क्या टेस्ट क्रिकेट में 400 विकेट हासिल कर पाएंगे बुमराह, दिग्गज कैरेबियाई गेंदबाज ने दिया ये जवाब

वेस्टइंडीज के पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज कर्टली एंब्रोस ने बताया है कि जसप्रीत बुमराह टेस्ट क्रिकेट में 400 विकेट हासिल कर पाएंगे कि नहीं. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : May 9, 2021, 04:29 PM IST
क्या टेस्ट क्रिकेट में 400 विकेट हासिल कर पाएंगे बुमराह, दिग्गज कैरेबियाई गेंदबाज ने दिया ये जवाब

नई दिल्ली: वेस्टइंडीज के पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज कर्टली एम्ब्रोस ने कहा है कि भारत के तेज गेंदबाजी आक्रमण के अगुआ जसप्रीत बुमराह उन अन्य गेंदबाजों से काफी अलग हैं जिन्हें उन्होंने देखा है और अगर वह फिट रहते हैं तो टेस्ट क्रिकेट में 400 विकेट की उपलब्धि हासिल कर सकते हैं. वेस्टइंडीज की ओर से 98 टेस्ट में 20.99 की औसत से 405 विकेट चटकाने वाले एम्ब्रोस ने कहा कि मौजूदा भारतीय गेंदबाजों में वह बुमराह से सबसे अधिक प्रभावित हैं.

एम्ब्रोस ने यू-ट्यूब पर ‘कर्टली एंड करिश्मा शो’ पर कहा, ‘‘भारत के पास कुछ अच्छे तेज गेंदबाज हैं. मैं जसप्रीत बुमराह का बड़ा प्रशंसक हूं. मैंने जिन गेंदबाजों को देखा है वह उनसे काफी अलग है. वह इतना अधिक प्रभावी है और मुझे उम्मीद है कि वह काफी अच्छा प्रदर्शन करेगा.’’

यह पूछने पर कि क्या यह 27 वर्षीय तेज गेंदबाज 400 टेस्ट विकेट हासिल कर सकता है तो एम्ब्रोस ने कहा, ‘‘ यदि वह स्वस्थ और फिट रहता है और पर्याप्त समय तक खेलता है तो ऐसा कर सकता है. वह गेंद को सीम और स्विंग कर सकता है और शानदार यॉर्कर फेंकता है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘उसके पास काफी क्षमता है. इसलिए अगर वह लंबे समय तक खेल पाया तो मुझे यकीन है कि वह यह उपलब्धि हासिल कर सकता है.’’

वर्ष 2018 में टेस्ट पदार्पण करने वाले बुमराह ने सिर्फ 19 टेस्ट में 22.10 की प्रभावी औसत से 83 विकेट चटकाए हैं और भारतीय टीम का अहम हिस्सा हैं. हमवतन कर्टनी वॉल्श के साथ मिलकर टेस्ट इतिहास की सबसे खतरनाक तेज गेंदबाजी जोड़ियों में से एक बनाने वाले एम्ब्रोस का मानना है कि भारतीय तेज गेंदबाज अपने छोटे रन अप से अपने शरीर पर कुछ अधिक दबाव डालता है.

उन्होंने कहा, ‘‘तेज गेंदबाजी आम तौर पर लय से जुड़ी होती है. इसलिए गेंदबाजी करने से पहले आपको अच्छी लय की जरूरत होती है.’’ एम्ब्रोस ने कहा, ‘‘बुमराह का रन अप काफी छोटा है. वह रन अप में अधिकांश समय चलता है और गेंद फेंकने से पहले शायद एक या दो या तीन कदम में हल्की तेजी दिखाता है. इसका मतलब है कि वह अपने शरीर पर कुछ अधिक दबाव डाल रहा है लेकिन अगर वह मजबूत रह पाता है तो मुझे लगता है कि कोई समस्या नहीं है.’’

भारत को 18 जून से साउथम्पटन में न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल खेलना है और एम्ब्रोस का मानना है कि अच्छी सलामी जोड़ी विराट कोहली की टीम के लिए महत्वपूर्ण होगी. उन्होंने कहा, ‘‘यह बेहद महत्वपूर्ण है कि सलामी जोड़ी ठोस मंच तैयार करे क्योंकि अगर आपने एक या दो विकेट बेहद जल्दी गंवा दिए तो कप्तान कोहली काफी जल्दी निशाने पर होंगे और मध्यक्रम के अन्य खिलाड़ी भी.’’ एम्ब्रोस ने कहा, ‘‘अगर आपको सलामी बल्लेबाजों से ठोस मंच मिलता है तो फिर मुझे यकीन है कि मध्यक्रम के लिए काफी आसानी रहेगी और टीम अच्छा स्कोर खड़ा कर पाएगी.’’

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़