close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आतंकवाद पर पीएम मोदी की दहाड़, कहा- 'भारत ने दुनिया को युद्ध नहीं बुद्ध दिए'

पीएम मोदी ने कहा, 'आतंकवाद मानवता के लिए सबसे बड़ी चुनौती है. आतंक के खिलाफ पूरी दुनिया को एकजुट होने की जरूरत है. हमने (भारत ने) युद्ध नहीं बुद्ध दिए हैं और संरा शांति सेना में भारत ने सबसे ज्यादा योगदान दिया है.'

आतंकवाद पर पीएम मोदी की दहाड़, कहा- 'भारत ने दुनिया को युद्ध नहीं बुद्ध दिए'
फोटो साभार: वीडियो ग्रैब

नई दिल्ली: न्यूयॉर्क में पीएम मोदी ने सुयंक्त राष्ट्र जनरल एसेंबली यानि कि UNGA  को संबोधित किया. UNGA में पीएम मोदी से पहले चार बड़े देशों के नेता संबोधित किया. सभी देशों के राष्ट्राध्यक्षों को 15-15 मिनट बोलने का समय मिला.

पीएम मोदी UNGA में आतंकवाद, स्वच्छता और पर्यावरण के साथ ही भारत को UN का सदस्य बनाने के मुद्दे पर बोले. संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74वें सत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जैसे ही हिंदी में संबोधन शुरू किया. उन्होंने कहा कि 130 करोड़ भारतीयों की तरफ से संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करना गौरव की बात है.

पीएम मोदी ने कहा, 'आतंकवाद मानवता के लिए सबसे बड़ी चुनौती है. आतंक के खिलाफ पूरी दुनिया को एकजुट होने की जरूरत है. हमने (भारत ने) युद्ध नहीं बुद्ध दिए हैं और संरा शांति सेना में भारत ने सबसे ज्यादा योगदान दिया है.'

मोदी ने अपने संबोधन की शुरुआत में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को याद करते हुए कहा कि सत्य और अहिंसा का संदेश पूरे विश्व के लिए आज भी प्रासंगिक. उन्होंने कहा कि आने वाले पांच वर्षों में हम जल संरक्षण के साथ 15 करोड़ परिवारों को पाइप के जरिए पेयजल आपूर्ति से जोड़ने वाले हैं.

पीएम ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने संबोधन के दौरान ये भी कहा कि 2025 तक हम भारत को तपेदिक (टीबी) से मुक्त करने की दिशा में काम कर रहे हैं. हम जनभागीदारी से जनकल्याण की दिशा में काम कर रहे हैं और यह केवल भारत ही नहीं 'जगकल्याण' के लिए है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके अलावा कहा कि यदि प्रति व्यक्ति उत्सर्जन की दृष्टि से देखें तो वैश्विक तापमान को बढ़ाने में भारत का योगदान बहुत ही कम रहा है.

प्रधानमंत्री मोदी के अमेरिका दौरे के दौरान वहां रह रहे भारतीय समुदाय के लोगों को जोश हाई है. ह्यूस्टन के बाद शुक्रवार को न्यूयॉर्क में भारतीय समुदाय के लोगों पीएम मोदी का ग्रांड वेलकम किया. पीएम मोदी के स्वागत के लिए न्यूयॉर्क में भारतीय समुदाय के लोग वेलकम रैली निकाले. इस रैली में अमेरिका के अलग-अलग राज्यों में रह रहे करीब 15 हजार भारतीय शामिल हुए. 

'चलो यूएन' के नारे के साथ भारतीय अमेरिकी समुदाय के लोग रैली के जरिए भारत विरोधी प्रदर्शनों का जवाब दिया. ये पहला मौका है जब पीएम के भाषण से पहले वेलकम रैली आयोजित किया गया. वेलकम रैली को उत्सव में बदलने के लिए खास इंतजाम किए गए थे.  UN मुख्यालय तक लोगों को लाने के लिए 38 बसों का इंतजाम किया गया. ढोल नगाड़ों और पारंपरिक वेशभूषा के साथ लोग नजर आएं.