इन युवा खिलाड़ियों ने बिखेरी विजय हजारे ट्रॉफी में बल्ले की चमक, कुछ जाने-कुछ अनजाने

भारत के युवा खिलाड़ी विजय हजारे ट्रॉफी में अपने बल्ले की चमक बिखेरकर टीम इंडिया में एंट्री का दरवाज खटखटा रहे हैं.

Written by - Navin Chauhan | Last Updated : Mar 2, 2021, 06:26 PM IST
  • पडिक्कल ने बनाए हैं 5 मैच में सबसे ज्यादा 572 रन.
  • तिलक वर्मा जैसा 18 साल का युवा भी कर रहा है कमाल.
इन युवा खिलाड़ियों ने बिखेरी विजय हजारे ट्रॉफी में बल्ले की चमक, कुछ जाने-कुछ अनजाने

नई दिल्ली: भारत के घरेलू वनडे टूर्नामेंट विजय हजारे ट्रॉफी का पहला दौर खत्म हो चुका है. विजय हजारे ट्रॉफी के समानांतर भारत और इंग्लैंड के बीच टेस्ट सीरीज भी खेली जा रही है. ऐसे में दिग्गज सीनियर खिलाड़ियों की अनुपस्थिति में भविष्य के सितारे माने जाने वाले कई युवा खिलाड़ियों ने धमाकेदार प्रदर्शन करके टीम इंडिया में एंट्री के लिए अपना दावा भी पेश किया है.

देवदत्त पडिक्कल(कर्नाटक)
टूर्नामेंट के लीग चरण में खेले गए पांच-पांच मैचों में अबतक सबसे शानदार प्रदर्शन कर्नाटक के 20 वर्षीय युवा बल्लेबाज बल्लेबाज देवदत्त पडिक्कल ने किया है. देवदत्त ने 5 मैच की 5 पारियों में 2 बार नाबाद रहते हुए 190.66 के शानदार औरस और 97.77 के स्ट्राइक रेट से 572 रन बनाए हैं. इस दौरान उन्होंने लगातार तीन शतक और दो अर्धशतक जड़े. उनका सर्वाधिक स्कोर 152 रन रहा. 

ये भी पढ़ें: ICC प्लेयर ऑफ द मंथ, इन तीन खिलाड़ियों के बीच होगी रोमांचक जंग

तन्मय अग्रवाल(हैदराबाद)
टूर्नामेंट में देवदत्त के बाद सबसे ज्यादा तन्मयता के साथ रन बना रहे हैं हैदराबाद के बल्लेबाज तन्मय अग्रवाल. 25 वर्षीय तन्मय ने पांच मैच की पांच पारियों में 89.20 की औसत से 446 रन बनाए हैं. इस दौरान उन्होंने 2 शतक और 2 अर्धशतक निकले हैं और उनका स्ट्राइक रेट 96.53 का रहा है. तन्मय ने छत्तीसगढ़ के खिलाफ 122 और गोआ के खिलाफ 150 रन की पारी खेली थी. जबकि गुजरात और त्रिपुरा के खिलाफ अर्धशतक जड़ा था. 

रविकुमार समर्थ(कर्नाटक)
देवदत्त और पडिक्कल के बाद सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ियों की सूची में तीसरे पायदान पर कर्नाटक के कप्तान रविकुमार समर्थ रहे हैं. 28 वर्षीय समर्थ ने टूर्नामेंट में खेले 5 मैच की पांच पारियों में 137.66 के शानदार औसत और 99.27 के स्ट्राइक रेट से 413 रन बनाए हैं. इस दौरान उन्होंने 2 शतक और 2 अर्धशतक जड़े हैं. उन्होंने बिहार के खिलाफ नाबाद 158* और रेलवे के खिलाफ नाबाद 130* रन की पारी खेली थी. रेलवे के खिलाफ मैच में उनके और पडिक्कल के बीच 285 रन की नाबाद साझेदारी हुई और कर्नाटक ने ये मैच 10 विकेट के अंतर से अपने नाम किया था. 

पृथ्वी शॉ(मुंबई)
लगातार खराब प्रजर्शन के बाद टीम इंडिया से बाहर का रास्ता देखने वाले मुंबई के कप्तान पृथ्वी शॉ ने धमाकेदार बल्लेबाजी करते हुए टूर्नामेंट में दोहरा शतक जड़ दिया और वनडे क्रिकेट में बतौर कप्तान दोहरा शतक जड़ने वाले और सबसे बड़ी पारी खेलने वाले भारतीय बल्लेबाज बन गए. शॉ ने टूर्नामेंट में खेले पांच मैच की पांच पारियों में 2 बार नाबाद रहते हुए 134.66 की औसत और 128.66 के स्ट्राइक रेट से 404 रन बनाकर टीम इंडिया में वापसी का दावा पेश किया है. उनका सर्वाधिक स्कोर नाबाद 227* रहा. दोहरे शतक के अलावा उन्होंने दिल्ली के खिलाफ जयपुर में नाबाद शतक(105*) जड़े था। 

तिलक वर्मा(हैदराबाद)
भारत के लिए अंडर 19 क्रिकेट में कई शनदार पारियां खेल चुके 18 वर्षीय तिलक वर्मा विजय हजारे ट्रॉफी में खेलते हुए सीनियर लेवल पर अपनी छाप छोड़ने में कामयाब रहे हैं. हैदराबाद की के विजय हजारे ट्रॉफी के क्वार्टरफाइनल में पहुंचने के सफर में उनके शानदार प्रदर्शन का अहम योगदान रहा है. 5 मैच की पांच पारियों में उन्होंने 97.75 की औसत और 97.26 के स्ट्राइक रेट से 391 रन बनाए हैं. इस दौरन उन्होंने दो शानदार शतक भी जड़े. त्रिपुरा के खिलाफ सूरत में उन्होंने 156* रन की और गोवा के खिलाफ 128 रन की पारी खेली थी.  

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

 

  

 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़