20 साल का युवा 142 के औसत से बना रहा है रन, खटखटाया टीम इंडिया का दरवाजा

आईपीएल 2020 में आरसीबी के लिए धमाकेदार बल्लेबाजी करने वाले कर्नाटक के युवा बल्लेबाज ने एक बार फिर टीम इंडिया के दरवाजे पर अपने शानदार खेल के जरिए दस्तक दी है.

Written by - Navin Chauhan | Last Updated : Feb 27, 2021, 06:13 PM IST
  • देवदत्त पडिक्कल ने चार मैच में जड़े हैं दो शतक और दो अर्धशतक.
  • ओड़िशा के खिलाफ खेली 152 और केरल के खिलाफ 126* रन की नाबाद पारी.
20 साल का युवा 142 के औसत से बना रहा है रन, खटखटाया टीम इंडिया का दरवाजा

नई दिल्ली: इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टी20 सीरीज के लिए टीम इंडिया में कई युवा खिलाड़ियों को शामिल किया गया. टीम इंडिया में एंट्री करने वाले खिलाड़ियों में मुख्य रूप से वो खिलाड़ी थे जिन्होंने आईपीएल 2020 में शानदार प्रदर्शन करते हुए सबको हैरान कर दिया था और टीम इंडिया की शामिल होने के लिए पुख्ता दावा पेश किया था। 

भारतीय टीम में शामिल होने वाले खिलाड़ियों में सूर्य कुमार यादव, इशान किशन, राहुल तेवतिया और वरुण चक्रवर्ती का नाम शामिल है. लेकिन आईपीएल 2020 में ही अपने बल्ले से चमक बिखेरने वाले एक खिलाड़ी को बीसीसीआई की चयनसमिति ने नजर अंदाज कर दिया और वो खिलाड़ी है आरसीबी के लिए खेलने वाले बांए हाथ कर्नाटक के बल्लेबाज देवदत्त पडिक्कल. 
 
आईपीएल में किया था धमाकेदार प्रदर्शन, बने थे इमर्जिंग प्लेयर 
20 साल के पडिक्कल ने आईपीएल 2020 में आरसीबी की ओर से खेलते हुए शानदार प्रदर्शन किया था और उन्हें टूर्नामेंट का उभरता हुआ खिलाड़ी चुना गया था. उन्होंने टूर्नामेंट में शानदार शुरुआत करते हुए तीन मैच में तीन अर्धशतक जड़े थे. उन्होंने 15 मैच में 31.53 की औसत और 124.80 के स्ट्राइक रेट से 473 रन बनाए. इस दौरान उनके बल्ले से 5 अर्धशतक निकले और उनका सर्वाधिक स्कोर 74 रन रहा. 

ऐसे में टीम इंडिया में शामिल नहीं किए जाने के बाद विजय हजारे ट्रॉफी में पड्डिकल अपने बल्ले से लगातार धमाके करके चयनकर्ताओं को ये संदेश दिया है कि एक प्रतिभाशाली खिलाड़ी को नजर अंदाज करके उन्होंने बड़ी भूल कर दी है.  

चार मैच में जड़े दो शतक और दो अर्धशतक
विजय हजारे ट्रॉफी में कर्नाटक की ओर से खेलते हुए पडिक्कल ने चार मैच में 50 रन से ज्यादा की चार पारियां खेली हैं जिसमें दो शतक शामिल हैं. टूर्नामेंट की शुरुआत उन्होंने उत्तर प्रदेश के खिलाफ 52 रन की पारी खेलकर की. इसके बाद वो बिहार के खिलाफ शतक जड़ने से तीन रन से चूक गए इस मैच में उन्होंने 97 रन की पारी खेली. 

ये भी पढ़ें: गरज उठा गब्बर का बल्ला, शिखर धवन की ये पारी देखकर दहल जाएगा इंग्लैंड

142 से ज्यादा के औसत से बना रहे हैं रन
पडिक्कल के बल्ले का विकराल रूप ओड़िशा के खिलाफ देखने को मिला जहां उन्होंने 14 चौके और पांच छक्के की मदद से 140 गेंद में 152 रन जड़ दिए. इसके बाद भी उनकी रनों की भूख शांत नहीं हुई और वो केरल के खिलाफ 138 गेंद में 126 रन बनाकर नाबाद रहे. इस पारी के दौरान उन्होंने 13 चौके और 2 छक्के जड़े और अपनी टीम को जीत दिलाने में सफल रहे. इन चार मैचों में उनका औसत 142.33 का रहा है. 

शानदार रहा है घरेलू क्रिकेट करियर 
पडिक्कल का रिकॉर्ड घरेलू क्रिकेट में बेहद शानदार रहा है. उन्होंने अब तक खेले 17 घरेलू वनडे मैचों में 76.92 के शानदार औसत से 1077 रन बना चुके हैं. इस दौरान उन्होंने 4 शतक और 7 अर्धशतक जड़े हैं. उनका सर्वाधिक स्कोर 152 रन रहा है. ये पारी उन्होंने हाल ही में ओडिशा के खिलाफ खेली थी. वहीं 33 टी20 में पडिक्कल 43.82 के शानदार औसत और 145.92 के स्ट्राइक रेट से 1271 रन बना चुके हैं. जिसमें एक शतक और 11 अर्धशतक शामिल हैं. टी20 में उनका सर्वाधिक स्कोर नाबाद 122 रन है. 

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप. 

 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़