• देश में कोविड-19 से सक्रिय मरीजों की संख्या 80,722 पहुंची, जबकि संक्रमण के कुल मामले 1,45,380: स्त्रोत-PIB
  • कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या- 60,491 जबकि अबतक 4,167 मरीजों की मौत: स्त्रोत-PIB
  • देश भर में 532 घरेलू यात्री उड़ानें संचालित, 39,231 यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाया गया
  • रेलवे ने 3060 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया; 40+ लाख यात्रियों को वापस घर पहुंचाया गया
  • एनपीपीए ने किफायती कीमतों पर एन -95 मास्क की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए एडवाइजरी जारी की, निर्माताओं ने कीमतें 47% तक कम कीं
  • लघु उद्योग इकाइयों को वित्तीय सहायता देने के लिए सरकार वित्तीय ऋण देने वाले नए संस्थानों की तलाश कर रही है: एमएसएमई मंत्री
  • यूजीसी के MOOCs प्लेटफ़ॉर्म पर एनिमेशन पाठ्यक्रम की शुरुआत , घर पर रह कर सीखें एक नया कौशल !
  • सुझाव: स्वास्थ्य में समग्र सुधार के लिए स्थानीय उत्पादित खाद्य पदार्थों को अपनी जीवन शैली का हिस्सा बनाएं
केरल के राजा मार्तण्ड वर्मा यूरोपीय सेना को समुद्र में हराने वाले पहले राजा थे

केरल के राजा मार्तण्ड वर्मा यूरोपीय सेना को समुद्र में हराने वाले पहले राजा थे

सौ साल पहले तक यूरोपीय देश के लोगों को समुद्र में अजेय माना जाता था. अगर आप जानना चाहेंगे कि सबसे पहले किस यूरोपीय ताकत को एशियाई लोगों ने समुद्र में हराया था. तो आपको 1905 के रुस-जापान युद्ध का वर्णन मिलेगा. लेकिन ये सच नहीं है. इससे लगभग 150 साल पहले केरल के राजा मार्तण्ड वर्मा ने डच समुद्री सेना को हरा दिया था. वह भी पारंपरिक हथियारों से. लेकिन विदेशियों के मानसिक गुलाम हमारे इतिहासकारों ने इस गौरवपूर्ण युद्ध को इतिहास की परतों में दबा देने की कोशिश की.   

Feb 28, 2020, 05:46 PM IST
आज भी विज्ञान पर है जिनका 'प्रभाव', जानिए कौन थे डॉ. सीवी रमन

आज भी विज्ञान पर है जिनका 'प्रभाव', जानिए कौन थे डॉ. सीवी रमन

सर सी.वी रमन का जन्म ब्रिटिश भारत में तत्कालीन मद्रास प्रेसीडेंसी (तमिलनाडु) में 7 नवंबर 1888 को हुआ था. उनके पिता गणित और भौतिकी के प्राध्यापक थे. सीवी रमन ने तब मद्रास के प्रेसीडेन्सी कॉलेज से बीए किया और इसी कॉलेज में उन्होंने एमए में प्रवेश लिया और मुख्य विषय भौतिकी को चुना. जब विज्ञान के क्षेत्र में आगे बढ़ने की सुविधा नहीं मिलने के कारण सीवी रमन ने सरकारी नौकरी का रुख किया था

Feb 28, 2020, 12:32 PM IST
Pride of India: राज राजेन्द्र चोल, जिनकी नौसैनिक ताकत ने पूर्वी एशिया को दहला दिया

Pride of India: राज राजेन्द्र चोल, जिनकी नौसैनिक ताकत ने पूर्वी एशिया को दहला दिया

भारत प्राचीन काल से सैन्य रुप से बेहद शक्तिशाली रहा है. लेकिन समुद्र में उसकी अजेय सेना की शक्ति कमजोर पड़ जाती थी. सबसे पहले चोल राजा राजराजेन्द्र ने इस कमजोरी को समझा और अपनी मजबूत नौसेना खड़ी की.

Feb 25, 2020, 07:59 PM IST

सिंहासन के लिए संघर्ष की कहानी, देखिए सम्राट अशोक की महागाथा

सम्राट अशोक ने किया था अखंड भारत का निर्माण, अशोक ने पहली बार धर्मनिरपेक्ष शासन व्यवस्था की नींव रखी थी .... देखें Zee Hindiustan की ये खास रिपोर्ट ...

Feb 23, 2020, 07:21 PM IST

Rakshak: सबसे शक्तिशाली स्वदेशी युद्धपोत और नौसेना के शक्तिशाली हथियार

ज़ी हिन्दुस्तान की खास पेशकश रक्षक में देखिए समुद्री कवच और नौसेना के शक्तिशाली और बड़ी ताकतें.

Feb 23, 2020, 04:07 PM IST
Kashmir: कश्मीर को देश के अलग रखने के लिए इस महान राजा को जान बूझ कर भुला दिया गया

Kashmir: कश्मीर को देश के अलग रखने के लिए इस महान राजा को जान बूझ कर भुला दिया गया

भारत में ऐसे महान सम्राट हुए, जिन्होंने मध्य एशिया के देशों और चीन तक विजय प्राप्त की. लेकिन नेहरु के इशारे पर वामपंथी इतिहासकारों ने हमें सिर्फ पराजय का इतिहास पढ़ाया. अब ऐसी गलतियों को सुधारने का समय आ गया है. आईए आपको बताते हैं कश्मीर के शूरवीर राजा ललितादित्य की कहानी, जिनके डर से 300 साल मुस्लिम आक्रांताओं का साहस नहीं हुआ कि उनकी धरती पर कदम रख पाएं-

Feb 19, 2020, 06:26 PM IST
दक्षिण भारत के महान सम्राट कृष्णदेव राय की शौर्यगाथा

दक्षिण भारत के महान सम्राट कृष्णदेव राय की शौर्यगाथा

दक्षिण भारत के सबसे शक्तिशाली और महान साम्राज्य विजयनगर के शासक थे कृष्ण देवराय. मध्यकाल में दक्षिण भारत के विजयनगर साम्राज्य की प्रतिष्ठा, प्राचीनकाल के मगध, उज्जैनी और थाणेश्वर साम्राज्य जैसी ही थी. उत्तर भारत के चंद्रगुप्त मौर्य, पुष्यमित्र, चंद्रगुप्त विक्रमादित्य, स्कंदगुप्त, हर्षवर्धन और महाराजा भोज के समान ही यशस्वी सम्राट कृष्ण देवराय की ख्याति थी.  राजा कृष्ण देवराय ने अपनी मातृभूमि की रक्षा और सम्मान के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर कर दिया था.  

Feb 19, 2020, 05:23 PM IST
भारत के गौरव : जिसकी बहादुरी देख खिलजी दुम दबाकर भागा, राजा कान्हड़देव की शौर्यगाथा

भारत के गौरव : जिसकी बहादुरी देख खिलजी दुम दबाकर भागा, राजा कान्हड़देव की शौर्यगाथा

भारत के इतिहास में अनेकों वीर राजाओं की अनगिनत वीरगाथाएं भरी पड़ी हैं. लेकिन कई शौर्यगाथाएं अनसुनी रही हैं. पराक्रमी राजा कान्हड़देव की शौर्यगाथा ऐसी ही अनसुनी गाथाओं में से एक है. युद्ध के मैदान पर कान्हड़देव ने अकेले खिलजी के 50 योद्धाओं को अपनी कुशलता और पराक्रम से मौत के घाट उतार दिया था.

Feb 13, 2020, 10:08 PM IST
भारत के गौरव :  क्षमावीर क्षत्रियराज पृथ्वीराज चौहान

भारत के गौरव : क्षमावीर क्षत्रियराज पृथ्वीराज चौहान

भारत के महावीर नाम से जाने जाने वाले हिन्दू क्षत्रिय राजा पृथ्वीराज चौहान बारहवीं सदी के इतिहास के वीर नायक थे. शब्दभेदी बाण संचालन के विशेषज्ञ अजमेर के इस वीर राजा को विदेशी आक्रांता मुहम्मद गौरी छल से ही पार पा सका, बल से नहीं. सोलह बार पृथ्वीराज चौहान से क्षमा पाने के बाद मोहम्मद गोरी ने भरोसे का गला घोंटा. मुहम्मद गोरी को पृथ्वीराज चौहान द्वारा दी गई दया की भीख हिन्दुस्तान के इतिहास पर हमेशा-हमेशा के लिए भारी पड़ गई.  

Feb 13, 2020, 07:12 AM IST
आठवीं सदी के इस्लामी आक्रांताओं के सीने के दाह : राजा दाहिर सेन

आठवीं सदी के इस्लामी आक्रांताओं के सीने के दाह : राजा दाहिर सेन

भारतवर्ष की आठवीं सदी के वीर नायक के तौर पर जाना जाता था राजा दाहिर सेन को जिनके शासन के 74 वर्षों के दौरान नौ इस्लामी आक्रांताओं ने कम से कम 15 बार सिंध पर आक्रमण किया, लेकिन सिंध के इस शूरवीर ने 14 बार इन आक्रमणकारियों को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया. और फिर एक दिन ऐसा आया जब इस महावीर के साथ हुआ ऐसा विश्वासघात जिसने सिंध और हिंद के इतिहास की दिशा बदल दी..उसके पहले और उसके बाद क्या हुआ, यहां पढ़िए --  

Feb 13, 2020, 05:24 AM IST
भारत के गौरव : मुगलों के छक्के छुड़ाने वाले सम्राट का नाम था हेमू

भारत के गौरव : मुगलों के छक्के छुड़ाने वाले सम्राट का नाम था हेमू

सम्राट हेमू की वीरगाथा किसी ऐतिहासिक काल से कम नहीं है. महान योद्धा हेमचंद्र विक्रमादित्य इतिहास के पन्नों का एक शौर्ययुग हैं. वे किस तरह एक व्यापारी से एक महान सम्राट बने और हिन्दुओं को मुसलमान बनाने की मुगलों की क्रूरता के बीच महान हिन्दू राजा हेमू और उनके पिता की वीरता की कहानी यहां जानिये इंच बाई इंच और हर्फ़ दर हर्फ़..  

Feb 13, 2020, 03:30 AM IST
भारत के गौरव: जानिए कौन थे देश को स्वर्ण युग में पहुंचाने वाले सम्राट समुद्रगुप्त

भारत के गौरव: जानिए कौन थे देश को स्वर्ण युग में पहुंचाने वाले सम्राट समुद्रगुप्त

एक समय था जब भारत अलग-अलग राज्यों में बंटा हुआ था. छोटी-बड़ी रियासतों पर कई राजाओं का राज हुआ करता था. लेकिन उनके बीच एक ऐसा पराक्रमी और वीर राजा हुए, जिन्होंने सभी राजाओं को जीत कर एक विशाल साम्राज्य की स्थापना की. वे गुप्त राजवंश के राजा समुद्रगुप्त थे.

Feb 12, 2020, 09:59 PM IST
भारत के गौरव: महाराजा सुहेलदेव की वीरगाथा

भारत के गौरव: महाराजा सुहेलदेव की वीरगाथा

ये एक ऐसे महाराजा की कहानी है, जिसने अखंड भारत के सपने के लिए अपने से ज्यादा शक्तिशाली दुश्मन से शत्रुता मोल ली और उसका सर्वनाश कर दिया. ये थे राजा सुहेलदेव, जिनका  साम्राज्य पूर्व में गोरखपुर और पश्चिम में सीतापुर तक फैला था.

Feb 12, 2020, 08:47 PM IST

भारत के एक कोने से दूसरे कोने पर बने 7 प्राचीन शिव मंदिर एक सीधी रेखा पर कैसे बने ?

ज़ी हिन्दुस्तान के खास पेशकश 'मैं भारत हूं' में देखिए प्राचीन भारत का सबसे बड़ा वैज्ञानिक रहस्य और देखिए उत्तर भारत से दक्षिण भारत को जोड़ने वाले मंदिर

Feb 3, 2020, 01:21 PM IST