टिक टॉक का नशाः उल्लू ने कटवा दिया 25 हजार का चालान, जानिए कैसे

वन विभाग ने उल्लू को पकड़कर कीर्ति को देने वाले कर्मचारी पर भी 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है. कीर्ति ने जुर्माना भर दिया और इसके बाद जुर्माने की रसीद के साथ भी एक विडियो शेयर किया. उन्होंने लोगों से अपील की कि वह ऐसा कोई काम न करें. उन्होंने बताया कि उल्लू एक संरक्षित जीव है. 

टिक टॉक का नशाः उल्लू ने कटवा दिया 25 हजार का चालान, जानिए कैसे

सूरतः टिक-टॉक पर कुछ साल पहले शायद इसीलिए बैन लगाया गया था क्योंकि इसका खुमार कई बार बड़े नुकसान के साथ जान-माल की हानि का सबब बन जाता है. हालांकि अब इस पर से बैन हटा हुआ है, लेकिन कई बार किशोर और युवा फेमस होने और लाइक या अटेंशन पाने के लिए ऐसी हरकतें कर देते हैं कि लेने के देने पड़ जाते हैं.

ऐसा ही एक मामला सूरत से आया है. जहां एक टिक-टॉक स्टार को वीडियो बनाने की चाहत ने उसका पर्स खाली करा दिया. यह टिक-टॉक यूजर एक युवती है और इस एप की स्टार है. जानकारी के अनुसार वह एक प्रतिबंधित पक्षी के साथ वीडियो बना रही थी. 

क्या किया इस स्टार ने
गुजरात के सूरत की टिक टॉक स्टार कीर्ति पटेल पर वन विभाग ने 25 हजार का जुर्माना लगाया है. दरअसल कीर्ति ने एक उल्लू को पकड़कर टिक टॉक पर वीडियो डाला था, जो काफी वायरल हुआ था. हालांकि उनके इस वायरल वीडियो की चौतरफा आलोचना हुई और वन विभाग ने जांच शुरू की थी. वाइल्डलाइफ एंड नेचर वेल्फेयर ट्रस्ट ने वन विभाग के प्रधान मुख्य वन संरक्षक (पीसीसीएफ) से इसको लेकर शिकायत की थी.

ट्रस्ट का कहना था कि कीर्ति ने उल्लू को जिस तरह से पकड़कर वीडियो बनाया, वह वाइल्डलाइफ प्रोटेक्शन ऐक्ट, 1972 की कई धाराओं का उल्लंघन है. शिकायत पर पीसीसीएफ ने मामले की जांच करवाई और शुक्रवार को कीर्ति पर 25 हजार का जुर्माना लगाया.

जुर्माना भरकर रसीद के साथ भी डाला विडियो

वन विभाग ने उल्लू को पकड़कर कीर्ति को देने वाले कर्मचारी पर भी 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है. कीर्ति ने जुर्माना भर दिया और इसके बाद जुर्माने की रसीद के साथ भी एक विडियो शेयर किया. उन्होंने लोगों से अपील की कि वह ऐसा कोई काम न करें. उन्होंने बताया कि उल्लू एक संरक्षित जीव है.

इसे पकड़ना वाइल्डलाइफ प्रोटेक्शन ऐक्ट के तहत अपराध है. वर्तमान में यह गुजरात सरकार द्वारा संरक्षित प्राणियों की कैटिगरी में आता है. इसके साथ खेलना भी अपराध की श्रेणी में आता है. 

लालू से पूछा जज ने आपकी जमानत क्यों न रद्द कर दी जाए