रहाणे और इशांत को बाहर करने के तरीके पर मचा बवाल, BCCI से पूछे गए ये तीखे सवाल

बीसीसीआई ने बताया कि रहाणे की हैमस्ट्रिंग (मांसपेशियों) में खिंचाव है जो कानपुर में पहले टेस्ट के आखिरी दिन क्षेत्ररक्षण के दौरान आया था. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Dec 3, 2021, 05:10 PM IST
  • रहाणे और इशांत को बाहर करने के तरीके पर मचा बवाल
  • टीम मैनेजमेंट ने लिया चोट का सहारा

ट्रेंडिंग तस्वीरें

रहाणे और इशांत को बाहर करने के तरीके पर मचा बवाल, BCCI से पूछे गए ये तीखे सवाल

मुंबई: भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच से पहले टीम में 3 बदलाव किए. अजिंक्य रहाणे, इशांत शर्मा और रविंद्र जडेजा को चोटिल होने के चलते टीम से बाहर किया गया.

रहाणे और इशांत को बाहर करने पर पहले से बात हो रही थी क्योंकि ये खिलाड़ी लंबे समय से खराब फॉर्म से जूझ रहे थे. हालांकि जिस वजह से इन्हें टीम से बाहर किया गया वो वजह किसी के गले नहीं उतर रही. 

टीम मैनेजमेंट ने लिया चोट का सहारा

लोग कह रहे हैं कि भारतीय टेस्ट टीम में लंबे समय से खराब लय से गुजर रहे अजिंक्य रहाणे और इशांत शर्मा को न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच की अंतिम एकादश से सम्मानजनक तरीके से बाहर करने के लिए टीम प्रबंधन ने ‘चोट’ का सहारा लिया. 

मैच के पहले दिन शुक्रवार को बीसीसीआई (भारतीय क्रिकेट बोर्ड) ने आधिकारिक तौर पर घोषणा की कि रहाणे, इशांत और रविन्द्र जडेजा विभिन्न प्रकार की चोट के कारण टीम से बाहर रहेंगे. 

रहाणे की मांसपेशियों में खिंचाव- BCCI 

बीसीसीआई ने बताया कि रहाणे की हैमस्ट्रिंग (मांसपेशियों) में खिंचाव है जो कानपुर में पहले टेस्ट के आखिरी दिन क्षेत्ररक्षण के दौरान आया था. वह पूरी तरह से ठीक नहीं हो सके हैं तो दूसरा टेस्ट नहीं खेलेंगे, 

सवाल उठ रहा है कि आखिरी बीसीसीआई ने ये पहले से क्यों नहीं बताया यदि वे चोटिल थे. प्रेंस कॉन्फेंस में कोहली ने केवल साहा की चोट पर बात की थी. उन्होंने रहाणे के खेलने पर कोई सस्पेंस तक जाहिर नहीं किया. बीसीसीआई को इस सवाल का जवाब खोजना चाहिए. 

कानपुर टेस्ट के आखिरी दिन रहाणे ने की पूरी फील्डिंग 

कानपुर टेस्ट 29 नवंबर तक खेला गया था और रहाणे दिन के पूरे 90 ओवर तक क्षेत्ररक्षण के लिए मैदान पर थे. हैमस्ट्रिंग की चोट में काफी दर्द होता है और इससे शरीर का लचीलापन प्रभावित होता है. 

भारतीय टीम ने गुरुवार बांद्रा कुर्ला परिसर में इंडोर अभ्यास किया था और बीसीसीआई के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने रहाणे तस्वीर जारी की थी जिसमें वह चेहरे पर बड़ी मुस्कराहट के साथ बल्लेबाजी अभ्यास कर रहे थे. इसमें उनके चेहरे परदर्द जैसा भाव नहीं था. वह शुक्रवार को सुबह क्षेत्ररक्षण अभ्यास करते भी दिखे. 

जब एक राज्य की टीम  के फिजियो से हैमस्ट्रिंग में खिंचाव के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा कि हैमस्ट्रिंग खिंचाव चोट के स्तर पर निर्भर करता है और यदि यह पहले स्तर है तो आपको कम से कम दो सप्ताह के विश्राम की जरूरत होगी. अगर यह दूसरे स्तर का है तो इसके लिए कम से कम चार से छह सप्ताह की जरूरत होगी. इसकी मामूली चोट से बस आराम करके उबरा जा सकता है. 

ये भी पढ़ें- Ind vs Nz Test: अब 12 बजे शुरू होगा मुंबई टेस्ट, पर विराट के लौटते ही रहाणे हुए बाहर, जानिए क्यों?

टीम के लिए हालांकि किसी ऐसे खिलाड़ी को बाहर करना का फैसला मुश्किल था जिसने पिछले मैच में कप्तानी की हो, ऐसे में उन्हें 80 टेस्ट मैच के अनुभवी खिलाड़ी के लिए किसी सम्मानजनक तरीके को ढूंढना पड़ा. इशांत के मामले में भी ऐसी ही स्थिति है.  

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़