सहायता से केरल की जनता को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने बताया कि अपराध को नियंत्रित करने में मोदी सरकार असफल साबित हुई है.

उन्नाव मामले में विपक्ष कर रहा है भाजपा सरकार का विरोध

उन्नाव की पीड़िता को जिंदा जला दिये जाने के मामले में उत्तर प्रदेश में कांग्रेस और सपा ने धरना प्रदर्शन किया. बसपा प्रमुख मायावती ने भी राज्यपाल आनंदी बेन पटेल से मिलकर खराब कानून व्यवस्था की शिकायत की. आज विधानसभा के बाहर सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने धरना दिया. इसके बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी उन्नाव में पीड़ित परिवार से मिलने गईं. वहां जितिन प्रसाद समेत कई नेताओं को पुलिस ने गिरफ्तार भी किया. भाजपा सांसद साक्षी महाराज जब पीड़िता के गांव गये तो उन्हें लोगों के भारी विरोध का सामना करना पड़ा.