Tokyo Olympics: सेमीफाइनल मैच में हारी भारतीय हॉकी टीम, मेडल की आस अब भी

बेल्जियम टीम ने शानदार शुरुआत करते हुए 1 मिनट 4 सेकंड में ही पेनल्टी कॉर्नर पर पहला गोल दागा था.  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Aug 3, 2021, 09:00 AM IST
  • जानिए कैसा रहा ये मुकाबला
  • बेल्जियम फाइनल में पहुंची
Tokyo Olympics: सेमीफाइनल मैच में हारी भारतीय हॉकी टीम, मेडल की आस अब भी

Tokyo Olympics, india vs belgium live update: टोक्यो ओलंपिक के 12वें दिन भारतीय पुरुष हॉकी टीम को सेमीफाइनल मुकाबले में वर्ल्ड चैंपियन बेल्जियम के हाथों 5-2 की शिकस्त का सामना करना पड़ा. कांटे की टक्कर वाले इस मुकाबले में हार के साथ ही भारत की 41 साल बाद गोल्ड पाने की उम्मीदों को बड़ा झटका लगा है. हालांकि मेडल की आस अब भी बनी हुई है. ब्रॉन्ज मेडल के लिए भारतीय टीम को अभी मुकाबला खेलना होगा.

ऐसे रहा मुकाबला
बेल्जियम टीम ने शानदार शुरुआत करते हुए 1 मिनट 4 सेकंड में ही पेनल्टी कॉर्नर पर पहला गोल दागा था. लेकिन पहला गोल खाने के बाद भारत ने जबरदस्त वापसी की. 7वें मिनट में भारत को पेनल्टी कॉर्नर मिला. हरमनप्रीत ने ड्रैग फ्लिक लिया और भारत के लिए गोल दागा. इसके बाद मंदीप सिंह ने 8वें मिनट में शानदार बैकहैंड शॉट से फील्ड गोल किया. पहला क्वार्टर खत्म होने के बाद भारतीय टीम ने बेल्जियम पर 2-1 की लीड बनाई हुई थी.

दूसरे क्वार्टर का हाल
दूसरे क्वार्टर में बेल्जियम की टीम हावी रही. इस क्वार्टर में बेल्जियम को लगातार 3 पेनल्टी कॉर्नर मिले, लेकिन वह इसमें गोल करने में नाकाम रही. इसके बाद 19वें मिनट में उसे एक और कॉर्नर मिला. हेंड्रिक्स ने इस पर ड्रैग फ्लिक से गोल दागा. जिसके बाद स्कोर 2-2 की बराबरी पर आ गया. हालांकि, तीसरे क्वार्टर में दोनों ही टीमें गोल नहीं दाग सकीं. 

चौथे क्वार्टर में छीन ली जीत
चौथे क्वार्टर में बेल्जियम की टीम ने शानदार खेल दिखाया. बेल्जियम ने इस आखिरी समय में एक के बाद एक तीन गोल दागकर भारत से जीत छीन ली. जिसका परिणाम ये हुआ कि भारतीय टीम का गोल्ड या सिल्वर जीतने का सपना टूट गया

प्रधानमंत्री मोदी ने भी देखा मैच
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत और बेल्जियम के बीच सेमीफाइनल मुकाबले को देखा. उन्होंने ट्वीट के जरिए ये जानकारी दी. कहा कि मैं भी ये मुकाबला देख रहा हूं. मुझे अपनी टीम पर गर्व है. खिलाड़ियों से अपना बेस्ट देने की बात कही.

41 साल बाद मेडल जीतने का मौका था
टीम इंडिया के पास 41 साल बाद मेडल जीतने का मौका था. भारत अगर ये मैच जीत जाता तो उसका मेडल पक्का हो जाता. इंडिया ने आखिरी बार 1980 के मॉस्को ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीता था. तब उसने फाइनल में स्पेन को 4-3 से हराया था. उस वक्त वासुदेवन भास्करन भारतीय टीम के कप्तान थे.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़