जानिए कौन हैं उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत?

तीरथ सिंह रावत वर्तमान में उत्तराखंड की पौड़ी गढ़वाल सीट से सांसद हैं और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव भी हैं. वो उत्तराखंड भाजपा के भी अध्यक्ष भी रह चुके हैं. पिछले लोकसभा चुनाव में उन्होंने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बीसी खंडूरी के पुत्र मनीष खंडूरी को 3 लाख से ज्यादा मत के अंतर से मात दी थी. 

Written by - Navin Chauhan | Last Updated : Mar 10, 2021, 02:26 PM IST
  • रावत का जन्म पौड़ी गढ़वाल के सीरों गांव में 9 अप्रैल 1964 को हुआ था
  • तीरथ सिंह रावत वर्तमान में उत्तराखंड की पौड़ी गढ़वाल सीट से सांसद हैं
जानिए कौन हैं उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत?

देहरादून: भारतीय जनता पार्टी की देहरादून में हुई विधायक दल की बैठक के बाद बुधवार को 56 वर्षीय तीरथ सिंह रावत को राज्य का नया मुख्यमंत्री चुना गया है. तीरथ सिंह राज्य के 10वें मुख्यमंत्री के रूप में कमान संभालेंगे. वो बुधवार शाम 4 बजे राजभवन में पद और गोपनीयता का शपथ लेंगे. 

त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मंगलवार को अपने चार साल लंबे कार्यकाल के बाद पद से इस्तीफा दे दिया था इसके बाज से ही राज्य के नए सीएम को लेकर तरह तरह की अटकलें लग रही थीं. जिन लोगों के राज्य का नया सीएम बनने की संभावना जताई जा रही थी उसमें तीरथ सिंह का नाम नदारद था. ऐसे में वो अचानक से बुधवार को हीरो के रूप में उभरे. आइए जानें कौन हैं देव भूमि उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत. 

वर्तमान में पौड़ी गढ़वाल के हैं सांसद
तीरथ सिंह रावत वर्तमान में उत्तराखंड की पौड़ी गढ़वाल सीट से सांसद हैं और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव भी हैं. वो उत्तराखंड भाजपा के भी अध्यक्ष भी रह चुके हैं. पिछले लोकसभा चुनाव में उन्होंने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बीसी खंडूरी के पुत्र मनीष खंडूरी को 3 लाख से ज्यादा मत के अंतर से मात दी थी. 

यह भी पढिएः Uttarakhand के नए सीएम तीरथ सिंह रावत, आज शाम ही लेंगे शपथ

गढ़वाल के सिनरो ग्राम में 1964 में हुआ था जन्म
56 वर्षीय तीरथ सिंह रावत का जन्म पौड़ी गढ़वाल के सीरों गांव में 9 अप्रैल 1964 को हुआ था. उनके पिता का नाम कलम सिंह रावत और मां गौरा देवी हैं. तीरथ सिंह ने कम उम्र में ही राजनीतिक सफर शुरू कर दिया था. तीरथ सिंह साल 1983 से 1988 तक राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रचारक रहे.

हेमवती नंदन गढ़वाल विश्व विधालय के छात्र संघ अध्यक्ष रहे।वो अविभाजित उत्तर प्रदेश के भारतीय जनता युवा मार्चा के अध्यक्ष रह चुके हैं. साल 1997 में वो उत्तर प्रदेश विधान परिषद के सदस्य निर्वाचित हुए थे. वो उत्तराखंड राज्य के पहले शिक्षा मंत्री बने थे. साल 2007 में तीरथ सिंह उत्तराखंड का महासचिव नियुक्त किया गया था. 

साल 2012 में वो चौबटाखाल विधान सभा से विधायक निर्वाचित हुए और साल 2013 में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष चुने गए. उनकी अक्ष्यक्षता में भाजपा ने प्रदेश में मेयर की 6 में से 5 सीट जीतने में सफल रही थी. साल 2019 में वो पौड़ी गढ़वाल लोकसभा सीट से सासंद निर्वाचित हुए थे. साल 2019 के लोकसभा चुनाव में उन्हें हिमाचल प्रदेश का चुनाव प्रभारी भी बनाया गया था।

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़