आखिरकार अनजान शख्स ने पुलिसवालों के खाने का बिल क्यों दिया?

पिछले दिनों नागरिकता कानून के विरोध में जब उत्तर प्रदेश हिंसा की आग में झुलस रहा था. प्रदर्शनकारी पुलिस को निशाना बना रहे थे. ऐसे वक्त में मुरादाबाद में एक ऐसा वाकया हुआ. जिसे सुनकर आप भी सोचेंगे कि वर्दी को लेकर जनता में कितना सम्मान है.

आखिरकार अनजान शख्स ने पुलिसवालों के खाने का बिल क्यों दिया?

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देशभर में बवाल का दौर देखा गया. उत्तर प्रदेश में हुई हिंसा किसी से छिपी नहीं है. लेकिन, इस बीच यूपी से ही दिल जीत ने वाली खबर सामने आई. नागरिकता कानून के खिलाफ हिंसा के बीच मुरादाबाद जनपद में ट्रेनी दारोगा को भी ड्यूटी के लिए बुलाया गया.

फेसबुक पर ये कहानी हुई वायरल

पुलिस ट्रेनिंग कॉलेज में ट्रेनी दारोगा सुशील सिंह, विजय पांडे और गौरव शुक्ला को मुरादाबाद के सिविल लाइन थाना क्षेत्र में तैनात किया गया. इनकी ड्यूटी पीली कोठी चौराहे पर लगाई गई. ड्यूटी समाप्त होने के बाद तीनों दारोगा पास के रेस्टोरेंट में खाना खाने गए और खाने के आर्डर देने के बाद तीनों दारोगा सेल्फी लेने लगे... लेकिन जब खाना खाने के बाद तीनों ने बिल मांगा तो वेटर का जवाब सुनकर तीनों हैरान रह गए... उनके खाने का बिल किसी अनजान शख्स ने चुका दिया था. तीनों पुलिसकर्मियों ने उस शख्स को खोजने की बहुत कोशिश की. लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिली. इसके बाद इनमें से एक दारोगा ने फेसबुक पर पोस्ट लिखकर अपने अनुभव को शेयर किया. जो देखते-देखते वायरल हो गया.

रेस्टोरेंट के मैनेजर ने पुलिसकर्मियों को बताया कि बिल देने वाले परिवार ने एक मैसेज भी छोड़ा है. जिसमें कहा गया कि पुलिसकर्मी दिन रात मेहनत कर लोगों की सुरक्षा करते हैं. तो लोगों को भी इन पुलिसकर्मियों का ध्यान रखना चाहिए.

सेल्फी ने उस शख्स को ला दिया सामने

लेकिन एक सेल्फी ने उस शख्स को सामने ला दिया. जिन्होंने इन पुलिसकर्मियों का बिल चुकाया था. ये सेल्फी खाना खाने के दौरान इन्हीं पुलिसकर्मियों ने लिया था. पेमेंट करने वाला शख्स मुरादाबाद के कारोबारी राजेश भारतीय हैं. राजेश भारतीय का कहना है कि उनके मन में वर्दी वालों के लिए सम्मान है. और इसीलिए उन्हें लगा कि उन्हें भी पुलिसवालों के लिए कुछ करना चाहिए.

इसे भी पढ़ें: अरुंधति रॉय अपना नाम क्या रखना चाहेंगी रंगा या बिल्ला?

राजेश भारतीय का कहना है कि पुलिसकर्मियों की जो वायरल पोस्ट है. उसने उनके दिल को छूआ है. जिन पुलिसकर्मियों का राजेश भारतीय ने बिल पेमेंट किया. वो उनसे मिलना चाहते हैं. लोगों की प्रतिक्रिया से खुश पुलिसकर्मियों का कहना है कि वो भविष्य में पुलिस की छवि को बेहतर करने के लिए हर संभव कोशिश करते रहेंगे.

इसे भी पढ़ें: देश में डिटेंशन सेंटर के 'सच' और 'झूठ' का नंबर गेम! जानिए- असल हकीकत