close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बापू को श्रद्धांजलि देकर समाधि स्थल के पास ही बैठ गए पीएम मोदी, जानिए वजह

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि दी. इस दौरान वो वहां बड़ी तल्लीनता से गांधी जी की याद में गाए जा रहे भजन को सुनते रहे.

बापू को श्रद्धांजलि देकर समाधि स्थल के पास ही बैठ गए पीएम मोदी, जानिए वजह

नई दिल्ली: भारत ने जिन्हें बापू माना, उन महात्मा गांधी को आज पूरा मुल्क याद कर रहा है. हर कोई राष्ट्रपिता को उनकी 150वीं जयंती पर श्रद्धांजलि दे रहा है. दिल्ली में बापू के समाधि-स्थल राजघाट पर देश की बड़ी-बड़ी हस्तियां जुटीं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आए, फूल चढ़ाए और फिर झुककर महात्मा गांधी की समाधि को प्रणाम किया. फूल चढ़ाने के बाद पीएम मोदी ने समाधि स्थल की परिक्रमा भी लगाई. बापू को श्रद्धांजलि देने के बाद समाधि स्थल के पास ही पीएम मोदी बैठ गए और बड़ी तल्लीनता से गांधी जी की याद में गाए जा रहे भजन को सुनते रहे.

राजघाट पर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देने के लिए सुबह से ही तांता लगा रहा. देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अपनी पत्नी के साथ पहुंचे और बापू की समाधि पर फूल चढ़ाए. उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने भी महात्मा गांधी को उनकी 150वीं जयंती पर याद किया. 

 

पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने भी राजघाट पहुंचकर राष्ट्रपिता को श्रद्धांजलि दी. कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी समेत कई कांग्रेसी नेताओं ने भी बापू की याद में उनकी समाधि पर फूल चढ़ाए. बीजेपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व उप प्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी भी अपनी बेटी के साथ राजघाट आए और महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी. बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल समेत कई हस्तियों ने भी बापू के समाधि स्थल पर फूल चढ़ाए और उन्हें याद किया.

प्रधानमंत्री ने बापू के लिए अपनी आवाज में एक वीडियो भी शेयर किया...

2 अक्टूबर को जहां राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती है तो वहीं देश के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की भी जयंती है. बापू को याद करने के बाद पीएम मोदी दिल्ली में शास्त्री जी के समाधि स्थल विजय घाट पहुंचे और उन्हें श्रद्धांजलि दी.

 लाल बहादुर शास्त्री जी को श्रद्धांजलि देने विजय घाट पर पूर्व पीएम मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी भी पहुंचे थे. साथ ही पूर्व उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी ने भी शास्त्री जी के समाधि स्थल पर फूल चढ़ाए. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने भी विजय घाट पहुंचकर शास्त्री जी को नमन किया.

देश के दो सपूतों को आज पूरा मुल्क याद कर रहा है. हर देशवासी याद कर रहा है. लेकिन सिर्फ जयंती या पुण्यतिथि पर इन सपूतों को याद करने से काम नहीं चलेगा. हमें उनके बताए रास्ते पर चलना होगा, उनके सिद्धांतों को अपने जीवन में उतारना होगा. महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री के आदर्शों पर चलना होगा.