close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

टीएमसी सांसद नुसरत जहां ने एक बार फिर कट्टरपंथियों के जख्म पर नमक छिड़का

बंगाल के बशीरहाट की सांसद नुसरत जहां ने एक बार फिर मजहबी कट्टरपंथी मौलानाओं को जलाने का काम किया है. वह नवरात्रि के बाद मां दुर्गा की विदाई के दौरान परंपरागत सिंदूर खेला कार्यक्रम में शामिल हुईं. हालांकि उनपर पहले भी पूजा में शामिल होने के खिलाफ फतवा जारी किया जा चुका है.   

टीएमसी सांसद नुसरत जहां ने  एक बार फिर कट्टरपंथियों के जख्म पर नमक छिड़का
सिंदूर खेला के बाद पति के साथ नुसरत जहां

कोलकाता: अक्सर अपने पहनावे और बयानों से ट्रोर्ल्स के साथ-साथ  कट्टरपंथियों के निशाने पर रहने वालीं तृणमूल कांग्रेस की सांसद नुसरत ने एक बार फिर  विवादों को न्यौता दे दिया है. 

सिंदूर खेला में हुईं शामिल
नुसरत ने हाल ही में अपने पति निखिल जैन के साथ कोलकाता के चलताबागान दुर्गा पूजा पंडाल में 'सिंदूर खेला' में हिस्सा लिया था, जिसको लेकर कट्टरपंथियों ने उन पर तरह-तरह के आरोप लगाने शुरू कर दिया.  लेकिन नुसरत ने हमेशा की तरह कट्टरपंथियों को करारा जवाब दिया और कहा कि मैं भगवान की विशेष संतान हूं. मैं सभी त्योहारों को मनाती हूं. मैं मानवता की इज्जत करती हूं और अन्य लोगों से ज्यादा प्यार करती हूं. मैं बहुत खुश हूं, विवाद मेरे लिए कोई मायने नहीं रखते हैं.

दुर्गा आराधना में भी हो चुकीं हैं शामिल
इससे पहले नुसरत जहां दुर्गा आराधना में भी शामिल हुई थीं, जिसको लेकर  उन्हें इत्तेहाद उलेमा ए हिन्द के उपाध्यक्ष मुफ्ती असद कासमी के विरोध का सामना करना पड़ा था. मौलाना का कहना था कि नुसरत जहां पहले भी पूजा करती चली आ रही हैं. इस्लाम के अंदर अल्लाह की इबादत के सिवा और किसी की पूजा करना शरीअत के हिसाब से जायज नहीं है. ऐसा करना हराम है. यही नहीं पूजा-अर्जना करने पर देवबंदी उलेमा भी नाराज हो गए थे. उन्होंने नुसरत जहां को अपना नाम बदलने की नसीहत दे डाली थी. हालांकि नुसरत का कहना था कि वह बंगाली रीति-रिवाज और संस्कृति को लंबे समय से मानती आ रही हैं.

संसद में फोटो खिंचवाने पर भी ट्रोल हुईं थीं
मई 2019 में बशीरहाट से पहली बार सांसद बनने पर नुसरत जहां संसद परिसर में अपनी साथी तृणमूल सांसद मिमी चक्रवर्ती के साथ फोटो खिंचवाने को लेकर भी ट्रोलर्स के निशाने पर आईं थीं. हालांकि नुसरत को ट्रोर्ल्स को करारा जवाब दिया था. इसके अलावा साड़ी पहनकर सिंदूर लगाकर शपथ ग्रहण करने पर भी नुसरत जहां को लोगों के साथ-साथ कट्टरपंथियों के  विरोध का सामना करना पड़ा था.

शादी को लेकर भी विरोध का सामना
नुसरत जहां को अपनी शादी को लेकर भी विरोध का सामना करना पड़ा था. कोलकाता के बिसनेजमैन निखिल जैन से शादी करने पर कट्टरपंथियों ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया था और उन्हें धर्म परिवर्तन की बात करने की सलाह दी थी.